बीस साल पुराने काला हिरण शिकार मामले में गुरुवार को जोधपुर की चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की कोर्ट ने सलमान खान को दोषी करार दिया. इस केस में सह आरोपी रहे सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम कोठारी संदेह के लाभ पर बरी हो गए. सीजेएम देव कुमार खत्री ने सलमान को पांच साल कारावास की सजा सुनाई और 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया. इसके बाद सलमान को जोधपुर सेंट्रल जेल भेजा गया.

सलमान चौथी बार जोधपुर जेल गए हैं. इससे पहले 1998, 2006 और 2007 में सलमान कुल 18 दिन जेल में रहे थे. सलमान के वकीलों ने जमानत अर्जी दाखिल की है. चूंकि सजा तीन साल से ज्यादा की है, इसलिए इस पर ऊपरी अदालत यानी सेशन कोर्ट में सुनवाई होना बाकि है. बता दें कि यह मामला सितंबर-अक्टूबर 1998 का है. तब ये सभी फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के सिलसिले में जोधपुर में थे. सलमान और उनके साथियों पर चिंकारा और काले हिरणों (ब्लैक बक) के शिकार का आरोप लगा था. सलमान पर आर्म्स एक्ट के तहत भी केस दर्ज हुआ था.

सलमान बौलीवुड के ऐसे अकेले सितारे नहीं हैं जिनके खिलाफ ऐसे मामले चल रहे हों. भारत के कई ऐसे सितारें हैं जो किसी न किसी आरोप में अदालतों के चक्कर काट चुकें हैं या आजतक काट रहे हैं. बौलीवुड के कुछ एक सितारे तो ऐसे भी हैं जो जेल की हवा खा चुके हैं. आइए जानते हैं उन सितारो के बारे में और उनसे जुड़े केस के बारें में-

संजय दत्त

कचहरी के चक्कर काटने वाले सितारों में सबसे ऊपर नाम आता है संजय दत्त का. संजय दत्त पुणे के यरवदा जेल में टाडा कानून के तहत सजा काट चुके हैं. पचपन वर्षीय संजय को 1993 में मुंबई में हुए सीरियल बम धमाकों के दौरान अवैध हथियार रखने के लिए गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के बाद वह अक्टूबर 1995 में बेल पर बाहर आए लेकिन दिसंबर में उन्हें फिर गिरफ्तार कर लिया गया. इस मामले में दत्त कई बार जेल गए और फिर 16 मई, 2013 को टाडा कानून के तहत उन्हें पांच साल की सजा हुई.

सैफ अली खान

सलमान के एक और दोस्त सैफ अली खान भी सलमान के साथ काला हिरण शिकार मामले के हिस्सेदार थे, हलांकि वे संदेह के लाभ के बल पर इस केस से बरी हो गए हैं. इसके बाद साल 2004 में उन पर हवाला के जरिए एक महंगी कार खरीदने का आरोप भी है. सैफ बड़ी मुसीबत में तब आए जब साल 2012 में उन पर मुंबई के ताज होटल में एक बिजनेसमैन से हाथापाई के आरोप लगे. सलमान और सैफ अच्छे दोस्त हैं लेकिन उन्होंने ‘हम साथ साथ हैं’ के अलावा कभी साथ में काम नहीं किया.

नवजोत सिंह सिद्धू

भारत के स्टार ओपनर रहे और अब टीवी पर्सनैलिटी नवजोत सिंह सिद्धू पर 1988 में गैर इरादतन हत्या का मामला चला था. सिद्धू पर आरोप था कि एक पार्किंग लाट में हुए झगड़े में उन्होंने एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी. सिद्धू को इस आरोप के चलते जेल भी जाना पड़ा था और साल 2006 में उन्हें तीन साल की सजा भी हुई थी. सिद्धू ने इस सजा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी और सुप्रीम कोर्ट ने इस सजा पर स्टे लगाया था.

शाहरुख खान

शाहरूख खान वैसे तो एक साफ छवि के अभिनेता हैं लेकिन दो मौके ऐसे भी आए हैं जब उन्हें कचहरी के चक्कर लगाने पड़े हैं. पहला 2012 में वानखेड़े स्टेडियम में उनके सुरक्षाकर्मियों के साथ हुए झगड़े से जुड़ा है. सुरक्षाकर्मियों ने उन पर धमकी और अभद्र भाषा का इस्तेमाल का आरोप लगाया था.

दूसरा मुद्दा 1993 में आई फिल्म ‘माया मेमसाब’ के दौरान एक पत्रकार को शाहरूख के कथित तौर पर धमकी देने का है. इस मुद्दे के चलते शाहरूख को काफी समय थाने में ही बिताना पड़ा था. वह तब तक थाने में रहे जब तक कि पत्रकार से उनकी सुलह नहीं हो गई.

फरदीन खान

फिल्म ‘जंगल’ और ‘प्यार तूने क्या किया’ की सफलता को एंजाय कर रहे फरदीन खान की साख को तब गहरा झटका लगा जब मुंबई की नारकोटिक्स डिपार्टमेंट पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया. फरदीन को साल 2001 में उनकी फिल्म ‘प्यार तूने क्या किया’ रिलीज होने के एक दिन बाद ही कोकीन रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, हालांकि वह इस आरोप से बाइज्जत बरी हो गए थे.

विंदू दारा सिंह

क्रिकेट और बौलीवुड का कौकटेल पुराना है लेकिन इसका सबसे विवादित उदाहरण दिखा साल 2013 में जब विंदू दारा सिंह फिक्सिंग के आरोप में फंसे. दारा सिंह के बेटे विंदू को साल 2009 में बिग बौस जीतने पर काफी लोकप्रियता मिली थी लेकिन साल 2013 में मैच फिक्सिंग में नाम आने पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था.