आज की जीवनशैली में महिलाएं चाहे घरेलू हो या कामकाजी सभी को चटपट खाना बनाने की इच्छा होती हैं. कोई भी महिला पूरा दिन किचन में गुजरना नहीं चाहती, ऐसे में खाना स्वादिष्ट होने के साथ-साथ आकर्षक भी हो, इसकी जरुरत होती है. ताकि परिवार के सभी सदस्य हंसी-ख़ुशी भोजन करें. हालांकि झटपट खाना बनाने के लिए आजकल बाज़ार में कई प्रकार के ‘रेडी टू ईट’ वाले पौकेट आसानी से मिल जाते हैं पर उसका स्वाद घर के खाने जैसा होने के साथ-साथ हाईजिनिक कितना होगा, इसकी भी चिंता बनी रहती है. इसलिए अपने हाथ से झटपट खाना बना लेना ही आज के सभी परिवारों की मांग है.

महिला दिवस के अवसर पर ख़ास आयोजन के बीच बारबेक्यू नेशन के शेफ अरुण शर्मा कहते हैं कि आज खाना केवल महिलाएं ही नहीं, पुरुष भी बनाते हैं. इसलिए जल्दी और झटपट खाना बनाने की कला सबको आनी चाहिए. ये सही है कि घर पर बना खाना सबकी सेहत के लिए अच्छा होता है और महिलाएं भी इसे दिल से बनाती हैं इसलिए इसके स्वाद और गुणवत्ता की तुलना किसी से नहीं की जा सकती. ‘स्मार्ट कुकिंग’ के लिए कुछ बातें अवश्य ध्यान में रखने की जरुरत होती है.

  • जो खाना बनानी है, उसकी प्लानिंग पहले से करें,
  • चीजें व्यवस्थित रूप से किचन में रखें ताकि जरूरत के समय आपको वह आसानी से मिले.
  • सब्जियों या नौन वेज को साफ़ कर फ्रिज में पहले दिन रख लें.
  • अगर कुछ चीजों को पहले से रोस्ट या उबालकर रखनी पड़े तो ऐसा कर उसे बंद कंटेनर में रख दें.
  • मसाले जो देनी हैं उसकी पेस्ट पहले से तैयार कर लें.
  • जो भी चीज आपको तड़के में देनी हो उसे काटकर या छीलकर रख लें.
  • हर सामग्री को अलग-अलग कंटेनर में रखें ताकि एक दूसरे की महक न फैले.
  • किसी भी कलरफुल सब्जी जैसे गाजर, हरा बीन्स, गोभी, हरा मटर,टमाटर आदि के रंग को प्रिजर्व करने के लिए उसे गरम पानी में 10 से 12 सेकंड रखकर ब्लांच कर लें इससे वे थोड़े पक भी जाते हैं. आगर जरूरत हो तो टमाटर के छिलके भी उतार कर प्रयोग कर सकती है. इससे रंग के अलावा उसकी पौष्टिकता भी नष्ट नहीं होती.
  • हमेशा अच्छी क्वालिटी के मसालें ही बाज़ार से ख़रीदें.
  • खाना पकाने के लिए नौन स्टिक बर्तनों को जरुरत के अनुसार खरीद कर रख लें ताकि आपको खाना बनाने और साफ़ करने में परेशानी न हो.

इसके अलावा खाना बनाना एक कला है जिसे अलग-अलग ढंग से बनाया जा सकता है, इसके लिए आजकल मैगजीन और औनलाइन कई रेसिपी उपलब्ध है जिसकी मदद से आकर्षक भोजन बनाया जा सकता है.

पहली बार खाना बनाते समय कई बार वह डिश ‘मेस’ हो जाया करती है या उसका स्वाद मन मुताबिक नहीं बन पाता. ऐसे में घबराने की जरुरत नहीं होती. इस बारें में शेफ निहाल आप्टे का कहना है कि ये कोई समस्या नहीं, उसे ठीक भी किया जा सकता है. जैसे कि कई बार भोजन का हल्का जल जाना या नमक का अधिक पड़ जाना होता है, कुछ टिप्स ये है,

  • अगर खाना नीचे से थोड़ी जल जाय, तो उसे तुरंत उस बर्तन से निकाल कर दूसरे बर्तन में पकायें, नहीं तो जलने की महक पूरे खाने में फ़ैल जायेगा.
  • उसे कभी भी खुरचकर न निकालें,
  • नीबू का थोडा रस उसमें मिलाएं.
  • थोड़ी टमाटर का तड़का लगा दें.
  • नमक अधिक होने पर उसकी मात्रा को बढ़ा दें,
  • एक आलू काटकर डाल दें,
  • आटे की एक लोई बनाकर उसमें डालें.

खाना बनाना एक क्रिएटिविटी है, जिससे मानसिक तनाव दूर भागती है. इसलिए इसे बनाने में कभी भी आनाकानी न करें. डिशेज को अधिक से अधिक कलरफुल बनाये, ताकि बच्चे भी उसे खाने से मना न करें.

Tags:
COMMENT