कोरोना का कहर पूरी दुनिया में छाया हुआ है.कोरोना पीडितो की संख्या में दिन पर दिन लगातार बढ़ोत्तरी होती जा रही है.व्यस्क से लेकर बच्चों तक कोई भी इसके संक्रमण से बच नहीं पा रहा है.हालांकि इन सभी मामलों में बच्चो की संख्या काफी कम है.

'मर्डोक चिल्ड्रन रिसर्च इंस्टिट्यूट' (MCRI) की रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादा उम्र के लोगों की तुलना में बच्चे इस बीमारी का कम शिकार हो रहे हैं. कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चे COVID-19 से उतने गंभीर रूप से प्रभावित नहीं हो सकते हैं,जितना व्यसक हो सकते हैं क्योंकि बच्चो को अक्सर आम सर्दी खांसी जैसी बीमारियाँ बनी रहती है जिससे इनके शरीर में एंटीबाडी बन जाती है. जो उन्हें कोरोना से उतना ज्यादा नुक्सान नहीं पहुचने देती और वो जल्दी रिकवर कर लेते है
हालाँकि जिन बच्चों को जन्मजात हृदय रोग,ब्लड सुगर ,या ब्लड कैंसर जैसी बीमारियाँ है ,उनमें कोरोना के संक्रमण का खतरा अधिक होता है।

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT