बॉलीवुड के ‘मिस्टर परफेक्शनिस्ट’ यानी कि अभिनेता आमिर खान ने अपनी फिल्म ‘दंगल’ का ‘मेकिंग ऑफ दंगल’ वीडियो को बाजार में लाते हुए दावा किया था कि उन्होंने बिना किसी तरह के गलत पदार्थ का सेवन किए अपना वजन 97 किलो तक ले गए और फिर उसे चार पांच माह के ही अंदर 29 किलो घटा भी लिया. अपने शरीर के फिटनेस को लेकर आमिर खान ने कई तरह के दावे किए थे.

लेकिन मुंबई के ही एक फिटनेस ट्रेनर रणवीर अलहाबादिया ने फेसबुक, यूट्यूब, ब्लॉग सहित हर संभव सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर ‘मिस्टर परफेक्शनिस्ट’ की पोल खोलते हुए नवयुवकों को सावधान किया है. अपने इस वीडियो में रणवीर अलहाबादिया ने दावा किया है कि वह आमिर खान के बहुत बड़े प्रशंसक हैं, मगर उन्होंने ‘दंगल’ के लिए अपनी तैयारी व फिटनेस ट्रेनिंग को लेकर जो वीडियो जारी किया है,वह गलत है.

रणवीर अलहाबादिया अपने इस वीडियों में कहते हैं, ‘‘आमिर खान पूरे देश को प्रेरणा देते हैं. पर इस बार वह गलत कर रहे हैं. वह भूल गए हैं कि फिटनेस ट्रेनिंग को लेकर भारत में काफी जागरूकता आ गयी है. एक आम इंसान खानपान पर नियंत्रण रखते हुए फिटनेस ट्रेनिंग लेकर खुद को महज पांच माह के अंदर फिट नहीं कर सकता. उन्हें सही वैज्ञानिक तकनीक की बात करनी चाहिए. आमिर खान ने अपना वजन बढ़ाने के लिए हर हाल में स्टीरॉयड्स का सेवन किया है, जो कि शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं. आमिर खान का दावा है कि उन्होंने महज पांच छह माह में अपना वजन बढ़ाया और फिर पांच-छह माह के ही अंदर अपना वजन घटाकर खुद को फिट रखा. यह गलत है. ऐसा करने के लिए कम से कम पांच छह वर्ष का समय चाहिए. फिटनेस के लिए कई वर्ष तक एक लाइफ स्टाइल अपनानी पड़ती है. फिटनेस ट्रेनिंग भी लेनी पड़ती है. मैं यह सब इसलिए बता रहा हूं, जिससे कोई भी युवक स्टीरॉयड का सेवन कर अपने शरीर को हानि न पहुंचाए.’’

रणवीर ने अपनी बात को साबित करने के लिए अक्षय कुमार का उदाहरण दिया है. वह कहते हैं, ‘‘एक 15 वर्ष के युवक के लिए भी महज खानपान पर नियंत्रण और फिटनेस ट्रेनिंग के बल पर पांच माह में अपना वजन बढ़ाना और पुनः पांच माह में घटाकर फिट होना असंभव है. फिर आमिर खान तो 51 वर्ष के हैं.’’

जब से रणवीर अलहाबादिया का यह वीडियो हर जगह वायरल हुआ है, तब से आमिर खान चुप हैं. देखना है कि वह इस मुद्दे पर कब बात करते हैं.