पाकिस्तानी फिल्म निर्देशक अजान सामी खान ने बोमन ईरानी को अपनी पाकिस्तानी फिल्म में अभिनय करने का ऑफर दिया था. पहले बोमन ईरानी इस फिल्म को करने के लिए सहमत हो गए थे. मगर अप्रैल माह में ‘बजरंगी भाईजान’ फिल्म के निर्देशक कबीर खान जब पाकिस्तान गए, तो इस फिल्म की वजह से नाराज पाकिस्तानियों ने कराची एअरपोर्ट पर कबीर खान के साथ बदसलूकी की. सूत्रों के अनुसार यह बात बोमन ईरानी को पसंद नहीं आयी थी.

पाकिस्तान में कबीर खान के साथ बदसलूकी किए जाने के दो दिन बाद ही खबर आयी कि बोमन ईरानी ने कबीर खान के प्रति सम्मान दिखाते हुए पाकिस्तानी फिल्म करने से इंकार कर दिया है. यह खबर उस वक्त लगभग हर समाचार चैनल पर प्रसारित हुई. हर पत्र पत्रिका में छपी.

उस वक्त बोमन ईरानी की तरफ से इस खबर का खण्डन नहीं आया. मगर पूरे दो माह के अंतराल के बाद अब बोमन ईरानी मीडिया को कोस रहे हैं.

मुंबई में ‘‘ब्लेंडर्स प्राइड रिजर्व कलेक्शन’’ के समारोह में जब बोमन ईरानी ने बोलना शुरू किया, तो मीडिया को कोसते हुए कहा ‘‘यह पूरी तरह से गलत खबर छापी गयी थी. आप मीडिया वाले कुछ भी कहानी बनाते रहते हो. आप लोगों ने लिखा कि मैंने फिल्म छोड़ दी, जबकि मैंने यह फिल्म कभी नहीं छोड़ी. मेरे पास समय का अभाव था, इस कारण मैं फिल्म नहीं कर पाया.’’

अब बोमन ईरानी की बात समझ से परे है. पाकिस्तानी फिल्म करने या छोड़ने का मसला उनकी तरफ से महज पब्लिसिटी स्टंट तो नहीं था. अन्यथा गलत खबर छपने पर दो माह बाद उनकी तरफ से इस तरह की प्रतिक्रिया क्यों आयी? जबकि वह मई माह में फिल्म ‘‘हाउसफुल 3’’के समय पत्रकारों से बात कर चुके हैं. कहीं उन्हें किसी दबाव के तहत अपना बयान तो नही बदलना पड़ा? क्योंकि बॉलीवुड में सभी को पता है कि बोमन ईरानी के पास फिलहाल कोई नई फिल्म नहीं है.

बोमन अपनी एक फिल्म ‘‘द लीजेंड आफ मिचेल मिश्रा’’ की शूटिंग 2015 में ही खत्म कर चुके हैं. यह फिल्म 2015 से ही प्रदर्शन की राह देख रही है.