त्योहार चाहे कोई भी हो, पारंपरिकता की छाप आज भी उन पर दिखाई देती है. चमकदमक और सलमेसितारों से जड़े परिधान व जरीबौर्डर वाली साडि़यां भी त्योहारों की शान बनती हैं. त्योहार के अवसर पर कढ़ाईदार, कुंदन, सिक्वेंस, बीड्स, सैमी प्रेशियस स्टोंस, नवरत्न स्टोंस जडि़त परिधान पसंद किए जाते हैं. आप चाहे साड़ी पहनें, लहंगाचोली या फिर सलवारसूट, उस पर किया गया सिल्वर थ्रेड, मैटालिक गोल्ड का काम या ऐंटीक जरी व जरदोजी वर्क आप की सुंदरता में चारचांद लगा देगा. बौर्डर, स्लीव्स, नैक या घेरे पर बना पैटर्न त्योहार के दिन आप को खास बना देगा. इन दिनों कौकटेल साडि़यों का चलन भी बढ़ा है. इन साडि़यों में प्लेट्स होने के बजाय अलगअलग रंगों की कलियां होती हैं. जब आप किसी के घर जाएं तो भारी साड़ी पहनने के बजाय कौकटेल साड़ी पहनें. ये साडि़यां बहुत ही ट्रेंडी लुक देती हैं.

नए कट में सलवार

इन दिनों बाजार में आप को सलवारें भी नए स्टाइल व डिजाइन की मिलेंगी. मल्टी कलर्ड, ब्रोकेड पैटर्न वाली सलवार परिधान की सुंदरता बढ़ा देती है. स्किन टाइट फिट चूड़ीदार के साथ रिंकल्ड दुपट्टा और घाघरा कुरता बहुत ही ऐथनिक लुक देता है. सिक्वेंस व जरी वर्क की कुरती फैस्टिवल लुक के लिए एकदम सटीक है. बस, इस के साथ जरी की कढ़ाईदार जूती पहनें. सलवारसूट के साथ उस के दुपट्टे को आप नए अंदाज में साड़ी के पल्लू की तरह ले सकती हैं. आजकल त्योहारों पर स्कर्ट पहनने का फैशन भी बढ़ गया है. लंबी स्कर्ट के साथ आप टीशर्ट पहन सकती हैं. शौर्ट लैंथ के टौप व दुपट्टे के साथ जिप्सी स्टाइल की जरी वर्क की लंबी स्कर्ट में आप फ्रैश लुक अपना सकती हैं.

पारंपरिक परिधान

फैशन डिजाइनर विधि सिंहानिया के अनुसार, ‘‘त्योहारों के दौरान पारंपरिक परिधान सब से अच्छे लगते हैं क्योंकि इस समय सब से अलग व खूबसूरत दिखने की चाह मन में होती है. ये परिधान कुछ भी हो सकते हैं, साड़ी, लहंगा, घाघरा, स्कर्ट आदि. कपड़ों में आप जार्जेट, सिल्क, ब्रोकेड का कोई भी परिधान पहन सकती हैं और उस में अगर गोल्ड व सिल्वर का काम किया गया हो तो वह बेहद खूबसूरत लगेगा. त्योहारों पर कढ़ाईदार ब्लाउज पहनने का चलन इन दिनों बहुत बढ़ गया है, जो सुंदरता को बढ़ाते हैं. रंगों में पारंपरिक औरेंज, टरक्वाइज, पीकौक, गोल्डन आदि का चलन जोरों पर है. अगर आप ऐंब्रौइडरी वाले परिधान पहनती हैं तो वे देखने में तो हैवी लुक देते हैं पर वजन के हिसाब से हलके होते हैं. इस वजह से उन्हें पहनना ज्यादा सुविधाजनक रहता है. लौंग अंपायर लाइन कट या कलीदार परिधान त्योहारों पर पहने जा सकते हैं.’’

फ्यूजन लुक

त्योहारों पर पारंपरिक व पश्चिमी यानी  फ्यूजन लुक के परिधान भी पहने जा सकते हैं. इस तरह मिक्स ऐंड मैच करने से विकल्प बहुत बढ़ जाते हैं. फंकी घाघराचोली पहन सकती हैं, जिस के साथ मोजड़ी व क्रिस्टल की चूडि़यां पहनी जा सकती हैं. मिरर वर्क के परिधान भी अपनेआप में स्टाइलिश होते हैं. एक बार इन्हें पहन कर देखिए, फिर तो हर जगह आप ही आप चमकती नजर आएंगी. साथ ही आप कढ़ाईदार बैग्स, बैल्ट व जूतियां पहन सकती हैं.

त्योहारों पर ब्राइट कलर्स के परिधान बहुत अच्छे लगते हैं. डिजाइनर्स भी हरा, गुलाबी, नीला, बैगनी, लाल और मैरून रंगों के कपड़े पहनने की सलाह देते हैं. इस के अतिरिक्त एमरल्ड ग्रीन, गोल्डन पीला, गुलाबी, भूरा, आइवरी व ब्लैक कलर भी त्योहारों के मौके पर अच्छे लगते हैं.

अगर कुछ हट कर दिखना चाहती हैं तो मिक्स ऐंड मैच कर के आप खुद का एक स्टाइल बना सकती हैं. फैशन डिजाइनर वारिजा बजाज के अनुसार, ‘‘इस बार त्योहारों के अवसर पर गहरे व चमकदार रंगों के ऐसे परिधानों का चलन रहेगा जो पारंपरिक होने के साथसाथ पश्चिमी स्टाइल्स के भी होंगे, यानी फ्यूजन लुक का ट्रैंड रहेगा.

‘‘आप स्कर्ट व जींस के साथ चोली पहन सकती हैं. घाघरा स्कर्ट के साथ स्पैगिटी पहनेंगी तो आप का लुक निखर जाएगा. चूंकि त्योहारों पर मौजमस्ती का वातावरण होता है और हर कोई उल्लास में डूबा होता है, इसलिए परिधानों से भी ऐसा ही लुक झलकना चाहिए.

’’इन दिनों ऐथनिक फैशन का ट्रैंड है. साड़ी और लहंगे जैसे पारंपरिक परिधानों का फैशन कभी खत्म नहीं होता, लेकिन विभिन्न अवसरों जैसे अपने परिचितों से मिलने जाते समय या दीपमाला के दौरान आप मिक्स ऐंड मैच कर अपने नए लुक से सब की तारीफ पा सकती हैं. फैमिली डिनर के दौरान आप ट्यूनिक भी आजमा सकती हैं. गोल्डन फाएल के प्रिंटेड पेटीकोट के साथ नैट की साडि़यों का फैशन है. डबल फैब्रिक जैसे बनारसी जार्जेट व नैट से बनी जरी वर्क की साडि़यां त्योहारों जैसे खास मौके पर पहनी जा सकती हैं.

 ’’इन दिनों दबका, सिक्वेंस, आरी व जरदोजी वर्क के सूट, लहंगे व साडि़यों का चलन है. बिना दुपट्टे के रा सिल्क के ट्यूनिक सूट लैगिंग के साथ पहनने पर बहुत स्टाइलिश लगते हैं. उस के साथ मुगल मोटिफ प्रिंट्स की जैकेट पहनी जा सकती है. इस तरह आप खुद को एक फ्यूजन लुक दे सकती हैं.’’

फैब्रिक में आप मौसम व उम्र के अनुसार सिल्क, जार्जेट, शिफौन, क्रेप और नैट का चयन कर सकती हैं. फैशन डिजाइनर मिनी सिंह के अनुसार, ‘‘त्योहारों की मौजमस्ती के अनुसार आप को ऐसे परिधान पहनने चाहिए जो सुविधाजनक होने के साथसाथ स्टाइलिश भी हों. इस बार त्योहारों में फ्यूजन लुक का चलन ज्यादा देखने को मिलेगा यानी वैस्टर्न कट व भारतीय ऐथनिक वर्क का संयोजन. स्टोन और क्रिस्टल वर्क की ऐंब्रौइडरी के साथ स्ट्रेट ट्यूनिक का इन दिनों बहुत ज्यादा चलन है. ये लाएक्रा में पसंद की जा रही हैं और पारंपरिक परिधान वैलवेट व बनारसी में. इस बार आप त्योहारों में इलैक्ट्रिक ब्लू व ग्रीन कलर ट्राई कर सकती हैं.’’

हालांकि त्योहारों पर बनारसी, कांजीवरम, पटोला या चंदेरी साडि़यां भी बहुत पहनी जाती हैं. आजकल डिजाइनर साडि़यों का चलन भी बहुत है. ब्लाउज के डिजाइन व स्टाइल में भी समय के साथ बहुत बदलाव आया है. हैवी ऐंब्रौइडरी व स्टोन वर्क इन दिनों ज्यादा प्रचलित है. अगर साड़ी आप हैवी नहीं पहन रही हैं तो भारी कढ़ाईदार जार्जेट व शिफौन के ब्लाउज उन पर बहुत जंचते हैं. स्पैगिटी स्टेप या हौल्टर नैक के ब्लाउज व चोली त्योहारों में खास पसंद किए जाते हैं.