अंधविश्वासी होने का दोष भले ही महिलाओं पर ज्यादा मढ़ा जाता हो पर पुरुष भी अंधविश्वास में पीछे नहीं हैं. जन्मपत्री, पूजापाठ और धर्मगुरुओं पर विश्वास के मामले में वे महिलाओं को पीछे छोड़ देते हैं. जो पुरुष धार्मिक कर्मकांडों में ज्यादा रुचि लेते हैं ऐसा नहीं है कि वे बहुत जागरुक हो गए हों. अकसर इस तरह वे ज्यादा अहंकारी और अपने कार्यक्षेत्र में खुद की मनमानी चलाने वाले होते हैं. ऐसे लोग घर में स्त्रियों पर ज्यादा हुक्म चलाने वाले और स्वेच्छाचारी होते है. उन का अंधा विश्वास उन्हें आत्मकेंद्रित करता है. ये उपयोगी विचारधाराओं को बिना समझे अपने पारंपरिक अंधविश्वासों पर टिके होते हैं. नई विचारधाराएं इन्हें पसंद नहीं आतीं और ये हर उस सोच से खुद को दूर रखते हैं जो उन की पुरानी सोच पर सवाल खड़ा करती है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT