गृहशोभा विशेष

बौलीवुड अदाकारा सोनाली बेंद्रे हाई ग्रेड कैंसर से पीड़ित हैं. सोनाली कुछ समय पहले से सेहत को लेकर तकलीफें महसूस कर रही थीं, उसके बाद उन्होंने कुछ टेस्ट कराए और हाई ग्रेड कैंसर की शिकायत के बारे में पता चला. इस बीमारी से लड़ने के लिए वो सभी जरूरी कोशिश कर रही हैं और डाक्टरों की सलाह ले रही हैं. फिलहाल वह ट्रीटमेंट के लिए न्यूयार्क गई हुईं हैं. आइए जानते हैं क्या है हाई ग्रेड कैंसर.

हाई ग्रेड कैंसर क्या है?

हाई ग्रेड कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें चार स्टेज होता है. इस बीमारी में चौथी स्टेज को बेहद खतरनाक माना जाता है. ट्यूमर से जुड़ी विस्तृत जानकारी देने वाले समूह वेबएमडी के मुताबिक, हाई ग्रेड कैंसर में कोशिकाएं सामान्य कोशिकाओं से अलग दिखाई देती हैं. यह एक ऐसी बीमारी है जिसका असर तेजी से बढ़ता है. लो ग्रेड कैंसर की तुलना में हाई ग्रेड कैंसर का उपचार अलग-अलग तरीकों से किया जाता है. जबकि लो ग्रेड कैंसर में, कैंसर कोशिकाएं सामान्य ऊतक की तरह दिखती हैं.

हाई ग्रेड कैंसर की स्टेज

  • 0 स्टेज: इस स्थिति में कोशिकाएं सामान्य स्थिति में नजर आती है, जिसका मतलब है कैंसर नहीं है.
  • पहली स्टेज: पहली स्टेज में कैंसर छोटा और एक जगह होता है. इस स्टेज को कैंसर की शुरुआती स्टेज भी कहा जाता है.
  • दूसरी और तीसरी स्टेज: इस स्थिति में कैंसर बड़ा होने लगता है, जो ऊतकों या लिम्फ नोड्स में फैलने लगता है.
  • चौथी स्टेज: यह कैंसर की सबसे खतरनाक स्टेज होती है. इस स्टेज में कैंसर शरीर के बाकी अंगों में फैल जाता है. इसे एडवांस या मेटास्टैटिक कैंसर भी कहा जाता है.

अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के मुताबिक, स्टेजिंग यह पता लगाने की प्रक्रिया है कि किसी व्यक्ति के शरीर में कैंसर कितना फैल रहा है और कहां-कहां फैल रहा है. इस तरह डाक्टर एक व्यक्ति के कैंसर के चरण को निर्धारित करता है.

GS-660

CLICK HERE                   CLICK HERE                     CLICK HERE

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं