संसार में हर जगह अच्छे व बुरे दोनो लोग हैं, इसी के चलते यह संसार चल रहा है. लेकिन आमिर खान की नजर में ऐसा नहीं है. तभी तो आमिर खान प्रोडक्शन की फिल्म ‘सिक्रेट सुपरस्टार’ के सभी पुरुष पात्र नकारात्मक हैं. फिल्म में इंसिया के पिता फारुख को जिस तरह का दिखाया गया है, उस तरह के यदि पुरुषों की संख्या हमारे समाज में सर्वाधिक है, तो यह बहुत ही ज्यादा घातक है. हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि सिनेमा समाज का दर्पण होता है. मगर सिनेमा में उसी को पेश किया जाना चाहिए या जाता है, जो कि समाज में सर्वाधिक घटित हो रहा हो. इस कसौटी पर यदि हम फिल्म ‘सिक्रेट सुपरस्टार’ को कसते हैं, तो यह फिल्म अति घटिया साबित होती है और घरेलू हिंसा और बेटी पढ़ाओ के उत्कृष्ट संदेश भी दबकर रह जाता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT