गृहशोभा विशेष

कैशलेस होते जा रहे समाज में अब डेबिट कार्ड की अहमियत बढ़ती जा रही है. डेबिट कार्ड का इस्तेमाल सिर्फ एक 4 नंबर के पिन के जरिए किया जाता है. हालांकि कभी कभार पिन भूल जाने की स्थिति में इसे दोबारा जेनरेट करने की जरूरत होती है. आपको जानकर हैरानी होगी कि स्टेट बैंक औफ इंडिया, आइईसीआइसीआइ बैंक और एचडीएफसी बैंक डेबिट कार्ड पर 200 रुपये से लेकर 300 रुपये का शुल्क लेते हैं. साथ ही इसमें वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) भी अलग से लिया जाता है. ये वही चार्जेस हैं जो आपको अपना डेबिट कार्ड बदलवाने पर देने होते हैं. जानिए डेबिट कार्ड पर बैंक वसूलते हैं कौन कौन से चार्ज.

डेबिट कार्ड के लिए किन चार्जेस का करना होता है भुगतान?

डेबिट कार्ड बदलवाने या फिर से जारी करवाने के लिए शुल्क:

  • एसबीआई की कौरपोरेट वेबसाइट के अनुसार डेबिट कार्ड बदलवाने के लिए 300 रुपये की फीस वसूली जाती है.
  • आइसीआइसीआइ बैंक की वेबसाइट के अनुसार 200 रुपये की फीस ली जाती है.
  • वहीं, एचडीएफसी बैंक का कार्ड बदलवाने के लिए 200 रुपये का शुल्क देना होता है.

finance

डेबिट कार्ड का सालाना मेंटनेंस चार्ज

  • एसबीआई क्लासिक डेबिट कार्ड के सालाना मेंटनेंस के लिए 125 रुपये का चार्ज लेता है.
  • आइसीआइसीआइ बैंक डेबिट कार्ड के सालाना मेंटनेंस के रूप में कोई चार्ज नहीं लेता है. बैंक केवल कोरल कार्ड के लिए यह शुल्क लेता है. कोरल कार्ड के लिए 499 रुपये की ज्वाइनिंग फीस है और सालाना मेंटनेंस के लिए भी इस राशि का भुगतान करना होता है.
  • वहीं, एचडीएफसी बैंक प्लेटिनम कार्ड के लिए 750 रुपये सालाना रिन्युबल फीस चार्ज करता है.

डेबिट कार्ड पिन फिर से जनरेट कराने के लिए क्या है चार्ज?

  • एसबीआई डेबिट कार्ड पिन जनरेशन के लिए 50 रुपये और जीएसटी चार्ज करता है.
  • आइसीआइसीआइ बैंक डेबिट कार्ड पिन फिर से जनरेट करने के लिए 25 रुपये की फीस लेता है. यह चार्ज ब्रांच से इंस्टापिन या कस्टमर केयर (आइवीआर) के जरिए आवेदन करने पर नहीं लिया जाता.
  • वहीं, एचडीएफसी बैंक एटीएम पिन जनरेट करने के लिए 50 रुपये की फीस लेता है. हालांकि, इंस्टेंट पिन जेनरेट करने पर कोई चार्ज नहीं है, जहां पर ग्राहक नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के लिए पिन सेट करता है.