फर्स्ट डेट के बाद Boyfriend की सैकंड डेट में दिलचस्पी है या नहीं, कैसे पता लगाएं?

सवाल-

मेरा कोई बौयफ्रैंड नहीं रहा. 24 साल की हो चुकी हूं. डेटिंग ऐप के बारे में काफी कुछ पढ़ा और सुना है. इसलिए सोचा, क्यों न मैं भी इन ऐप्स का सहारा लूं. एक बार जब मैं इन ऐप्स से जुड़ी तो मु झे मजा आने लगा. कई लड़कों के साथ चैटिंग की. अब कई दिनों से, लगभग 3 महीने हो गए होंगे, मैं एक लड़के से रैगुलर चैट कर रही हूं. मु झे वह बहुत अच्छा लगने लगा है. मैं उस से प्यार करने लगी हूं. वह  अब मु झ से पर्सनली मिलना चाहता है. मिलना तो मैं भी चाहती हूं लेकिन पता नहीं क्यों डर लग रहा है कि कहीं पर्सनली मिल कर मैं उसे पसंद न आई तो? मैं कैसे पता लगाऊं कि फर्स्ट डेट के बाद उसे सैकंड डेट में दिलचस्पी है या नहीं?

जवाब-

आप की घबराहट जायज है क्योंकि चैट करते हुए रोमांटिक बातें करना एक बात है और पार्टनर के सामने बैठ कर उस से आंखें मिलाते हुए रोमांटिक टौक दिलचस्प बनाना दूसरी बात है. एक तरह से दोनों को ही डर होता है कि वे एकदूसरे की अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे या नहीं. आप डर रही हैं, हो सकता है उसे भी डर लग रहा हो.

फिलहाल यहां हम आप की बात करते हैं कि आप कैसे पता लगाएंगी कि वह आप से दोबारा मिलने की इच्छा रखता है या नहीं या आप उसे कितनी पसंद आई हैं. जरूरी नहीं कि सामने वाला हर बात बोले, कुछ हमें खुद भी सम झनी होती हैं.

जब आप दोनों मिलें और वक्त कैसे निकल गया, पता न चले तो यह गुड साइन है. लेकिन वह डेट को जल्दी से जल्दी खत्म करना चाहेगा तो हो सकता है कि उसे आप का साथ पसंद नहीं आया. अकसर पहली डेट पर ही सैकंड डेट की प्लानिंग हो जाती है लेकिन वह आप से दूसरी बार मिलना ही न चाहता तो यकीनन वह दूसरी डेट का जिक्र तक न करेगा.  इतना ही नहीं, अगर आप भी इस बात का जिक्र करेंगी तो वह कोई बहाना बना देगा.

ये भी पढ़ें- लौंग डिस्टैंस रिलेशनशिप को कैसे मजबूत बना सकते हैं?

किसी से मिलने के बाद हम सामने वाले पार्टनर को मैसेज या कौल कर के पहली डेट की यादों को सा झा करते हैं. यदि वह ऐसा नहीं करता तो सम झ जाएं कि आप उस की उम्मीदों पर खरी नहीं उतरीं. डेट पर जाने पर लोग एकदूसरे की पर्सनैलिटी, स्टाइल को कौंप्लीमैंट करते हैं लेकिन वह आप को एक टैक्स्ट मैसेज भी नहीं करता तो सम झ जाइए उसे दूसरी डेट में कोई दिलचस्पी नहीं.

अकसर फर्स्ट डेट के बाद कपल्स एकदूसरे के साथ सहज हो जाते हैं. अपनी पर्सनल बातें एकदूसरे से शेयर करना शुरू कर देते हैं. आप ध्यान रखें कि वह आप से अपनी कितनी पर्सनल बातें करता है या आप की निजी जिंदगी के बारे में जानने में कितना ख्वाहिशमंद है.

तो फिर डरिए मत, अच्छा सोच कर ही फर्स्ट डेट पर जाएं. हमारी बताई बातों को ध्यान में रखते हुए सारी स्थिति सम झें या सही निर्णय लीजिए और समझिए कि सामने वाला आप का सोलमेट बनेगा या नहीं.

ये भी पढ़ें- मैं अपने रिलेशनशिप को एक लेवल आगे बढ़ाना चाहता हूं, मैं क्या करुं?

अगर आपकी भी ऐसी ही कोई समस्या है तो हमें इस ईमेल आईडी पर भेजें- submit.rachna@delhipress.biz   सब्जेक्ट में लिखे…  गृहशोभा-व्यक्तिगत समस्याएं/ Personal Problem

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें