त्योहार जीवन को खुशहाल और रिश्तों को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाते हैं. वे जीवन में जीने का उत्साह और उल्लास का रंग भरते हैं. इतना ही नहीं ये सजनेसंवरने और नएनए पकवान चखने का भी मौका देते हैं. त्योहारों के कारण सभी अपने परिवारजनों से मिलते हैं. ये सैलिब्रेशन रिश्तों में आई दूरियों को भी मिटाते हैं. तो फिर चलिए इन त्योहारों पर पुराने दोस्तों और रिश्तेदारों से रिश्ते की नई शुरुआत करते हैं ताकि जीवन में सिर्फ और सिर्फ खुशियां व प्यार हो.

रिश्तों का महत्त्व

रिश्ते उन महकते फूलों की तरह होते हैं, जो हमारे जीवन में ताजगी और खुशहाली भर देते हैं. रिश्ते न हों तो किसी भी खुशी को जाहिर करने और उसे सैलिब्रेट करने का कोई मतलब नहीं रह जाता. गम हो या खुशी जब तक उसे अपनों के साथ न बांटा जाए उस की महत्ता का पता ही नहीं चलता. रिश्ते ही तो हैं, जो हमें अच्छेबुरे वक्त में संभालते हैं और यह एहसास दिलाते हैं कि हम अकेले नहीं हैं कुछ लोग हमारे साथ हर पल खड़े हैं. यही वजह है कि तीजत्योहारों के समय उन की कमी खलती है. इसलिए अपने रिश्तों को इतना करीबी बनाएं कि हर फैस्टिवल और खास मौके को साथ मनाएं.

रिश्तेदारों से संबंध बढ़ाने के लिए त्योहार अच्छा औप्शन: कब किसे किस तरह की मदद की जरूरत पड़ जाए कहा नहीं जा सकता, इसलिए जरूरत पड़ने पर दोस्तों और रिश्तेदारों से ही मदद की उम्मीद की जा सकती है. लेकिन ऐसा तभी हो सकता है जब उन से आप के संबंध अच्छे हों. अगर ऐसा नहीं है, तो उन्हें अपने करीब लाने का त्योहार अच्छा जरीया होते हैं. इसलिए इस बार उन्हें अपना बनाने के लिए क्यों न पहला कदम आप ही उठाएं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT