गृहशोभा विशेष

‘‘मुझसे फ्रेंडशिप करोगे’’, ‘‘हवा हवाई’’ सहित सात आठ फिल्मों में अभिनय कर चुके अभिनेता साकिब सलीम एक तरफ तापसी पन्नू के संग अपने रोमांस को लेकर चर्चा में हैं, तो दूसरी तरफ वह नौ मार्च को प्रदर्शित होने वाली रोमांटिक एडवेंचरस और कौमेडी फिल्म ‘‘दिल जंगली’’ में सुमित उप्पल का रोमांटिक किरदार निभा रहे हैं. साकिब सलीम खुद को वैलेंटाइन डे का प्रबल समर्थक बताते हैं.

फिल्म ‘‘दिल जंगली’’ के अपने किरदार सुमित उप्पल की प्यार की जो सोच है, उसके साथ उनके निजी जिंदगी की सोच के मेल खाने की चर्चा करते हुए साकिब सलीम ने कहा- ‘‘सुमित उप्पल की प्यार को लेकर जो सोच है, उससे मेरी निजी जिंदगी की प्यार की सोच कहीं कहीं मेल खाती है, कहीं नहीं भी. कलाकार के तौर पर हर किरदार में कुछ प्रतिशत साकिब होता ही है. उसके बाद उसे बनाने की कोशिश करता हूं. सुमित उप्पल में पचास प्रतिशत साकिब है, क्योंकि इसे मैने जिया है, बाकी मेरा द्वारा गढ़ा गया है.’’

इन दिनों युवा पीढ़ी के बीच प्रचलित ‘‘काफी डे वाला प्यार’’ को प्यार न मानते हुए साकिब सलीम कहते हैं

‘‘यह प्यार नही, सिर्फ शारीरिक आकर्षण है, जो कि गलत है. प्यार तो वह होता है, जो एक नजर में हो जाए, आप मन की बात कह जाएं. और प्यार हमेशा जिंदा रहे, फिर भले मिले या ना मिले. मैं तो वह लड़का हूं, जो ‘वीर जारा’ जैसी फिल्म देखकर रोता है.’’

bollywood

वह आगे कहते हैं- ‘‘मेरी राय में ‘काफी डे’ वाला प्यार इसलिए शुरू हो गया है, क्योंकि अब लोगों के पास औप्शन बहुत हैं. अब वक्त ऐसा बदला है कि लोग तलाक होने पर शर्मिंदा महसूस नहीं करते. अब लोग सुख सुविधा तलाशने और दूसरों को दिखावे वाली जिंदगी जीते हैं. लोग सोचते हैं कि शादी के दस साल हो गए, पर बन नही रही है, तो छोड़ दो.’’

वह आगे कहते हैं- ‘‘प्यार तो सदैव बना रहता है. इंस्टाग्राम पर ह्यूमन औफ बौम्बे करके एक पेज है. इसमें 102 साल के एक पति पत्नी की कहानी आयी थी. शायद मुंबई के नजदीक मीरा रोड के रहने वाले थे. पत्नी की मौत के दो घंटे बाद ही पति की भी मौत हो गयी. ऐसा इनके बीच प्यार था. दोनों ने 76 साल एक साथ जिंदगी जी. दोनों हर दिन कम से कम एक घंटे तक गार्डेन में जाकर बैठते थे. तो यह प्यार है.’’

वह प्यार का एक अलग उदाहरण देते हुए कहते हैं- ‘‘मैं अपने एक दोस्त को जानता हूं, जिसने 34 साल पहले किसी से प्यार किया था, लेकिन दोनों मिल नहीं पाए. दोनों की अलग अलग जगह शादी हो गयी. अब उनके बच्चों की भी शादियां हो रही हैं. पर दोनों एक दूसरे से अभी भी प्यार करते हैं. प्यार ऐसा अहसास है, जिसमें शारीरिक मिलन की जरुरत नही होती. मुझे जब भी प्यार हुआ है, तो ऐसा ही हुआ है कि मुझे उसके बिना रहा नही गया. फिर चाहे आप मुझे फिल्मी कह लो. अब लोग प्यार नही बल्कि सामने वाले की संपत्ति से या उसके शरीर से आकर्षित होकर करते हैं. यह प्यार नहीं अपराध है.

साकिब सलीम आगे कहते हैं- ‘‘कुल मिलाकर यह समय ऐसा है, जहां लोग सिर्फ मौके की तलाश में रहते हैं. इसलिए मैं लोगों से कहता हूं कि आप शादी तभी करें, जब आप शादी करने के लिए पूरी तरह से तैयार हों. यदि आपको पहली शादी करना गलती लगी, तो इस बात की क्या गारंटी है कि दूसरी बार गलती नही होगी?

वेंलेटाइन डे की चर्चा करते हुए साकिब सलीम कहते हैं- ‘‘हर किसी को मनाना चाहिए. सच कहूं तो यह दिन आर्चीस वालों ने अपना कार्ड बेचने के लिए बनाया है. मैं तो हर दिन सिर्फ अपनी प्रेमिका से नहीं मां बाप भाई बहन सबसे प्यार करता हूं. मैं अपने दोस्तों से भी कहता हूं कि प्यार करो. प्यार से बढ़कर कोई इमोशन नहीं,  कोई ताकत नहीं. जो लोग वैलेंटाइन डे मनाना चाहते हैं, जरूर मनाएं. प्यार का जश्न मनाना चाहिए. जो लोग वेलेनटाइन डे का विरोध करते हैं, वह गलत हैं. क्योंकि प्यार करना गलत नहीं है.’’

जब हमने उनसे पूछा कि क्या आपको नहीं लगता कि वैलेंटाइन डे के नाम पर प्यार का बाजार वाद हो गया है?

तो साकिब ने कहा- ‘‘यदि ऐसा है, भी तो इसमें गलत क्या है? जिनके पास पैसा है, वह खर्च कर रहे हैं. प्यार करने से भागना नहीं चाहिए. मैं यह कह सकता हूं कि प्यार करने के लिए कोई दिन नही होता. लेकिन दुनिया ने कोई दिन बना दिया है, लोगों के पास पैसा है, तो उन्हें खर्च करने दीजिए. भले आप किसी को गुलाब भी ना दे, लेकिन यदि कोई महंगा गिफ्ट अपने प्रेमी या प्रेमिका को दे रहा है, तो कम से उसे ना रोकें.’’

तापसी पन्नू को अच्छी दोस्त बताते हुए वह कहते हैं- ‘‘ हम दोनों दिल्ली से हैं और अच्छे दोस्त हैं. खुद हम दोनों एक साथ काम करना चाहते हैं. मुझे उनके साथ काम करने में मजा आता है. रोमांस का कोई मसला नहीं है.’’

VIDEO : रोज के खाने में स्वाद जगा देंगे ये 10 टिप्स

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं