भारत में लड़कियों की कमी अब खलने लगी है और कई इलाकों में दूसरे इलाकों से बीवियां खरीद कर लाई जा रही हैं. दिल्ली प्रैस की पत्रिका सरस सलिल ने रिपोर्ट प्रकाशित की है जिस में हरियाणा के एक गांव में कई औरतों से बात करने पर पता चला कि दूसरे इलाकों की आई औरतों को कुछ परेशानियों का सामना तो करना पड़ता है पर उन के घर वालों को दहेज आदि पर पैसा खर्च नहीं करना पड़ता. अमेरिका अब दूसरी तरह की दिक्कत से जूझ रहा है. वहां 25 से 35 वर्ष के कालेज ग्रैजुएट लड़कों की कमी हो गई है और 100 लड़कियों के पीछे 85 लड़के रह गए हैं. बहुत सी लड़कियां या तो जैसेतैसे शादी करने को मजबूर हैं या फिर अकेले रहने को. अमेरिका में अश्वेत कालों को निजी कंपनियों द्वारा चलाई जा रही जेलों में बुरी तरह ठूंसा जा रहा है और यह एक भारी भयानक षड्यंत्र बन गया है. इस की शिकार वे लड़कियां भी हैं जो उन जेलों में बंद बहुधा निर्दोष युवकों से शादी कर सकती थीं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT