पूनम पाठक           

दोस्ती जैसे रिश्ते को शब्दों में बांध पाना मुश्किल है. सच्चा दोस्त वही होता है जो खुशियों से अधिक परेशानी के वक्त आपके साथ खड़ा हो. एक ऐसा दोस्त जो आपके ‘ठीक हूं’ कहने के बाद भी आपकी आंखों को नमी को महसूस कर ले. यूं तो मेरे दोस्तों की संख्या बहुत कम है. लेकिन जो हैं वे सभी दिल के बहुत करीब हैं. ऐसी ही एक दोस्त है राखी.

ये भी पढ़ें- Friendship Day Selfie: हर रिश्ते से बढ़कर है दोस्ती

राखी से अकस्मात हुई अपनी दोस्ती को मैं कभी नही भूल पाती. उसके घर के सामने वाली सड़क पर अपनी बेटी की स्कूल बस का इंतजार किया करती थी मैं और ऐसे ही एक दिन उससे बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ जो कभी न खत्म होने वाले किसी मूल्यवान खजाने में तब्दील हो गया. हम एक दूसरे के साथ खुल कर अपनी भावनाओं और विचारों की साझेदारी करते हैं. जहां एक दूसरे के गुणों की प्रशंसा करते हैं वहीं एक दूसरे की गलतियों की खुलकर आलोचना भी करते हैं. वक्त पड़ने पर एक दूसरे को सही सलाह देते है भले ही वह उस वक्त उसे थोड़ी कड़वी ही क्यों न लगे.

ये भी पढ़ें- Friendship Day Selfie: जिंदगी में दोस्त नहीं दोस्तों में जिंदगी होती है

जिंदगी के कई मुश्किल दौर में राखी ने नाते रिश्तेदारों से पहले मेरी ओर मदद का हाथ बढ़ाया है. हमारी दोस्ती सभी मानको से परे है. वो मेरी सफलता में शामिल होकर मेरी खुशियों को दुगुना कर देती है, जबकि दुखो को बांटकर उन्हें आधा कर देती है. इस तरह उसके साथ बिताया हर पल मेरे लिये खूबसूरत याद बन जाता है. भले ही कभी हम महीनों न मिले हों लेकिन दिल में उसकी याद हर लम्हा बरकरार रहती है. उसकी दोस्ती ने मुझे कई मानो में तराशा है. एक तरफ़ मानसिक तौर पर मुझे मजबूत बनाया है तो दूसरी ओर जिंदादिली से जीना सिखाया है. उसकी सबसे बड़ी खूबी है कि वह अपने सभी रिश्तों के प्रति ईमानदार है. फ्रेंडशिप डे पर मैं उसे खूब सारी बधाई और ढेर सा प्यार कहना चाहूंगी. सच उसकी दोस्ती मेरे लिए प्रकृति का अनमोल उपहार है जिसे मैं ताउम्र संभाल कर रखना चाहूंगी.

ये भी पढ़ें- Friendship Day Selfie: तेरे जैसा यार कहां

एडिट- निशा 

Tags:
COMMENT