हर कोई हीरो बनना चाहता है जीरो नहीं, लेकिन जब बात परफैक्ट बौडी फिगर की आती है, तो युवाओं में जीरो साइज बौडी फिगर का जबरदस्त क्रेज दिखाई देता है जहां हर युवक रितिक रोशन जैसा दिखना चाहता है और हर युवती करीना जैसी परफैक्ट फिगर पाना चाहती है और चाहे भी क्यों न भला, आखिर परफैक्ट बौडी पर ही तो हर पोशाक जंचती है.

दुनिया से साइज जीरो फिगर का परिचय पहली बार 1966 में ब्रिटिश मौडल ट्वीगी ने कराया था. भारत में जीरो साइज फिगर को युवाओं के बीच पौपुलर किया प्रसिद्ध अभिनेत्री करीना कपूर ने. फिल्म ‘रिफ्यूजी’ की 65 किलोग्राम की करीना ने जब फिल्म ‘टशन’ के लिए अपना वजन घटा कर 49 किलोग्राम किया, तो देशभर के युवा उन की जीरो साइज सैक्सी फिगर के दीवाने हो गए.

30-22-32 की जीरो फिगर में पतली कमर न केवल खूबसूरती का आईना होती है बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी बेहतर होती है, क्योंकि मोटापा या बेडौल शरीर ब्लड प्रैशर, शुगर, थायराइड, हार्ट संबंधी अनेक गंभीर बीमारियों को न्योता देता है. टीवी, पत्रपत्रिकाओं, फिल्मों में दिखते जीरो साइज मौडल भी युवाओं को जीरो साइज बौडी पाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं. जीरो साइज के दीवाने युवा डाइट कंट्रोल कर के जिम जौइन कर तरहतरह की सर्जरी करवा कर जीरो साइज पाने की रेस में खड़े हैं.

वे हर रोज सुबह उठ कर अपना वजन नापते हैं और इंचीटेप से कमर का नाप लेते हैं. उन का एकमात्र ध्येय होता है, जीरो साइज फिगर पाना. फिर चाहे उस के लिए उन्हें कुछ भी क्यों न करना पड़े.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT