मेरठ के एक गांव की 85 और 60 वर्षीय ‘‘राष्ट्रीय शार्प शूटर’’ (निशाने बाज ) प्रकाशी और चंद्रा तोमर के जीवन, उनकी सोच और उनके द्वारा शूटर के तौर पर गढ़े गए नए मापदंडो को फिल्मकार तुशार हीरानंदानी अपनी फिल्म ‘‘सांड की आंख’’में लेकर आ रहे हैं. इस फिल्म का ट्रेलर 23 सितंबर को मुंबई के मालाड इलाके में स्थित‘ औयनौक्स मल्टी प्लैक्स’ में रिलीज किया गया. फिल्म का ट्रेलर उच्च आत्माओं, सोच व ऊर्जा से भरपूर तथा मजेदार है. ट्रेलर से पता चलता है कि यह कहानी हमें सीख देती है कि यदि विश्वास है तो सफलता की कोई सीमा नहीं है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT