इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता हर किसी के लिए जरूरी है. जबसे कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ा है इसकी जरूरत भी बढ़ गई है. जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है वह ऐसे रोगों से लड़ लेते हैं. जिनके बौडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी कमजोर होती है उनका शरीर जल्द ही रोगों के प्रभाव में आ जाता है. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए अपनी लाइफस्टाइल, एक्सरसाइज और डाइट पर ध्यान देने की जरूरत होती है. इससे बौडी की इम्यूनिटी पावर बढ़ती है, जिससे बौडी रोगों से लड़ने में सक्षम होती है.

पूरी नींद बेहद जरूरी

इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पूरी नींद लेना सबसे जरूरी होता है. 7 से 8 घंटे की नींद जरूर लें. रात में समय पर सोने और सुबह जल्दी उठने की आदत डालें. जल्दी उठने का मतलब यह नहीं है कि आप आधीअधूरी नींद लें. रात को जल्दी सोने और सुबह जल्दी उठने से आपकी दिनचर्या भी सही रहती है. कम नींद लेने से शरीर में कार्टिसोल नामक हारमोन का लेवल बढ़ जाता है. इसके बढ़ने से तनाव भी बढ़ता है और इम्यूनिटी सिस्टम भी कमजोर होने लगता है.

ये भी पढ़ें- क्या है एंकीलोसिंग स्पोंडिलाइटिस, जानें इस खतरनाक बीमारी के बारे में

अच्छी नींद के लिए एक्सरसाइज

लोगों को यह शिकायत होती है कि उनको रात में नींद नहीं आती है. इसकी वजह यह है कि शरीर में थकावट नहीं होती आलस्य सा रहता है. जब सुबह समय पर उठेंगे और एक्सरसाइज करेंगे तो बौडी जल्दी सोने की मांग करने लगती है. ऐसे में जरूरी है कि जल्दी उठने के साथ ही नियमित तौर पर वाकिंग और एक्सरसाइज जरूर करें. हलके हाथों से शरीर की मालिश भी करेंगे तो और भी बेहतर रहेगा. मार्निंग वाक, मालिश और एक्सरसाइज से शरीर में ऐसे एंजाइम्स और हारमोंस बौडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर रोगों से बचावकर सकेंगे. मार्निंग वाक और कसरत का समय ऐसा हो कि शरीर को सुबह की 20 से 30 मिनट तक धूप भी मिल सके. सुबह की धूप रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार होती है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT