जब भी कोई हिल स्टेशन पर घूमने की प्लानिंग करता है, तो सबसे पहले दिमाग में मनाली, मसूरी, शिमला, नैनीताल जैसी जगह आती हैं. इन सभी हिल स्टेशनो को टौप लिस्ट में शामिल किया जाता है, लेकिन हम में से ज्यादातर लोग ऐसे होंगे जो इन जगहों पर घूम चुकी होंगी. आज हम आपको बताने जा रहे हैं गर्मियों में घूमने के लिए ऐसी औफबीट डेस्टिनेशन, जहां आपको न सिर्फ भीड़ कम मिलेगी बल्कि यहां बहुत कुछ खास मिलेगा.

एडवेंचर पसंद करने वाले पर्यटकों के लिए भी कोटागिरी में करने को काफी कुछ है. यहां बेहतरीन ट्रेकिंग रूट्स हैं और आप चाहें तो रौक क्लाइम्बिंग भी कर सकती हैं. कोटागिरी जाएं तो कैथरीन फौल्स, एल्क फौल्स, कोटागिरी व्यू पौइंट और लौन्गवुड शोला ऐसी जगहों पर जाना न भूलें. कोडानाड व्यू पौइंट यहां ऊंचाई पर पहुंचकर आपको आसपास मौजूद सभी चीजों का बेहतरीन नजारा दिखेगा. यहां आपको दिखेगा एशिया का सबसे बड़ा मिट्टी से बना बांध, टीपू सुल्तान का किला और पूर्वी और पश्चिमी घाट का मीटिंग पौइंट.

travel in hindi

कैथरीन फौल्स

250 फीट ऊंचे इस वौटरफौल को पहाड़ी के विपरित तरफ से देखने पर साफ नजारा दिखेगा. इस झरने को नजदीक से देखना चाहते हैं, तो व्यूइंग पैवेलियन के पास जाकर देखें. बारिश के मौसम में यहां जाएं जब झरना अपने पूरे आवेग में होता है.

रंगास्वामी पीक

अगर आप कोटागिरी के स्थानीय लोगों से पूछें कि यहां का बेहतरीन हाइकिंग ट्रेल कौन सा है तो निश्चित रूप से आपको जवाब मिलेगा रंगास्वामी पीक. अगर आप ट्रेकिंग के आसान रास्तों पर चलना चाहते हैं तो यहां कई और औप्शन्स मौजूद हैं.

कैसे पहुंचे

नजदीकी एयरपोर्ट कोयम्बटूर है. कोयम्बटूर से कोटागिरी की दूरी 47 किलोमीटर जिसे आप टैक्सी के जरिए तय कर सकती हैं. अगर आप ट्रेन से यहां जाना चाहते हैं, तो नजदीकी रेलवे स्टेशन कुन्नूर (21 किलोमीटर), ऊटी (29 किलोमीटर) है.

Tags: