आजकल अकसर महिलाओं को सलाह दी जाती है कि वे घर, औफिस या पब्लिक प्लेस में हुए शारीरिक शोषण के खिलाफ अवाज उठाएं. उन से कहा जाता है कि जब तक वे अपना विरोध प्रकट नहीं करेंगी, स्थिति को बदलना नामुमकिन है पर जैसे ही कोई महिला ऐसी घटना के खिलाफ अपनी आवाज उठाती है, उसे ट्रोल किया जाता है. सोशल मीडिया पर उस के खिलाफ जहर उगलना शुरू हो जाता है, उस पर फिर यह इलजाम लगाया जाता है कि वह पब्लिसिटी पाने के लिए यह सब कर रही है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT