अपने दिन की शुरुआत सुबह समय पर उठ कर सकारात्मक विचारों के साथ करें. ऐसे विचार शरीर में ऊर्जा भरने का काम करते हैं. सुबह की सैर स्वास्थ्यवर्धक होती है, इसलिए मौर्निंगवाक अवश्य करें. आज की भागदौड़ की जिंदगी में इस से काफी रिलैक्स मिलता है.

दिन का पहला घंटा ही अक्सर यह तय कर देता है कि हमारे बाकी 23 घंटे कैसे बीतेंगे. बहुत सी घटनाएं और स्थितियां अक्सर हमारे नियंत्रण से बाहर होती हैं. हम उठते ही सुबह सब से पहले क्या करते हैं, इस का प्रभाव हमारी सोच और दृष्टिकोण पर अवश्य पड़ता है. यदि हम आत्मविश्वास की ओर ध्यान देना चाहते हैं तो काफी बातों का ज्ञान रखना जरूरी है. अपनी सुबह को नियंत्रित कर पूरा दिन हम नियंत्रित कर सकते हैं. सुबह का ऐसा रूटीन रखें जो आप को शारीरिक व मानसिक रूप से ताजगी पहुंचाने वाला हो.

समय पर जागें

दिन की अच्छी शुरुआत के लिए सब से पहले समय पर उठें. देर से उठने से आप को भागदौड़ करनी पड़ सकती है, जिस से चिंता और बेचैनी बढ़ेगी और आप तनाव में आ जाएंगे.

अलार्म लगाएं

सुबह समय पर उठने के लिए अलार्म लगाएं. यह सुनिश्चित कर लें कि कैसे समय पर उठा जाए कि जिस से आप अपने दिन की शुरुआत शांति से कर सकें.

पर्याप्त नींद लें

वैसे तो हमें अलार्म की जरूरत नहीं पड़नी चाहिए. हम प्राकृतिक रूप से ऐसी नींद लें जिस से जब हमारा शरीर और दिमाग पर्याप्त नींद ले लें, तो हम प्राकृतिक रूप से जाग जाएं. पर यह आजकल संभव नहीं हो पा रहा है, हमें एक निश्चित समय पर सो जाना चाहिए. अगर सोने में परेशानी हो रही है तो आप को अपनी कंप्यूटर संबंधी आदतों को बदलने की जरूरत है. खराब पोस्चर मांसपेशियों को तनाव देता है. वैब ब्राउजिंग, वीडियो गेम्स, कैफीन आप के दिमाग को ज्यादा देर तक ऐक्टिव रख सकते हैं. सब से महत्त्वपूर्ण बात, इलैक्ट्रौनिक साधनों जैसे कंप्यूटर, मौनीटर्स व टैलीविजन स्क्रीन से आप के दिमाग को दिन होने का भ्रम हो सकता है.

स्ट्रैचिंग करें, फिट रहें

दिमाग को खुश व शांत रखने के लिए आप को अपना शरीर स्वस्थ रखना होता है. ये दोनों साथसाथ चलते हैं. दिनभर कंप्यूटर के सामने बैठने से आप का पोस्चर खराब होता है, आप की आंखों को थकान महसूस होती है, शरीर का लचीलापन कम होता है, जो आप को नुकसान पहुंचाता है. थोड़ी सी स्ट्रैचिंग और तेज कदमों से की गई सैर आप के मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है. सुबह सैर के लिए समय जरूर निकालें. इस के फायदे पूरे दिन देखने को मिलेंगे.

सकारात्मक सोचें

सकारात्मक सोचने की आदत डालें. जीवन में जब भी उतारचढ़ाव आएंगे, सकारात्मक दृष्टिकोण हमेशा आप की मदद करेगा.

रिलैक्स रहें, आनंद लें

सुबह उठते ही सब से पहले आप अपना फोन तो नहीं उठाते या उठते ही कंप्यूटर पर तो नहीं बैठ जाते? कुछ पल जागने के बाद सुबह का आनंद लें, सूर्योदय देखें, कौफी पिएं. यह आप पर निर्भर है कि आप कितनी देर में रिलैक्स होते हैं.

समय निर्धारित करें

आप मोबाइल पर अपने ईमेल, मैसेज देखने के लिए बेचैन रहते हैं. थोड़ी देर यह सब चैक करने के लिए बैठ जाएं पर एक बात का ध्यान रखें कि इस के लिए एक समयसीमा जरूर निर्धारित करें. 

अच्छी आदतें डालने के लिए अनुशासन की जरूरत होती है. जो आसान नहीं होता. सुबह समय पर उठने का रूटीन बनाना आसान नहीं है, पर कोशिश अवश्य करें. अच्छी आदतों से आप को लाभ ही होगा. ये अच्छी आदतें तन और मन दोनों को दिनभर स्वस्थ व खुश रखेंगी, दिन की शुरुआत अच्छी करने से पूरा दिन अच्छा बीतने की संभावना हो तो देरी किस बात की.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं