दीपांजलि ने कोलंबिया से ग्रैजुएशन कर कौरपोरेट जौब शुरू की. लेकिन एक दिन जब उन्हें पता चला कि भारत में सिर्फ 12% महिलाएं ही पर्सनल हाइजीन प्रोडक्ट्स यूज करती हैं तो उन्होंने तुरंत जौब छोड़ने का निर्णय लिया ताकि वे इस दिशा में कुछ कर पाएं. उन्होंने ऐसे पैड्स बनाए जो पूरी तरह नैचुरल होने के साथसाथ पर्यावरण को भी किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाते. अब उन का लक्ष्य बस यही है कि महिलाओं को मैंस्ट्रुअल हाइजीन का महत्त्व बता कर प्राकृतिक प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित किया जाए.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT