मेरा यह लेख पढ़ने से पहले एक बार आप यह इमेजिन करिए कि आप अपनी फैमिली के साथ लौन्ग ड्राइव पर जा रहे हैं, रोड एकदम खाली है. आपने सोचा अरे वाह road  तो खाली है चलो स्पीड बढ़ाते हैं. आपकी स्पीड हुई  100 ,अरे वाह अभी भी कोई नहीं है आसपास,आपकी स्पीड हुई 120,अभी भी कोई नहीं है  स्पीड हुई 160 चलो और तेज करता हूं 180 फिर अचानक आपके सामने से कोई वाहन निकलता है ,और फिर……..  ???????

क्या हुआ? आप इसकी कल्पना भी नहीं कर सकते ,जब आप इसके बारे में सोच नहीं सकते तो आप कर कैसे सकते हैं, इतनी जल्दी क्यों? ओवर स्पीडिंग  के  कारण  हर साल जाने कितने  मासूमों  की जान चली जाती है. कुछ आंकड़ों के अनुसार –

एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, सड़क दुर्घटनाओं के कारण भारत में 1 साल में 58. 58 बिलियन अमेरिकी डॉलर का नुकसान होता है, जिसका मूल्य देश की GDP के लगभग 3 % के बराबर  है. अधिकतम सड़क दुर्घटनाएं ओवर-स्पीडिंग के कारण होती हैं. एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में भारत में 1.5लाख से भी अधिक लोगों की जान गई है.

W.h.o. की रिपोर्ट के अनुसार विश्व की दुर्घटनाओं से संबंधित मौतों में 11 % हिस्सा भारत का है. रिपोर्ट में सामने आया है कि सड़क दुर्घटनाओं की वजह से सबसे ज्यादा मौतें  तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश में हुई हैं. दुर्घटनाओं में हुई मौतों में 18 से 60 वर्ष की आयु के लोगों की 84.7% हिस्सेदारी पाई गई है.

ट्रैफिक उल्लंघनो के  तहत, 5.8% लोग सड़क पर गलत साइड पर ड्राइव करने से, 2.4 % मोबाइल का उपयोग करने से और 2.8% लोग शराब पीकर गाड़ी चलाने से मारे गए हैं.

वैसे तो हमारी सरकार द्वारा ट्रैफिक नियमों का पालन ना करने पर कठोर दंड का प्रावधान है पर वाहन चलाते समय यातायात के नियमों का पालन करना हमारी भी जिम्मेदारी है.

आइए जाने की ओवरस्पीडिंग के कारण होने वाली दुर्घटनाओं से कैसे बचा जाए-

1-स्पीड लिमिट के अंदर गाड़ी चलाए

निर्धारित गतिसीमा से अधिक ड्राइविंग ना करे ,ये न केवल अवैध है बल्कि खतरनाक भी है. सड़क पर जहां गति सीमा 50 किलोमीटर /घंटा है वहां पर 60 किलोमीटर / घंटा की स्पीड से गाड़ी चलाना आपके 20 मिनट बचा तो सकता है लेकिन लेकिन दुर्घटनाओं की संभावना को बढ़ा भी सकता है.  दुर्घटनाओ से बचने का सबसे आसान तरीका निर्धारित गति सीमा के अन्दर गाड़ी चलाना है.

2-गाडी चलते समय दूसरों के साथ रेस  से बचे-

तेज़ गति में  यह अन्य कारों के साथ रेस  रोमांचकारी जरूर हो सकती है  पर सुरक्षित नहीं. ऐसा करने से दंड और दुर्घटनाएं दोनों हो सकती हैं और शायद आपका ड्राइविंग लाइसेंस रद्द भी हो सकता है.सार्वजनिक सड़कों पर अन्य कारों के साथ race लगाना न केवल वाहन के लोगों के लिए खतरनाक है, बल्कि पैदल चलने वालों के लिए भी खतरनाक है, जो सड़कों पर सबसे अधिक असुरक्षित हैं.

3 -अपना ध्यान मार्ग पर रखे –

“मैंने उसे  नहीं देखा! “एक दुर्घटना के बाद इस्तेमाल किया जाने वाला सबसे आम बहाना है। अक्सर दुर्घटनाओ के बाद लोग यही कहते है कि  मै देख नहीं पाया या वो अचानक से सामने आ गया .कई दुर्घटनाएं इसलिए  होती हैं क्योंकि एक चालक सड़क पर क्या हो रहा है, इस पर ध्यान नहीं देता है। इसलिए सतर्क रहे और ये सुनिश्चित  करे की गाड़ी चलते समय आप mobile phone पर बात न करे और फुल वॉल्यूम में गाने न सुने.

हमेशा ये याद रखे की यदि बाकी की गाड़ियां तेज़ रफ़्तार से चल रही है तो लेन को बाईं ओर रखे और तेज़ वाहनों के रास्ते से बाहर रहें। यदि आपको अपने से धीमी गति से चलने वाले वाहन से आगे निकलने की आवश्यकता है, तो दाईं ओर से ओवरटेक  करें। ओवरटेक करने से पहले संकेतक का उपयोग करके. अपने इरादे स्पष्ट करें.

4-अगर आप परेशान है या अस्वस्थ्य है तो ड्राइव न करे

अगर आप अधिक  काम करने की वजह से तनावग्रस्त है या थके हुए है तो गाड़ी मत चलाये क्योंकि ऐसा होने से आपको गाडी  चलाते समय नींद आ सकती है और फिर दुर्घटना होने से कोई नहीं रोक सकता .अगर आप थका हुआ महसूस  कर रहे है तो आप सड़क के किनारे गाड़ी लगा ले और थोड़ा आराम कर ले.

5-शराब पीकर गाड़ी न चलाये

शराब पीकर गाड़ी चलाना एक दंडनीय अपराध है इससे न केवल गति तेज़ होती है बल्कि आपके साथ साथ आस पास के लोगों की जान को भी खतरा रहता है.यदि आप किसी ऐसी पार्टी में जा रहे हैं, जहाँ आपको शराब का सेवन करने की संभावना है, तो सुनिश्चित करें कि जो शराब नहीं पिए हुए हो  है वह गाड़ी  चलाये .

6-समय पर पहुंचने के लिए समय पर निकले

इस तेज-तर्रार माहौल में, लोग अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए हमेशा देरी से चल रहे हैं। अगर उन्हें कहीं जाना होता है तो वो निकलते तो देर से है पर पहुँचना  जल्दी चाहते है.सारी  ज़ल्दी उन्हें रोड पर ही होती है. ये सब कारण उन्हें ओवर स्पीडिंग के लिए प्रोत्साहित  करते है हालांकि ये तरकीबें उन्हें कुछ मिनटों के लिए बचा सकती हैं, लेकिन अक्सर दुर्घटनाएं होती हैं। लोगों को यह समझाना जरूरी है कि रेस  ड्राइविंग और ओवर स्पीडिंग द्वारा समय पर पहुंचना उन्हें अपनी जिंदगी से हाथ धोने को मजबूर कर सकता है.

इसलिए, लोगो  को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे अपनी मीटिंग या पार्टीज की पहले से योजना बना लें और अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए पर्याप्त समय रखें। इससे न केवल उनकी गति पर अंकुश लगेगा बल्कि दुर्घटनाओं से भी बचा जा सकेगा।

‘ओवर स्पीड से बचना कोई लापरवाही नहीं बल्कि समझदारी हैं.  समझदार इंसानों ने कहा है, दुर्घटना से देर भली मतलब हम अपने मंजिल पर कुछ समय देर से पहुंचे लेकिन सुरक्षित पहुंचे. ‘

रक्षात्मक ड्राइविंग सुस्त लग सकती है, पर खतरनाक नहीं…


Hyundai रखता है आपकी सभी जरूरतों का ख्याल और करता है आपकी सुरक्षित यात्रा के लिए हर प्रयास. आप भी करें हर ट्रैफिक नियम का पालन और रखें अपना और अपने चाहने वालों का ध्यान.

Tags:
COMMENT