गृहशोभा विशेष

कुशलगृहिणी जानती है कि कैसे पौष्टिक भोजन खिला कर वह अपने परिवार की तंदुरुस्ती कायम रख सकती है. महिलाओं के इसी विश्वास को मजबूत बनाने की कोशिश में 15 जून, 2018 को दिल्ली के शालीमार बाग के मोहन लीला रौयल में दिल्ली प्रैस द्वारा आईटीसी आशीर्वाद सर्वगुण संपन्न कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

कार्यक्रम की शुरुआत रोटी मेकिंग ऐक्टिविटी से हुई. इस के लिए भीड़ में से 3 महिलाओं को बुलाया गया. इन्हें आशीर्वाद सलैक्ट आटे से एकएक रोटी बनानी थी. इन तीनों प्रतिभागियों को ऐसी रोटी बनानी थी जो दिखने में खूबसूरत, छूने में मुलायम और खाने में स्वादिष्ठ हो. तीनों प्रतिभागियों- नीलम, प्रवीण और वीणा गुप्ता ने पूरी तत्परता से इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया. रोटियां बनाने में तीनों निपुण थीं. मगर विजेता वही बनी जिस के हाथ में आशीर्वाद सलैक्ट आटा था क्योंकि, आशीर्वाद आटे से बनी रोटी ही सब से मुलायम और स्वादिष्ठ थी.

फिर मल्टीटास्किंग दीवा कंपीटिशन का आयोजन किया गया, जिस में सरोज विजेता बनीं और दूसरे स्थान पर निर्मल गुप्ता रहीं.

न्यूट्रिशनिस्ट सैशन: न्यूट्रिशनिस्ट नेहा सागर ने मल्टीग्रेन आटे के फायदे बताते हुए कहा कि इस में बहुत पोषक तत्त्व होते हैं, जो कई तरह से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद हैं. इस में मौजूद हाई फाइबर कोलैस्ट्रोल घटाता है और कफ की दिक्कत भी कम करता है. पोटैशियम ब्लडप्रैशर कंट्रोल में रखता है तो आयरन खून की कमी दूर करता है. इस आटे में मौजूद सेलीनियम कैंसर से बचाने में फायदेमंद है और फास्फोरस हड्डी व दांतों के लिए अच्छा है.

शैफ सैशन: इस के बाद शैफ सैशन शुरू हुआ, जिस में शैफ सारिका मेहता ने आशीर्वाद शुगर रिलीज कंट्रोल आटे से लो शुगर लड्डू बनाए. उन्होंने आटा भून कर उस में फ्रैश फ्रूट (पाइनएप्पल) प्यूरी ऐंड किया. बच्चों के लिए उन्होंने इस में कोको पाउडर मिला दिया. थोड़ा पका कर ठंडा किया और उस में

2 चम्मच शहद मिलाया. फिर लड्डू का शेप दे कर इसे गार्निश किया. इस तरह बच्चों और बड़ों दोनों के लायक एक स्वादिष्ठ मगर पोषक डिश तैयार हो गई.

इस के बाद पौपुलर दीवा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. चुने गए 2 प्रतिभागियों को आशीर्वाद पौपुलर आटे के साथ कुछ इनग्रैडिऐंट्स दिए गए, जिस से 15 मिनट में उन्हें कोई डिश तैयार करनी थी. इस प्रतियोगिता में स्टफ पिज्जा बनाने वाली डिंपल गोयल को विजेता घोषित किया गया, क्योंकि पिज्जा काफी मुलायम था और प्रेजैंटेशन भी बेहतर था. दूसरी प्रतिभागी चंचल ने स्टफ परांठा बनाया था.

अंत में रैसिपी कौंटेस्ट के विजेताओं की घोषणा की गई, जिस में आटा कुकीज बना कर नीलम बाधवा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया. जूसी पुआ बनाने वाली मधु गुप्ता दूसरे स्थान पर रहीं. आटा रैविओली बनाने वाली संतोष गुप्ता को तीसरा स्थान मिला.

इवैंट के दौरान हो रही इन प्रतियोगिताओं ने जहां महिलाओं को अपना हुनर सामने लाने का मौका दिया, वहीं आशीर्वाद आटे के पौष्टिक गुणों और सेहत से जुड़े दूसरे राज जान कर उन्होंने अपना ज्ञान बढ़ाया. बीचबीच में पूछे जाने वाले छोटेछोटे सवाल और मिलने वाले गिफ्ट उन्हें लगातार उत्साहित करते रहे. जाते समय सबों को गुड्डी बैग्स दिए गए.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं