सवाल-

मैं 42 साल का हूं. कई साल से मार्केटिंग में हूं. हर वक्त सर पर टारगैट पूरा करने का स्ट्रैस बना रहता है. इधर पत्नी के बहुत कहने पर पिछले दिनों मैं ने घर पर ब्लड प्रैशर देखने वाला यंत्र ले लिया है. अक्सर तो रीडिंग नौर्मल आती है, पर कभीकभी ब्लड प्रैशर थोड़ा बढ़ा हुआ होता है. मैं ने सुना है कि ब्लड प्रैशर चैक करते समय कुछ नियमों का पालन करना भी जरूरी होता है. कृपया बताएं कि मुझे उस समय क्याक्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

जवाब-

यह बात सच है कि ब्लड प्रैशर के अपने कुछ सरल नियम हैं, जिन पर ध्यान देना जरूरी है, वरना ब्लड प्रैशर गलत पढ़ा जा सकता है.

जांच से पहले आराम: चाहे घर पर हों या डाक्टर के पास, ब्लड प्रैशर की जांच करवाने से पहले कम से कम 5 मिनट के लिए आराम करें.

ब्लड प्रैशर यंत्र ठीक ऊंचाई पर रखें: ध्यान रखें कि आप की बांह और ब्लड प्रैशर मापक यंत्र उसी स्तर पर रखें जिस स्तर पर आप का दिल है.

कोला और कैफीन वर्जित: ब्लड प्रैशर जांच से 30 मिनट पहले चाय, कौफी, कोल्ड ड्रिंक पीना और धूम्रपान करना मना है.

सही ब्लड प्रैशर मापक यंत्र है जरूरी: ब्लड प्रैशर मापक यंत्र के बांह पर बांधे जाने वाले कफ की चौड़ाई बांह की मोटाई के मुताबिक होनी चाहिए. यदि बांह मोटी है तो साधारण कफ से ब्लड प्रैशर चैक करने पर रीडिंग बढ़ी हुई आती है जबकि बांह पतली और कफ चौड़ा है तो ब्लड प्रैशर कम आता है.

घरेलू ब्लड प्रैशर यंत्र ब्रैंडेड हों: घर पर जिस ब्लड प्रैशर मापक यंत्र का प्रयोग करें, उस की विश्वसनीयता डाक्टर द्वारा ली गई रीडिंग के आधार पर समयसमय पर अवश्य देख  लें.

सच यह भी है कि दिल की धड़कन की रफ्तार, सांस की गति और शरीर के दूसरे जैविक पैमानों के समान किसी भी व्यक्ति का ब्लड प्रैशर हर समय एकजैसा नहीं रहता. हम क्या कर रहे हैं, हमारी शारीरिक और मानसिक अवस्था कैसी है, जैसे बहुत से पहलुओं का उस पर सीधा प्रभाव पड़ता है.

अत: कभी इक्कीदुक्की रीडिंग के थोड़ा बिगड़ने से परेशान होने की जरूरत नहीं. लेकिन ब्लड प्रैशर अगर बढ़ जाएं तो उसे नजरअंदाज करना भी ठीक नहीं. ब्लड प्रैशर बढ़ने से शरीर के सभी प्रमुख अंगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है.

दिल की कोरोनरी धमनियों के संकुचित हो जाने से दिल का दौरा, मस्तिष्क में खून का दौरा बिगड़ने से स्ट्रोक (फालिज), गुरदों की धमनियों में दबाव बढ़ने से गुरदों का फेल्योर, आंखों में रेटिना में रक्तस्राव और शरीर की किसी भी धमनी पर ब्लड प्रैशर बढ़े रहने से भारी नुकसान हो सकता है.

ये भी पढ़ें- मेरी स्किन ड्राई है. उस के लिए कौन सा स्क्रब अच्छा रहेगा?

Tags:
COMMENT