फिल्म ‘जवानी जानेमन’ से डेब्यू करने वाली अलाया एफ पूजा बेदी की बेटी है. बचपन से उसे फिल्मों में आने की कोई रूचि नहीं थी, लेकिन समय के साथ-साथ उसे ये प्रोफेशन अच्छा लगने लगा और उसने इस दिशा में विदेश में पढाई पूरी कर भारत आई और पहली फिल्म मिली, जिसमें उसकी भूमिका सैफ अली खान की बेटी की है. वह इस रोल से बहुत खुश है, क्योंकि उसे पहली फिल्म से ही एक बड़े कलाकार के साथ काम करने का अवसर मिल रहा है. अत्यंत हंसमुख और चुलबुली अलाया से बातचीत करना रोचक था. पेश है अंश.

सवाल-क्या आपको बचपन से अभिनेत्री बनने का शौक था, क्योंकि आप पूजा बेदी की बेटी है?

बचपन में मुझे एक्टर बनने की बात, मेरे आसपास के सभी लोग कहा करते थे, पर मैंने सोच लिया था कि मैं एक्ट्रेस कभी नहीं बनूगी, क्योंकि मैं पढने में बहुत तेज थी और मैंने कई अवार्ड्स भी जीते थे. मैं सोचती थी कि एक्ट्रेस बने बिना भी बहुत सारा काम किया जा सकता है. मुझे फिल्में पसंद थी और डायरेक्टर बनने के लिए मैं विदेश गयी. वहां एक क्लास में मुझे किसी एक्टर को निर्देश देने के बारें में सीखना था. इसे करने के लिए मुझे अभिनय भी करने पड़े. इसके अलावा उस क्लास को करने में मुझे बहुत मज़ा आता था. इसलिए मैंने 4 साल के कोर्स में से केवल एक साल का कोर्स कर मुंबई आ गयी और मैंने माँ से अभिनेत्री बनने की इच्छा जाहिर की. पहले तो मेरी माँ को विश्वास नहीं हुआ, पर मेरी दृढ़ भावना को देखकर उसने हां कर दी और मैं अभिनय सीखने वापस विदेश गयी.

सवाल-इस फिल्म का मिलना कैसे हुआ और आपकी भूमिका क्या है?

इस फिल्म में मैं फिट हुई और ये भूमिका मिली. मुझे किसी ने लौंच नहीं किया. मैंने ऑडिशन दिए कई सारी वर्कशॉप किये और ये फिल्म मिल गयी. मैं बहुत खुशनसीब हूं कि पहली फिल्म में मुझे सैफ अली खान और तब्बू के साथ काम करने का मौका मिला. इससे पहले ऑडिशन के दौरान काफी बार रिजेक्शन भी मिले, पर मुझे विश्वास था कि एक दिन मुझे एक अच्छी फिल्म मिलेगी और मिल गयी. इसमें मैं सैफ अली खान की बेटी टिया की भूमिका निभा रही हूं, जो एक प्ले बॉय है. किसी करणवश मैं उनकी जिंदगी में आ जाती हूं और फिर क्या होता है उसकी कहानी है. बहुत ही मजेदार फिल्म है.

ये भी पढ़ें- पति सुयश रावत संग ठुमके लगाती नजर आईं मोहेना कुमारी, VIDEO VIRAL

सवाल-टिया से आप कितना मेल खाती है?

बहुत अधिक मेल है. आत्मनिर्भर, खुले विचारो वाली, मेच्योर आदि सबकुछ इस चरित्र के जैसा मेरा है.

सवाल-होम वर्क कितना करना पड़ा?

मैंने अभिनय से जुड़े सारी विधाओं की ट्रेनिंग ले ली है. निर्देशक के साथ अच्छी तरह से स्क्रिप्ट्स पढ़े है. मैंने जो भी परिवर्तन फिल्म के लिए कहा उन्होंने उसे स्वीकार भी किया. काम बहुत मज़ेदार था.

सवाल-फिल्म मिलने के बाद पूजा बेदी का रिएक्शन कैसा था?

वह बहुत उत्साहित है और मैंने उन्हें कह दिया है कि जिस तरह मैं आपकी बेबी हूं, उसी तरह से ये फिल्म मेरे लिए बेबी है. इसलिए मेरे कैरियर में कोई दखल दे, मुझे अच्छा नहीं लगेगा और उन्होंने मुझे किसी प्रकार की राय भी नहीं दी. वह मेरे बात का सम्मान करती है.अगर मुझे कोई भी राय उनसे लेनी हो तो मैं खुद उनके पास जाकर पूछ लेती हूं. मुझे हर किसी से बात करना अच्छा लगता है.

सवाल-सैफ और तब्बू के साथ काम करने का अनुभव कैसा था?

पहले मैं थोड़ी घबरा गई थी, लेकिन सेट पर आने के बाद सबकुछ आसान लगने लगा था. सबने मुझे कुछ न कुछ सलाह दी.  सैफ ने सेट पर आने से पहले मेरी तैयारी की काफी तारीफ की थी और मुझे बहुत अच्छा लगा था. इसके अलावा उनकी बेटी की भूमिका मैंने इसमें निभाई है, इसलिए मुझे उन्हें पिता के रूप में देखना था.

सवाल-माँ की किस बात को आप अपने जीवन में उतरना पसंद करती है?

मेरी माँ के साथ जीवन में कुछ भी हो जाय वह हमेशा मुस्कराती रहती है. मैं भी उनके जैसे ही हमेशा खुश रहना चाहती हूं.

सवाल-आप एक प्रतिभावान और समृद्ध परिवार से सम्बन्ध रखती है,इसका कितना फायदा और प्रेशर आप महसूस करती है?

बचपन से कला के माहौल को मैंने देखा है, जहां फिल्म मेकर से लेकर, निर्देशक, लेखक सभी का आना जाना मेरे घर में होता था. मैं उसी परिवेश में पैदा हुई. इसलिए मुझे विदेश में और यहाँ पर काम करने में कोई मेहनत नहीं हुई. बहुत कुछ मैंने देखकर सीखा साथ ही कांफिडेंस का लेवल भी बहुत बढ़ा है. कैमरे के सामने जाना मुश्किल नहीं था. प्रेशर मैं खुद हो अपने उपर बहुत डालती हूं. मैं सेट पर 5 मिनट लेट होने पर भी घबरा जाती हूं. ये सही है कि हमें संघर्ष कम करने पड़ते है और तनाव भी कम रहता है.

सवाल-आपने अभिनय के लिए अपना कुछ दायरा बनायी है?

मुझे हर तरीके के काम करने है. फिर चाहे वह वेब सीरीज हो या फिल्म मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता. हर तरह की फिल्में करने की इच्छा है. मेहनत और ईमानदारी से काम करने की इच्छा है.

सवाल-फैशन की शौक़ीन कितनी है?

मुझे फैशन पसंद है, लेकिन कभी किसी पोशाक में अच्छी दिखती हूं तो कभी नहीं. ये सब मेरी मूड और स्किन के उपर निर्भर करता है. मैं साधारण रहना पसंद करती हूं.

ये भी पढ़ें- कटरीना कैफ बनीं ‘Dulhan’, अमिताभ-जया ने ऐसे किया डांस

सवाल-आपका बचपन कैसा गुजरा है, क्योंकि तब आपके माता-पिता में टकराव होने लगा था?

मुझे कुछ फर्क नहीं पड़ता. मेरे हिसाब से अगर दो लोग एक छत के नीचे रहकर खुश नहीं, जबकि अलग दो घरों में रहकर खुश है तो मुझे इसमें कोई खराबी नज़र नहीं आती. अलग होने के बावजूद मेरी माँ पिता के साथ समय बिताती है. मेरी स्टेप मदर भी मेरी माँ की तरह है. उनके एक बच्चे को भी मैं बहुत पसंद करती हूं. मैं अपनी माता-पिता से बहुत क्लोज हूं. डिस्टर्ब नहीं थी. मैं एक हैप्पी चाइल्ड हूं.

सवाल-कोई सामाजिक काम जिसे आप करना चाहे?

मैंने हमेशा से ही सामाजिक काम किये है, गरीबो को घर दिलवाई, बच्चों को शिक्षा दी. इसके अलावा मैंने हमेशा ही सामाजिक काम को अधिक महत्व दिया है. हर किसी को कुछ न कुछ काम अपनी हैसियत के हिसाब से करते रहना चाहिए.

Tags:
COMMENT