मौसम के बदलने के साथ ही लोग सफाई का काम भी शुरू कर देते हैं. अब वक्त है स्प्रिंग क्लीनिंग का. इसे करते हुए हमें कुछ आइटम अपने घर से बाहर कर देने चाहिए.

सिंगल इयरिंग्स

अगर आपके इयरिंग अब पेयर में नहीं हैं तो एक इयरिंग का उपयोग बुलेटिन बोर्ड पिन की तरह कर सकते हैं. इन्हें ब्रोच या मैगनेट में भी बदला जा सकता है. अगर वाकई हटाने के बारे में सोच रहे हैं तो किसी ऐन्टिक शॉप पर इन्हें दे दें.

काम न आने वाली रसीद

ऐसी रसीद फाड़कर फेंक दें जो आपके काम अब नहीं आ रही है और जिनमें आपका पेन कार्ड नंबर या क्रेडिट कार्ड नंबर है.

खराब सीडी

स्क्रैच अगर कम है तो एक माइल्ड एब्रेसिव जैसे टूथपेस्ट, इस पर रब करें. ऐसा डिस्क के नॉन-लेबल साइड पर करें और सरक्युलर मोशन में करें. लेकिन अगर फिर भी इन्हें हटाने का मन बना लिया है तो इन्हें डोनेट कर दें या बेच दें.

क्रेयॉन्स

क्रेयॉन्स के साथ तो आप बहुत कुछ कर सकते हैं. इन्हें पिघला कर नए क्रेयॉन्स भी बना सकते हैं.

पुराने सेल फोन्स

पुराने सेल फोन्स को आप दोबारा किसी मार्केट में सेल कर सकते हैं. किसी चैरिटी में दिए जा सकते हैं या बेहद कम कीमत पर किसी जरूरतमंद को भी दे सकते हैं.

ग्रीटिंग कार्ड्स

ग्रीटिंग कार्ड्स को आप ऐसे ही डस्टबिन में नहीं फेंके इन्हें दोबारा नए तरह से क्रिएट करें. इन्हें नया जीवन देने के लिए इनके डेकोरेटिव एलिमेंट्स काटकर रख लें. इनके खूबसूरत कोलाज भी बनाए जा सकते हैं. होम-मेड कार्ड्स बनाएं या स्क्रैप बुक डेकोरेशन करें.

एक्सपायर मेकअप

बहुत से लोगों को यह नहीं पता है कि आय-मेकअप हर दो-चार महीनों में बदल देना चाहिए. वहीं मस्कारा, फेस मेकअप और लिपस्टिक बदलने के लिए एक साल रुका जा सकता है. अपने मेकअप के कंटेनर्स को रीसाइकल भी कर सकते हैं. मैक जैसी कंपनियां कंटेनर रीसाइकल करने के लिए कुछ मेल-इन प्रोग्राम भी चला रही हैं.

वायर हैंगर्स

आप चाहें तो अपने वायर हैंगर्स किसी ड्रायक्लीनर को डोनेट कर दें. ये थोड़े मुड़े हुए हों तो भी कर दें.

पुराने कपड़े

अगर पुराने कपड़ों को आप डोनेट नहीं कर सकते या किसी को दे नहीं सकते तो कॉटन क्लोदिंग को काटकर क्लीनिंग रैग्स बनाकर घर की साफ सफाई में लगाया जा सकता है. कुछ मार्केट्स में टेक्सटाइल रीसाइकल बिन्स भी होते हैं. यहां पर पुराने कपड़ों को फाइबर और अन्य प्रोडक्ट में बदल दिया जाता है.

छूरियां

छूरियां ट्रिकी होती हैं. यूं तो ये सालों साल भी चल सकती हैं लेकिन अगर हैंडल ही टूट जाए तो बात अलग हो जाती है. पुराने छूरे को डस्टबिन में कचरे के साथ नहीं फेंकें. इन्हें बेहतर तरीके से डिस्पोज करें. ब्लेड को हेवी पेपर या टेप कार्डबोर्ड से लपेट लें. अब इन्हें एक सील किए हुए कंटेनर में रखें. अगर इन्हें दोबारा यूज करने की थोड़ी भी गुंजाईश है तो किसी दुकान पर डोनेट कर दें. नहीं तो किसी रीसाइक्लिंग सेंटर पर इन्हें दे दें.

पुराने कैलेंडर

पुराने कैलेंडर को आप घर पर ही रैपिंग पेपर की तरह यूज कर सकते हैं. इसके अलावा आप चाहें तो इन्हें किसी दुकान पर भी डोनेट कर सकते हैं. वहां भी इनका अच्छा उपयोग किया जाता है. आप चाहें तो घर पर इनसे प्यारे-प्यारे लिफाफे भी बना सकते हैं. या फिर इन्हें किसी रीसाइक्लिंग बिन में डाल दें.

हेयर ब्रश

किसी डॉल से खेलने वाली बच्ची को जानते हैं तो अपने पुराने कंघे साफ करके बच्ची को अपनी डॉल के लिए दे दें. या फिर उन्हें दें जो हर दिन नई हेयरस्टाइल ट्राय करने की फिराक में नए एक्सेसरीज की तलाश में रहते हैं. अगर आपके कंघे के ब्रिसल नरम हैं तो अपने पेट डॉग या कैट के लिए भी इसे रख सकते हैं.

जूते

जब आपको लगे कि अब शूज बदलने का वक्त आ गया है तो इन्हें किसी मोची की दुकान पर ले जाकर डोनेट कर दें. मोची इनका बेहतरीन उपयोग कर लेगा. कुछ ऐसी संस्थाएं भी हैं जो इस तरह के जूते लेकर इन्हें उन लोगों में बांट देती हैं जिनके पास पैर में पहनने के लिए कुछ नहीं होता. इनका पता करें.

किताबें डोनेट

आप चाहें तो किसी लोकल स्कूल, अस्पताल या लाइब्रेरी में अपनी पढ़ी हुई किताबें डोनेट कर दें. अगर ऐसी किताबें ज्यादा हैं तो आप एक बुक सेल भी लगा सकते हैं. खासकर बच्चों की किताबें इस तरह से बिक जाती हैं. ‘एमेजॉन’ जैसी वेबसाईट अच्छी हालत वाली किताबों को रीसेल भी करती है.

काउच की रीफिनिश

काउच को दोबारा अपहोल्स्टर करवाएं और रीफिनिश करवाएं. अगर ऐसा नहीं करना चाहते हैं तो नेट पर सेलिंग साइट्स पर इनकी पिक्चर डालकर रखें. अगर आपके सोफे की हालत ज्यादा खराब है तो इन्हें म्युनिसिपल वेस्ट सर्विस पर डंप कर दें. यहां फर्नीचर हॉल भी होते हैं.

पर्दों की रिपेयरिंग

पर्दे तो आसानी से रिपेयर किये जा सकते हैं. लेकिन अगर आपको लगता है कि अब ये ज्यादा पुराने हो गए हैं तो इन्हें धोकर, डाय करके और नाप कर टेबल क्लॉथ या रनर में बदला जा सकता है. अगर आप ऐसा नहीं करना चाहते हैं तो इनके पिलो-कवर बना लें या अन्य कोई अपहोल्स्ट्री आइटम की तरह यूज कर लें.

फटे और कटे टॉवल

फटे और कटे हुए टॉवल बहुत अच्छे फ्लोर क्लीनिंग रैग्स बन सकते हैं. इन्हें लीकेज के वक्त भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

पुरानी घड़ियां

पुरानी घड़ियों को ज्वेलरी की तरह भी यूज किया जा सकता है. आप चाहें तो इन्हें किसी एन्टीक शॉप पर दे दें. इसके अलावा इसी रिपेयर शॉप पर ले जाकर इन्हें रिपेयर करवाने की कोशिश करें. अगर नहीं होती है तो वे लोग इसे रख लेंगे और इसके पार्ट्स रीयूज कर लेंगे.