जीवन में पढाई-लिखाई का सबसे एहम महत्व  है .'बिना पढाई के कोई भी व्यक्ति जीवन में कुछ खास नहीं कर पाता'; यह अक्सर बड़ों को कहते सुना जाता है.

लेकिन यह कहावत हमारे आजकल के नेताओं के ऊपर फिट नहीं बैठती. अगर आज के प्रचलित नेताओं की एजुकेशन की बात करें तो शायद 60 और 40 का अनुपात मिले .

यानी 60% ऐसे होंगे जिन्होंने कुछ खास पढ़ाई नहीं की होगी.

लेकिन आज राजनीति में पूरी तरह से सक्रिय है . उन्हें सरकार चलाना और हर एहम मुद्दों पर अपनी राय रखना बखूबी आता है.

देश की प्रगति के लिए वे अच्छी योजना व कार्य कर रहे है.

आइये आज हम आपको कुछ ऐसे ही नेताओ के बारे में  बताते है.

1. मोदी जी

मोदी ने गुजरात यूनिवर्सिटी से एमए किया है. उन्होंने 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से आर्ट्स में ग्रेजुएशन किया है.

ये भी पढ़ें- नजर: अंधविश्वास या इसके पीछे है कोई वैज्ञानिक तर्क, जानें यहां

2. मेनका गाँधी

उन्होंने केवल इंटरमीडिएट तक ही पढाई की है यानि की सिर्फ बारवीं कक्षा तक ही उन्होंने शिक्षा प्राप्त की है. मेनका गाँधी ने शादी भी बहुत जल्दी कर ली थी उन्होंने महज़ 18 वर्ष की उम्र में ही संजय गाँधी जी के साथ शादी क्र ली थी.  शादी के बाद उन्होंने अपनी एक हिंदी पत्रिका भी शुरू की थी जिसका नाम  सूर्या था.  आज मेनका गाँधी बीजेपी सरकार में एक एहम भूमिका निभाती है.

3. बिहार की मुख्यमंत्री रह चुकी राबड़ी यादव

उन्होंने  कोई भी शिक्षा प्राप्त नहीं की है.उनकी शादी 14 साल की उम्र में लालू प्रसाद यादव से हो गयी थी.  बाद में कुछ एहम घोटालों की वजह से लालू प्रसाद को जेल हो गयी और उन्होंने अपनी सारी बागडोर अपनी पत्नी के हाथों सौंप दी.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT