लेखक- पूजा

लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करना, गलत पोस्चर में बैठना, कंधों को अधिक चलाना या फिर बिलकुल भी न चलाना जैसी आदतें आप को फ्रोजन शोल्डर का शिकार बना सकती हैं. लेकिन जीवनशैली में बदलाव ला कर और कुछ एहतियात बरत कर इस समस्या से बचा जा सकता है.अगर घर या औफिस में काम करतेकरते आप को अचानक कंधे में असहनीय दर्द होता है और यह भी महसूस होता है कि आप का कंधा मूव नहीं कर रहा है तो फौरन सम झ जाएं कि आप को फ्रोजन शोल्डर की समस्या ने अपनी चपेट में ले लिया है.दरअसल, हमारे शरीर में मौजूद हर जौइंट के बाहर एक कैप्सूल होता है. फ्रोजन शोल्डर की समस्या में यही कैप्सूल स्टिफ या सख्त हो जाता है, जिस वजह से कंधे की हड्डी को हिलाना बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो जाता है. इस में दर्द धीरेधीरे या फिर अचानक शुरू हो जाता है और पूरा कंधा जाम हो जाता है. यह समस्या 40 से अधिक आयु वाले लोगों में देखने को मिलती है और पुरुषों की तुलना में महिलाओं में इस के होने की संभावना अधिक होती है.

1. कारण हैं अनेक

एक सर्वे के मुताबिक फ्रोजन शोल्डर की समस्या लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करने, कंधे को एक ही स्थिति में रखने, कंधे पर अधिक भार उठाने, कंधे से ज्यादा काम लेने, हड्डियों के कमजोर होने, बढ़ती उम्र के कारण हो सकती है. कई बार यह समस्या कंधे पर चोट लगने पर भी होने लगती है. रोजाना ऐक्सरसाइज न करने की वजह से भी आजकल लोगों को यह समस्या हो रही है, क्योंकि ऐक्सरसाइज न करने से जौइंट्स जाम होने लगते हैं.

ये भी पढ़ें- घर की कैलोरी न बनें डस्टबिन

2. जब दिखें ये आसार

फ्रोजन शोल्डर की समस्या कई महीनों या फिर सालों तक भी रह सकती है. यह बीमारी 3 अवस्थाओं से गुजरती है, जिन में फ्रीजिंग, फ्रोजन और थाइंग स्टेज मौजूद हैं. अगर आप को भी ये लक्षण दिखें तो फौरन डाक्टर के पास जाएं:- कंधे में सूजन होना.- कंधे को किसी भी दिशा में मोड़ने में बहुत दिक्कत होना.- दर्द का गरदन और उस के ऊपर के भाग में फैलना.- रात के समय अधिक दर्द होना, छोटेछोटे काम जैसे कंघी करने, बटन बंद करने आदि में भी मुश्किल होना.- हाथ को पीछे की ओर करते वक्त कंधे में तेज दर्द होना.

3. बढ़ जाती हैं ये परेशानियां

फ्रोजन शोल्डर के कारण अवसाद, गरदन और पीठ दर्द, थकान, काम करने में असमर्थता इत्यादि समस्याएं भी हो सकती हैं. फ्रोजन शोल्डर से रोगी को मधुमेह, दौरा पड़ना, फेफड़ों का रोग, हृदय रोग आदि होने का भी डर रहता है. यह बीमारी पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में अधिक पाई जाती है.आजमाएं ये उपाय

4. करें ये ऐक्सरसाइज

फ्रोजन शोल्डर के दर्द और अकड़न से राहत पाने के लिए रोजाना व्यायाम करें. पैंडुलम स्ट्रैच, टौवेल स्ट्रैच, फिंगर वाक, आर्मपिट स्ट्रैच, क्रौस बौडी रीच, कंधे को बाहर व अंदर की तरफ घुमाना जैसी कुछ ऐक्सरसाइज दर्द को कम करती हैं, लेकिन इन्हें करने से पहले डाक्टर की सलाह जरूर ले लें.

स्वस्थ आहार लें: मसालेदार और तीखे भोजन का सेवन करने से बचें, क्योंकि इस से भी फ्रोजन शोल्डर की समस्या बढ़ सकती है, इसलिए ताजा और कम मसाले वाला खाना खाएं.

5. हीट और कोल्ड थेरैपी

दर्द से राहत पाने के लिए हीट या कोल्ड थेरैपी लें. फ्रोजन शोल्डर के दर्द को कम करने के लिए कंधे को 15 मिनट के लिए आइस पैक और 15 मिनट के लिए हीटिंग पैक से सेंकें. ऐसा दिन में 2-3 बार करें.

ये भी पढ़ें- गरम पानी पीने के इन 6 फायदों के बारे में जानती हैं आप

6. औयल मसाज करें

फ्रोजन शोल्डर में कंधे के दर्द को कम करने और कंधे में मूवमैंट के लिए औयल मसाज बेहतर उपाय है.

7. ऐक्यूपंक्चर और फिजियोथेरैपी

इस दर्द से जल्दी आराम पाने के लिए ऐक्यूपंक्चर चिकित्सा का सहारा ले सकते हैं या फिर इस का सब से अच्छा उपाय फिजियोथेरैपी है. इस से फ्रोजन शोल्डर के दर्द से जल्दी छुटकारा मिलता है.

Tags:
COMMENT