क्रैक्ड स्किन आमतौर पर तब दिखाई देती है जब किसी भी कारण किसी भी प्रकार के स्किन बैरियर से समझौता किया जाता है. यह ड्राई और इर्रिटेटेड स्किन का लक्षण है, लेकिन विशेष रूप से कई संभावित कारण जैसे गर्मियों में टेम्परेचर का बढ़ना क्रैक्ड स्किन के मुख्य कारण हैं. पैर, हाथ और होंठ अन्य भागों की तुलना में अधिक क्रैक्ड की संभावना होती है. फटी या क्रैक्ड स्किन पर कोई भी रैशेस, कट्स या निशान आमतौर पर तब होते हैं जब किसी व्यक्ति की स्किन ड्राई और इर्रिटेटेड होती है. ड्राई और फटी स्किन में इचिंग,फ्लैकी और खून की मात्रा ज्यादा होती है. क्रैक्ड स्किन के लिए किसी भी स्किनकेयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते समय आप अनप्लीजेंट सेंसेशन महसूस कर सकते हैं. इस स्थिति में स्किन भी पानी के टेम्परेचर और घरेलू क्लीनिंग प्रोडक्ट्स के प्रति अधिक सेंसिटिव महसूस करती है.

क्रैक्ड स्किन बॉडी के किसी भी हिस्से पर दिखाई दे सकती है, लेकिन वैसे हिस्से जो ज्यादा
एक्सपोज्ड होते है या सूरज की किरणों के संपर्क में ज्यादा आते है, वहाँ ज्यादा दिखाई देते है और उनपर ज्यादा ध्यान देने की जरुरत है. यह स्किन में होने वाली सबसे आम समस्या है जिसका सामना लोग गर्मियों के दौरान करते हैं. ज़रूरत से ज्यादा धोने से हाथ और कलाई का सूखना एक ऐसी स्थिति है जो क्रैक्ड स्किन के होने का मुख्य कारण होते है. इसकी उपस्थिति को रोकने के लिए, हर

बार हाथ धोने के बाद मॉइस्चराइज़र का उपयोग करने की आवश्यकता होती है. कुछ मामलों में, क्रैक्ड स्किन एक अंडरलाइंग मेडिकल कंडीशन के सिम्पटम्स भी हो सकते है. कुछ लोगों में, स्किन की स्थिति के कारण क्रैक्ड स्किन की स्थिति हो सकती है, जैसे कि एक्जिमा या सोरायसिस, या क्योंकि स्किन एक इर्रिटेटिंग सब्सटांस के कांटेक्ट में आई थी. स्मूद और हाइड्रेटेड स्किन में, स्किन की लेयर में मौजूद नेचुरल ऑयल मॉइस्चर को बरकरार रखते हुए स्किन को सूखने से रोकते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT