गृहशोभा विशेष

एक बहुत पुरानी कहावत है कि ‘‘म्यान से निकली तलवार और जुबान से निकली बात वापस नहीं लौटती, वह अपना वार जरुर करती है.’’ लगभग डेढ़ वर्ष पहले फिल्म ‘रंग दे बसंती’ के 15 वर्ष पूरे होने पर आयोजित एक समारोह में प्रसून जोशी ने पूरी मीडिया के सामने अचानक सनी लियोन के खिलाफ जो बयानबाजी की थी, वह अब ‘केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड’ के चेअरमैन बनने के बाद उनके लिए सिरदर्द बन कर सामने आ गया है.

यह एक कटु सत्य है. मजेदार बात यह है कि इस पद पर आसीन होने के बाद ‘संस्कारी’ (ज्ञातब्य है कि प्रसून जोशी अपने गीतों में अश्लीलता व फूहड़ता या द्विअर्थी शब्द परोसने में यकीन नहीं करते) प्रसून जोशी का पहला टकराव सनी लियोन से ही होने जा रहा है. जिसका सबूत यूट्यूब पर लोकप्रियता बटोर रही फिल्म ‘‘भूमि’’ का डांस नंबर ‘‘ट्रिपी ट्रिपी’’ है, जिसमें सनी लियोन बहुत ही कामुक अंदाज में न सिर्फ कमर हिला रही हैं, बल्कि अश्लील अंदाज में सीटी भी बजा रही हैं.

फिल्म ‘भूमि’ का यह डांस नंबर अब सेंसर होने के लिए उस ‘केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड’ के पास जाने वाला है, जिसके चेअरमैन प्रसून जोशी हैं. अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या इस गाने को हरी झंडी मिल पाएगी? सनी लियोन को लेकर दिए गए प्रसून जोशी के बयान व गीतकार के रूप में जिस तरह की उनकी छवि है, उसके चलते तो इस गाने को ‘केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड’ से हरी झंडी मिलने की संभावना नजर नहीं आती. बौलीवुड में चर्चाएं गर्म है कि प्रसून जोशी को चिढ़ाने के मकसद से ही शायद सनी लियोन ने फिल्म निर्माता से कह कर फिल्म ‘‘भूमि’’ के इस गाने को पहले ही ‘यूट्यूब’ पर डलवा दिया है.

वास्तव में 25 जनवरी 2016 में जब फिल्म ‘‘रंग दे बसंती’’ के प्रदर्शन के 15 वर्ष पूरे होने का समारोह आयोजित हुआ, तो इस समारोह में एक पत्रकार ने आमिर खान से सवाल किया था कि क्या वह सनी लियोन के साथ फिल्म में अभिनय करना पसंद करेंगे. इस पर आमिर खान ने कहा था, ‘‘जब मैंने सनी जी का इंटरव्यू चैनल पर देखा, तो मुझे बुरा लगा. उनसे जिस तरह के सवाल पूछ जा रहे थे, वह भी मुझे बुरा लगा. उनसे सवाल पूछा गया कि यदि आपको आमिर खान के साथ काम करने का मौका मिला तो करेंगी. शायद उनका जवाब था-नहीं! मुझे यह भी ठीक नहीं लगा. मुझे लगा कि वह ऐसा क्यों कह रही हैं. मेरा यह मानना है कि यदि कहानी सही हो, किरदार सही हो और उन किरदारों में हम दोनों फिट बैठते हों, तो मुझे कतई समस्या नहीं है उनके साथ काम करने में. उनकी निजी जिंदगी जो है, उससे मेरा कोई लेना देना नहीं है. वह एक इंसान हैं. वह एक औरत हैं. मैं उनकी इज्जत करता हूं’’

लेकिन आमिर खान की बात पूरी होने से पहले ही प्रसून जोशी ने माइक लेकर सनी लियोन के खिलाफ अपने विचार रखने शुरू कर दिए थे. जबकि इस पूरे प्रकरण में किसी भी पत्रकार ने प्रसून जोशी से कोई सवाल नहीं किया था. बहरहाल, प्रसून जोशी ने धाराप्रवाह बोलते हुए कहा था, ‘‘मैं एक प्वाइंट कहना चाहूंगा कि किसी का कोई प्रोफेशन बहुत अच्छा चलता होगा, उसकी निंदा नहीं करनी चाहिए. हम कलाकार के नाम पर व्यवसाय का बहुत ज्यादा महिमा मंडन करना शुरू कर देते हैं. यह जरुरी नहीं कि किसी के जीवन में जुड़ा व्यवसाय समाज के लिए अच्छा काम कर रहा हो. समाज के लिए किसी न किसी रूप से सकारात्मक होना चाहिए. क्योंकि सवाल उनका उठा है, तो मैं कहना चाहता हूं कि सनी लियोन का जो व्यवसाय है, उसकी मैं कतई इज्जत नहीं करता हूं. मैं नहीं चाहूंगा कि उस व्यवसाय से हमारी युवा पीढ़ी प्रेरित हो. लेकिन उसके बारे में किसी व्यक्ति को कटघरे में खड़ा करना किसी भी कलाकार को शोभा नहीं देता. लेकिन इसका यह मतलब नहीं लगाया जाना चाहिए कि कल को आप कहें कि यह ड्रग डीलर है, यह इसका व्यवसाय है. यह इसका निजी मसला है. हो सकता है कि मैं उसकी इज्जत न करुं. मुझे लगता है कि यह उसका व्यवसाय गलत है. पर जब वह मेरे सामने आएगा, तो क्या मैं उसे बेइज्जत करुंगा, जी नहीं. उसका सम्मान नहीं करुंगा, तो शायद इसके लिए मेरा कल्चर मुझे इजाजत नहीं देगा. लेकिन साथ साथ उस व्यवसाय का महिमा मंडन भी मैं नहीं करुंगा. यदि कोई व्यवसाय समाज के लिए हानिकारक है, तो उसकी आलोचना की जानी चाहिए.’’

प्रसून जोशी के इस बयान पर बौलीवुड दो भागों में बंट गया था. एक तबका प्रसून जोशी के साथ खड़ा था. इस तबके का मानना था कि अगर प्रसून जोशी पौर्न को गलत मानते हैं, तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है. मगर बौलीवुड का एक तबका प्रसून की आलोचना कर रहा था. बौलीवुड के यह दोनों तबके आज भी फिल्म निर्माण से जुड़े हुए हैं.

उधर, प्रसून जोशी के इस बयान पर सनी लियोन ने पलटवार करते हुए कहा था, ‘‘यह प्रसून जोशी कौन हैं. मुझे अब गूगल सर्च में जाकर देखना पड़ेगा कि वह कौन हैं. उसके बाद ही मैं कुछ कह सकूंगी.’’ उसके बाद सनी लियोन ने ट्विटर पर लिखा था, ‘‘मैं नकारात्मकता के पीछे नहीं भागती. मैं सिर्फ सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ती हूं. मेरे बारे में बुरा कहने वालों को मैं ट्रैक नहीं करती.’’

पर अब सनी लियोन को भी पता चल गया होगा कि प्रसून जोशी कौन हैं. पद्मश्री से सम्मानित प्रसून जोशी प्रसिद्ध लेखक व गीतकार होने के साथ ही कई पुरस्कार बटोर चुके हैं और अब वह उस ‘केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड’ के चेअरमैन हैं, जिसके पास सनी लियोन की फिल्में व उनके म्यूजिक वीडियो आदि सेंसर प्रमाणपत्र के लिए जाने वाले हैं.

इन दिनों बौलीवुड में जिस तरह की फिल्में बन रही हैं और प्रसून जोशी की जो अपनी सोच व समझ है, उसी के चलते प्रसून जोशी ने कह दिया है कि वह ‘‘केंद्रीय फिल्म प्रमाण बोर्ड’’ के रोजमर्रा के कामकाज में दखलंदाजी करने की बजाय सलाहकार की भूमिका निभाएंगे. इस तरह प्रसून जोशी ने तो अपनी तरफ से बौलीवुड के हर तबके को एक संदेश दे दिया है. पर तमाम लोगों को फिल्म ‘‘भूमि’’ और इसके गीत ‘‘ट्रिपी ट्रिपी…’’ के पारित होने का इंतजार है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं