गृहशोभा विशेष

मकर संक्रांति, साल का पहला त्यौहार. तिल की खुशबू और पतंगबाजी. जो लोग खिचड़ी के नाम पर नाक-मुंह सिकोड़ते हैं, वो भी मकर संक्रांति पर बनने वाली खास खिचड़ी को जरूर खाते हैं. तो आज रात के खाने में खिचड़ी हो जाए?

सामग्री

– 1 कटोरी चावल

– आधा कटोरी मूंग और अरहर की दाल

– 2 आलू, कटे हुए

– 1 शिमला मिर्च, कटी हुई

– ½ कटोरी मटर

– 3 हरी मिर्च, बारीक कटी हुई

– 1 इंच अदरक, किसा हुआ

– 2 चम्मच देशी घी

– 2 चुटकी हींग

– ½ टी स्पून जीरा

– 5-7 काली मिर्च, कुटी हुई

– 4-5 लौंग, कुटी हुई

– ¼ टी स्पून हल्दी

गृहशोभा विशेष

– हरी धनिया पत्ती, कटी हुई

– नमक स्वादानुसार

विधि

– दाल और चावल को अच्छे से धो लें.

– सब्जियों को धो कर काट लें.

– अब कूकर में चावल और दाल की जितनी मात्रा है, उससे 5 गुना ज्यादा पानी डालें. सारी सब्जियों को कूकर में डालें. नमक हल्दी डालें और मीडियम आंच पर 1 सिटी लगायें.

– एक पैन में घी गरम करें. उसमें जीरा डालें, हलका सा भूनें.

– अदरक, काली मिर्च, लौंग, हरी मिर्च डालकर भूनें.

– अब इससे खिचड़ी में छौंक लगायें.

– खिचड़ी को घी, दही, अचार, पापड़ के साथ परोसें.