आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में महिलाओं के पास खुद के लिए समय नहीं होता और वहीं अगर वह एक मां हैं तो यह और भी मुश्किल हो जाता है. 20 साल की पूजा की 6 महीने की बेटी है, लेकिन वह घर के कामों और बेटी का ख्याल रखने में इतना खो जाती है अपने लिए समय नही रहता.

दरअसल, पूजा एक वर्किंग वुमन है 6 महीने की प्रैग्नेंसी लीव के बाद वह अपनी 6 महीने की बेटी को छोड़कर रोजाना औफिस जाती है. हालांकि उसका औफिस घर से 10 मिनट की दूरी पर था, लेकिन घर से औफिस बार-बार आना उसके लिए मुसीबत बन जाता था. वहीं उसकी बेटी को अभी भी मां के दूध की आदत है.

ऐसे में मां का दूध न मिलने के कारण नेहा की बेटी की तबियत खराब रहने लगती है, क्योंकि मां का दूध बच्चे के लिए ताकत औक गुणों से भरपूर रहता है. वहीं पूजा के पति उसे जौब छोड़ने के लिए कहते हैं, लेकिन वह अपनी जौब भी नहीं छोड़ना चाहती है.

ऐसे में पूजा की सहेली और औफिस कलीग उसे एक आसान रास्ता बताते हुए कहती है कि वह जौब ना छोड़े. क्योंकि अब उसकी ब्रेस्ट फीडिंग की परेशान से छुटकारा दिलाने के लिए ब्रेस्ट पंप है. पूजा ने इससे पहले ब्रेस्ट पंप का नाम तो सुना था लेकिन उसने अपने आस पास किसी महिला को अब तक इसका यूज करते नहीं देखा था. इसलिए ये उसके लिए एक नई चीज थी.

मेडेला करे समय की बचत…

पूजा की दोस्त उसे ब्रेस्ट पंप के बारे में बताती है और कहती है कि वह भी मेडेला फ्लेक्स ब्रेस्ट पंप यूज करती थी. इसके जरिए वो कम समय में ही काफी दूध निकाल कर स्टोर कर लेती थी. जिससे बार-बार बच्चे को खुद फीडिंग नहीं करवानी पड़ती थी. साथ ही वह आराम से औफिस का काम और अपने बच्चे का ख्याल रख पाई. इस पूरी प्रोसेस में 10 से 15 मिनिट का समय लगता है.

अगर आप भी एक नई मां है और पूजा की तरह ही आपको भी इन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है तो मेडेला फ्लेक्स ब्रेस्ट पंप आपके लिए एक आसान और सुविधाजनक विकल्प हो सकता है.

Tags:
COMMENT