गृहशोभा विशेष

सर्दियों का मौसम और सर्द हवाएं अपने साथ कई तरह की बिमारियां साथ लेकर आता हैं, इस मौसम में कई तरह की परेशानियां सामने आती है जिससे बच पाना काफी मुश्किल होता है. इसलिए आज हम आपके लिए प्रकृति का ऐसा उपहार लेकर आए हैं, जो आपकी इन समस्याओं से लड़ने में मदद करेगा.

गाजर

गाजर में बीटा कैरोटीन होता है, जिसे शरीर विटामिन-ए में तब्दील कर देता है. विटामिन-ए प्रतिरोधक प्रणाली के लिए, संक्रमण से बचाने के लिए और फेफड़ों को स्वस्थ रखकर सांस की बिमारियों के खतरे को कम करने में मददगार होती है.

लहसुन

लहसुन खाने के स्वाद को बढ़ाने के साथ ही कई गुणों से भरपूर है. इसमें कैलोरी काफी कम होती हैं साथ ही यह फाइटोन्यूट्रिएंट एनिथोल से भरपूर होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार है. सर्दियों में ही नहीं बल्कि किसी भी मौसम में ये आपकी सुरक्षा कवच के रूप में काम करता है.

हल्दी

एंटी-बैक्टिरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल के तौर पर यह शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मददगार है. रोजाना अगर हल्‍दी को गर्म दूध में डालकर लिया जाए, तो ये और भी ज्‍यादा फायदेमंद साबित होती है. सर्दियों के मौसम में इसका इस्तेमाल आपको कई बिमारियों से बचाता है.

चुकंदर

चुकंदर में लाभवर्धक फाइटोकेमिकल्स और एंटीआक्सिडेंट्स प्रचुर मात्रा में होते हैं, जो स्वस्थ कोशिकाओं और उनके डीएनए को नुकसान पहुंचाने वाले मुक्त कणों से लड़ने में मदद करते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली को भी सुदृढ़ बनाते हैं. रोजाना अपने खाने में चुकंदर शामिल करें. ये आपको सर्दियों मे होने वाली बिमारियों से बचाता है.

अश्वगंधा की जड़

अश्वगंधा की जड़ पारंपरिक भारतीय चिकित्सा पद्धति में कारगार आयुर्वेदिक दवा के रूप में प्रयोग की जाती है. इसे एक ‘एडप्टोजन’ माना जाता है. मतलब यह कि एक ऐसी जड़ीबूटी है, जो शारीरिक ऊर्जा सुधारने में, खिलाड़ियों की क्षमता बढ़ाने में, रोग प्रतिरोधक क्षमता सुधारने और प्रजनन क्षमता बढ़ाने में काफी कारगर मानी जाती है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं