गाय का दूध अपनेआप में संपूर्ण भोजन है. यह दुनियाभर में उपलब्ध है और प्राचीनकाल से ही दुनिया के हर हिस्से में इस का इस्तेमाल किया जाता है. 1 गिलास दूध अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है. जिस के बराबर पोषण दुनिया की कोई और चीज नहीं दे सकती.

दूध में मौजूद पोषक तत्त्व

कैल्सियम: गाय का दूध कैल्सियम का सब से अच्छा स्रोत है. कैल्सियम शरीर में कई तरह से फायदेमंद है. खासतौर पर यह दांतों और हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जरूरी है. कैल्सियम खून का थक्का जमाने और घाव भरने, ब्लड प्रैशर पर नियंत्रण रखने, पेशियों की गतिविधियों और दिल की धड़कनों को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है.

पोटैशियम: इस का सही मात्रा में सेवन स्ट्रोक, दिल की बीमारियों, उच्च रक्तचाप से बचाता है. हड्डियों का घनत्व सामान्य बनाए रखता है और किडनी में पथरी बनने से रोकता है.

कोलाइन: दूध कोलाइन का भी अच्छा स्रोत है. यह एक जरूरी पोषक तत्त्व है जो नींद, पेशियों की गतिविधियों, याददाश्त और सीखने की क्षमता को सामान्य बनाए रखता है. कोलाइन कोशिका झिल्ली यानी सैल मैंब्रेन का रखरखाव करता है, तंत्रिका आवेग के संचरण में मदद करता है, वसा के अवशोषण में सहायक है और क्रोनिक/पुरानी सूजन को कम करने में कारगर है.

ये भी पढ़ें- जानें क्या है सर्दियों में आवंले के 10 फायदे

विटामिन डी: विटामिन डी गाय के दूध में प्राकृतिक रूप से उपस्थित नहीं होता, लेकिन यह गाय के दूध को फोर्टीफाई कर इस में शामिल किया जा सकता है. विटामिन डी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है. यह हड्डियों में टूटफूट की मरम्मत के लिए जरूरी है. यह कैल्सियम के अवशोषण तथा प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इस की कमी औस्टियोपोरोसिस, डीप्रैशन, थकान, पेशियों में दर्द, उच्च रक्तचाप, स्तन एवं कोलोन कैंसर का कारण बन सकती है.

बच्चों के लिए गाय के दूध के फायदे

विकास: प्रोटीन शरीर के विकास के लिए जरूरी है, लेकिन ये कई प्रकार के होते हैं. गाय के दूध में सभी जरूरी प्रोटीन होते हैं. इसलिए यह दूध न केवल शरीर में ऊर्जा पैदा करता है, बल्कि विकास में भी सहायक होता है. बच्चों के लिए रोजाना दूध पीना बहुत जरूरी है ताकि उन के शरीर और दिमाग का विकास ठीक से हो सके.

पेशियों का निर्माण: शरीर में मैटाबोलिज्म को सामान्य बनाए रखने के लिए पेशियों का विकास भी जरूरी है. इस के अलावा वजन भी सामान्य बना रहना चाहिए. पेशियों के विकास के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना चाहिए. डेयरी प्रोटीन पेशियों के विकास और टूटफूट की मरम्मत के लिए बेहद फायदेमंद होता है.

प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाता है: दूध में ऐंटीऔक्सीडैंट जैसे विटामिन ई, सैलेनियम और जिंक होते हैं. ये शरीर से हानिकारक फ्री रैडिकल्स को निकालते हैं और शरीर को बीमारियों से बचाते हैं.

अच्छी नींद के लिए जरूरी: दूध में सभी जरूरी प्रोटीन होते हैं, जो अच्छी नींद के लिए जरूरी हैं. अगर बच्चे को सोने से पहले 1 गिलास दूध पिलाएं तो उसे अच्छी नींद आएगी.

हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाता है:  दूध में कैल्सियम और ऐसे कई जरूरी पोषक तत्त्व होते हैं जो हड्डियों और दांतों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जरूरी हैं. उम्र बढ़ने के साथसाथ हड्डियों का घनत्व कम होने लगता है. अत: दूध पीने से इन समस्याओं से बचा जा सकता है.

दिल का स्वास्थ्य: ओमेगा 3 फैटी ऐसिड को अच्छा कोलैस्ट्रौल माना जाता है, जो दिल को बीमारियों से बचाता है तथा हार्ट अटैक एवं स्ट्रोक से सुरक्षित रखता है.

दिमाग के लिए जरूरी: गाय के दूध में विटामिन बी पर्याप्त मात्रा में होता है जो दिमाग, तंत्रिकातंत्र को सामान्य बनाए रखने के लिए जरूरी है. इस से सोनेजागने का चक्र भी नियंत्रित होता है.

ये भी पढ़ें- डेली वर्क आउट सबके लिए जरुरी– सोफी चौधरी

मां के लिए फायदे

दूध और औस्टियोआर्थ्राइटिस: गाय का दूध कैल्सियम और मिनरल्स का अच्छा स्रोत है, जो हड्डियों और दांतों को सेहतमंद रखने के लिए जरूरी है. घुटनों का औस्टियोआर्थ्राइटिस आजकल आम हो गया है, लेकिन रोजाना 1 गिलास दूध पी कर महिलाएं अपनेआप को इस बीमारी से बचा सकती हैं.

कैंसर से लड़ने में मददगार: विटामिन डी कैंसर से बचाता है और कोशिकाओं का विकास सामान्य बनाए रखता है. दूध में विटामिन डी होता है. ज्यादा मात्रा में डेयरी उत्पादों के सेवन से कैल्सियम और लैक्टोज की पर्याप्त मात्रा शरीर में जाती है और महिलाएं अपनेआप को ओवेरियन कैंसर से सुरक्षित रख सकती हैं.

मधुमेह से बचाता है: गाय के दूध में विटामिन बी और मिनरल्स पर्याप्त मात्रा में होते हैं, जो मैटाबोलिज्म को सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं. शरीर में ग्लूकोज और इंसुलिन का स्तर सामान्य बनाए रखते हैं. इस से मधुमेह पर नियंत्रण बना रहता है.

डिप्रैशन से बचाता है: दूध में मौजूद विटामिन डी सैरेटोनिन के निर्माण में मददगार है. यह एक ऐसा हारमोन है, जो अच्छी नींद, भूख के लिए जरूरी है. मूड को भी ठीक रखता है. विटामिन डी की कमी के कारण व्यक्ति डिप्रैशन और थकान से पीडि़त हो सकता है. गाय के दूध में विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में होता है.

वजन में कमी: दूध में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है, इसलिए यह भूख शांत करता है. इस से मैटाबोलिज्म भी सामान्य बना रहता है. यह शरीर की ऊर्जा बनाए रखता है और गतिहीन जीवनशैली से दूर रखता है. व्यक्ति को सक्रिय बनाता है, जिस से वजन कम होता है.

त्वचा को चमकदार बनाता है: दूध से त्वचा चमकदार और मुलायम बनती है. उस की रंगत में सुधार आता है. दूध में मौजूद पोषक तत्त्व त्वचा को झुर्रियों से बचाते हैं.

शरीर को स्वस्थ बनाए रखता है: दूध शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है. यह पेशियों और हड्डियों को मजबूत बनाता है, तनाव कम करता है, आंखों को सेहतमंद बनाता है, कैंसर की संभावना को कम करता है, कोलैस्ट्रौल एवं रक्तचाप कम करता है. कुल मिला कर सेहत के लिए वरदान है.

लेखिका: श्रुति शर्मा

बैरिएट्रिक काउंसलर व न्यूट्रिशनिस्ट, जेपी हौस्पिटल, नोएडा

ये भी पढ़ें- अगर बच्चा करता है बिस्तर गीला तो ऐसे करें इलाज

Tags:
COMMENT