गृहशोभा विशेष

आज की व्यस्ततम जीवनशैली में लोग भले ही एकदूसरे को समय नहीं दे पा रहे लेकिन उन के बीच शिष्टाचार की कमी नहीं आई, कम से कम इस संदर्भ में कि वे भिन्नभिन्न मौकों पर एकदूसरे को ‘विश’ करना नहीं भूलते, साथ ही गिफ्ट देने/पहुंचाने में देरी नहीं करते. वैसे भी पश्चिमी कल्चर या यों कहें कि मौडर्न कल्चर में गिफ्ट देनेलेने की परंपरा चलन में खूब है.

भारतीय समाज में हालांकि उपहार की परंपरा हमेशा से रही है लेकिन पश्चिम के प्रभाव के चलते यह ज्यादा फलफूल रही है. इस में शक नहीं कि यह मौडर्न परंपरा समाज में मोहब्बत व खुशहाली का प्रतीक बन कर उभरी है. वहीं, इस के चलते गिफ्ट पैकिंग का काम बढ़ा है और लोग घर बैठे इस काम से खासी कमाई कर रहे हैं.

जो दिखता है वही बिकता है, अब ऐसा नहीं रहा बल्कि आज जो खूबसूरत दिखता है वही बिकता है. इसी थ्योरी पर आधारित यह व्यवसाय उन सभी के लिए परफैक्ट है जो अपनी रचनात्मकता और थोड़ी सी रकम के इन्वैस्टमैंट से घर बैठे खासा कमाना चाहते हैं. गिफ्ट पैकिंग एक सदाबहार, फलताफूलता व्यवसाय है.

कैसे करें शुरुआत

गिफ्ट पैकिंग का व्यवसाय शुरू करने के लिए आप 5 से 10 हजार रुपए के निवेश से भी शुरुआत कर सकती हैं. आप चाहें तो इस के लिए ट्रेनिंग भी ले सकती हैं. मार्केट में अपने व्यवसाय को पहचान दिलाने के लिए सर्वप्रथम उसे एक अच्छा नाम दें.

ध्यान रखें, नाम ऐसा हो जिस से रचनात्मकता झलके. उस के बाद उस जगह का निर्धारण करें जहां से आप अपने व्यवसाय की शुरुआत करेंगी. यह जगह घर का कोई कोना भी हो सकता है. साथ ही, आप को चाहिए एक बड़ी टेबल जिस पर रख कर आप गिफ्ट की पैकिंग करेंगी.

पैकिंग के लिए जरूरी सामग्री

पैकिंग के लिए पहली जरूरी सामग्री वैरायटी औफ गिफ्ट रैपिंग पेपर है. पेपर का चुनाव इस आधार पर करें कि आप किस अवसर व किस के लिए पैकिंग कर रही हैं, जैसे बर्थडे पार्टी के लिए बच्चों के हिसाब से आकर्षक पैकिंग पेपर, कौर्पोरेट पैकिंग के लिए न्यूट्रल शेड के पेपर, इस के अलावा हैंडमेड पेपर, एंबोस्ड पेपर, फैंसी रिबन, हैंडमेड गिफ्ट बैग्स, औरगेंजा, टिश्यू, सैलोफेन शीट्स, आकर्षक फ्लावर्स, वुडन, मैटल ट्रे, बौक्सेज, फैवीकौल, कैंची, डबल टेप आदि.

उपहारों के लेनदेन का चलन आजकल विभिन्न अवसरों पर हो रहा है, मसलन शादीविवाह, बच्चे के जन्म, पहले जन्मदिन की पार्टी, मैरिज एनीवर्सरी, कौर्पोरेट गिफ्टिंग, दीवाली, होली, तीज, करवाचौथ तथा दूसरे त्योहारों के अवसर आदि. और्डर प्राप्त करने के लिए आप मौल्स व लोकल व गिफ्ट स्टोर्स से संपर्क कर सकती हैं.

गिफ्ट पैकिंग के लिए ग्राहकों की तलाश आप अपने व्यवसाय के प्रचारप्रसार से कर सकती हैं. आप अपनी कस्टमर फ्रैंडली वैबसाइट बना सकती हैं. इस में आप अपनी गिफ्ट पैकिंग की खूबसूरत पिक्चर्स अपलोड कर सकती हैं. वैबसाइट पर पैकिंग के साइज के अनुसार रेट की जानकारी अवश्य दें, ताकि अगर कोई चाहे तो वहीं से और्डर कर सके. आप सोशल मीडिया पेज भी बना सकती हैं. अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए ग्राहकों के साथ नियमित रूप से संपर्क में रहें. विज्ञापन के लिए पोस्टर, बैनर्स, पैम्फ्लैट्स का प्रयोग भी कर सकती हैं.

सीखें नया नया

आप अपने ग्राहकों का एक फीडबैक रजिस्टर अवश्य रखें ताकि आप के पास उन के कौंटैक्ट डिटेल्स भी रहें साथ ही, आप उन की राय भी जान सकें और बेहतर काम कर सकें. इस जानकारी के आधार पर उन से विभिन्न अवसरों पर पैकिंग के लिए संपर्क कर सकती हैं. अपनी पैकिंग में हमेशा वैरायटी रखें और हमेशा नयानया सीखती रहें. इस व्यवसाय में जब तक आप में रचनात्मकता है, आप बनी रह सकती हैं बिना किसी रिटायरमैंट के.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं