गृहशोभा विशेष

घूमने-फिरने के शौकीन लोग हमेशा कुछ नया तलाशते रहते हैं. उन्हें घूमने के अलावा ऐसी चीजें देखने का शौक होता है, जिसमें रोमांच हो. कई बार ये चीजें लोगों की पहुंच से दूर होती है लेकिन फिर भी उन्हें ऐसी नई जानकारी लेना बहुत अच्छा लगता है. आज हम आपको ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं. जहां समुद्र के अंदर लोग आराम फरमाने से लेकर मौज-मस्ती से अपनी छुट्टियां बिताते हैं.

ये है खासियत

मालदीव में आप इस होटल में रहने का मजा ले सकती हैं. यह होटल कौनरेड मालदीव्स रंगाली आइलैंड नाम से मशहूर है. इसमें बेडरूम पानी के नीचे होगा. ये पानी से 16.4 फीट नीचे बनाया गया है. इसका स्ट्रक्चर स्टील, कंक्रीट और एक्रिलिक का होगा. इसके दो फ्लोर होंगे एक पानी के ऊपर और एक पानी के नीचे.

इस सुइट में एक साथ कुल 9 लोग रह सकते हैं. यहां लोगों को एक प्राइवेट सीप्लेन से ले जाया जाएगा. इसके बाद उन्हें स्पीडबोट के जरिए विला ले जाया जाएगा. यहां मेहमानों को पूरे वक्त के लिए 4 बटलर, एक शेफ, एक जेट स्की सेट और एक फिटनेस ट्रेनर दिए जाएंगे.

साथ ही मेहमानों को हर रोज 90 मिनट के लिए स्पा ट्रीटमेंट दिया जाएगा. यहां एक रात बिताने के लिए 50 हजार डौलर यानी लगभग 32 लाख 88 हजार रुपए चुकाने होंगे.

तो अगर आपको भी मालदीव घूमने का मौका मिले, तो आप यहां जरूर घूमें. ये आपके लिए नए तरह का अनुभव होगा.

स्कूबा डाइविंग के लिए परफेक्ट डेस्टिनेशन

travel in hindi

मालदीव में चूंकि चारों तरफ नजर घुमाने पर पानी ही नजर आता है, इसलिए यहां आप वाटर एडवेंचर का मजा ले सकते हैं या फिर आराम से अपनी कौटेज में आराम फरमा सकते हैं. मालदीव का लगभग हर रिसौर्ट अपने पास स्कूबा डाइविंग के इंतजाम रखता है. सीखने वालों के लिए यहां डाइविंग स्कूल और कोर्स भी हैं. हर रिसौर्ट के पास द्वीप के नीचे अपनी एक समुद्री दीवार (रीफ) होती है जिसके चलते तेज लहरों या हवाओं के दौरान भी डाइविंग में कोई परेशानी नहीं आती.

4 लाख जनसंख्या वाले देश में 12 लाख टूरिस्ट

मालदीव 36 मूंगा प्रवालद्वीप और 1192 छोटे-छोटे आईलैंड से मिलकर बना हुआ देश है. एक आईलैंड से दूसरे आईलैंड पर जाने के लिए खास तौर से फेरी का इस्तेमाल किया जाता है. देश के इकोनोमी का टूरिज्म महत्वपूर्ण हिस्सा है.

अंडरवाटर फोटोग्राफी का मजा

मालदीव अंडरवाटर फोटोग्राफी के लिए यह दुनिया की बेहतरीन जगहों में से एक है. कोरल रीफ और मछलियों की इतनी किस्में शायद ही कहीं और हो. रही बात कैमरे की तो यहां के डाइविंग स्कूलों में अंडरवाटर कैमरे भी किराये पर मिल जाते हैं.

पनडुब्बी (सबमैरिन) का मजा मिलेगा यहां

समुद्र की गहराई में उतरकर समुद्र की दुनिया देखने का एक अलग ही मजा है. मालदीव के रोमांच में हाल का इजाफा जर्मन पनडुब्बी का है, जो हर किसी को पानी के नीचे की दुनिया दिखा सकती है. दुनिया की सबसे गहरी उतरने वाली और सबसे बड़ी यात्री पनडुब्बी है, जो समुद्र में सौ फुट नीचे उतरकर उस दुनिया से आपको रूबरू करवाती है.

दुनिया भर की व्हेल व डौल्फिन 20 किस्में

travel in hindi

अब यह बात बहुत कम ही लोगों को पता होगी कि मालदीव की गिनती व्हेल व डौल्फिन के नजारे लेने के लिए दुनिया की पांच सर्वश्रेष्ठ जगहों में होती है. इन दोनों मछलियों की बीस किस्मों का ठिकाना मालदीव के समुद्र में है. इनमें विशालकाय ब्लू व्हेल से लेकर बेहद छोटी लेकिन उतनी ही कलाबाज स्पिनर डौल्फिन तक सब शामिल हैं.

कैसे पहुंचे

मालदीव की राजधानी माले के लिए केरल में तिरुवनंतपुरम से सीधी उड़ान है. दिल्ली से कोलंबो होते हुए भी कुछ उड़ानें माले के लिए शुरू हुई हैं. कुछ अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मुंबई होते हुए भी माले जाती हैं. किराया भी बहुत ज्यादा नहीं है. तिरुवनंतपुरम से माले का एक व्यक्ति का इकोनौमी क्लास का वापसी किराया लगभग साढ़े आठ हजार रुपये है. यह उड़ान महज 40 मिनट लेती है.