इशिता में ऐसी क्या कशिश थी कि डा. अयान का दिल बेकाबू हो जाता था? एक दिन तो उस ने लोगों के बीच ही इशिता को कस कर बांहों में भर लिया और फिर...
'गृहशोभा' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now