Festive Special: घर पर बनाएं बेसन की बर्फी

अक्सर आपने घर में बेसन का हलवा तो जरूर खाया होगा, लेकिन क्या आपने कभी बेसन की बर्फी ट्राय की है. बेसन की बर्फी बनाना आसान है आप इसे चाहें तो कभी भी डिनर में डेजर्ट के रूप में भी अपनी फैमिली या फ्रैंड्स को खिला सकते हैं.

हमें चाहिए

बेसन – 250 ग्राम,

शक्कर – 250 ग्राम,

देशी घी – 200 ग्राम,

दूध – 02 बड़े चम्मच,

काजू – 02 बड़े चम्मच (बारीक कतरे हुए),

बादाम – 02 बड़े चम्मच (बारीक कतरे हुए),

पिस्ता – 01 बड़ा चम्मच (लम्बे कटे हुए),

छोटी इलाइची – 05 नग (छीलकर पीसी हुई)

बनाने का तरीका

– सबसे पहले एक बर्तन में बेसन लेकर उसमें दूध और दो बड़े चम्मच घी डालें और सभी चीजों को अच्छी तरह से मिला लें.

– अब कढ़ाई में देशी घी डालकर गरम करें. घी गर्म होने पर उसमें बेसन डालें और लगातार चलाते हुए अच्छी तरह से भून लें.

– बेसन को एक प्लेट में निकाल कर रख दें. उसके बाद बर्तन में शक्कर और 1/2 कप पानी डालें और चलाते हुए पकाएं. जब शीरे में दो तार की चाशनी बनने लगे, तो उसमें बेसन डाल दें और चलाते हुए पकाएं.

– साथ ही इसमें इलाइची पाउडर, बादाम और काजू भी डाल दें. जब बेसन का मिश्रण जमने वाली स्थिति में पहुंच जाए उसे गैस से उतार लें.

– अब बेसन की चक्की जमाने की बारी है. इसके लिए एक समतल थाली में थोड़ा घी डालकर उसकी सतह चिकनी कर लें. इसके बाद बेसन का मिश्रण थाली में कलछी की सहायता से बराबर फैला दें.

– बर्फी के ऊपर कतरे हुए पिस्ता डाल दें और चम्मच की सहायता से बर्फी की सतह को बराबर कर दें औद 2 घंटे के लिए रख दें. और ठंडा-ठंडा डेजर्ट में अपनी फैमिली को परोसें.

Festive Special: घर पर बनाएं टेस्टी और हेल्दी लौकी का हलवा

अक्सर आपने घर पर सूजी का हलवा खाया होगा. सूजी का हलवा टेस्टी होता है, लेकिन क्या आपने कभी हेल्दी लौकी का हलवा खाया है. लौकी का हलवा खाने में टेस्टी और बनाने में आसान होता है. लौकी का हलवे की रेसिपी आज हम आपको बताएंगे, जिसे आप अपनी फैमिली और फ्रैंड्स को खिला सकते हैं.

लौकी – 01 किग्रा (पतली),

शक्कर – 300 ग्राम,

मावा (खोया) – 200 गाम,

देशी घी – 02 बड़े चम्मच,

काजू – 02 बड़े चम्मच (महीन कतरे हुए),

किशमिश – 02 बड़े चम्मच (डंठल तोड़ कर धुले हुए),

पिस्ता – 01 छोटा चम्मच (महीन कतरे हुए),

इलाइची– 05 (पिसी हुई)

बनाने का तरीका

सबसे पहले लौकी को छील कर धो लें और फिर उसे चारों ओर घुमा-घुमा कर कद्दूकस कर लें और बीज वाला हिस्सा अलग कर दें.

अब लौकी को कढ़ाई में डालें और मध्यम आंच पर पकाएं। दो-तीन मिनट के बाद लौकी में शक्‍कर मिला दें और उसे चलाते हुए पकाएं.

कुछ ही समय में लौकी का छूटने लगेगा. जब लौका का पानी छूट जाए, तो गैस की आंच तेज कर दें और पानी खत्म होने तक चलाते हुए पकाएं. जब लौकी का सारा पानी खत्म हो जाए, उसमें घी डाल दें और चलाते हुए भूनें.

लगभग 5 मिनट तक लौकी को भूनने के बाद उसमें मावा (खोया) और किशमिश डाल दें और उसे चलाते रहें. लगभग 5-6 मिनट बाद गैस बंद कर दें और कढ़ाई में ऊपर से इलायची पाउडर छिडक दें. अब आप इसे अपनी फैमिली को फ्रिज में रखकर ठंडा परोसें.

Festive Special: घर पर बनाएं सोया बिरयानी

अक्सर लोगों के सामने बिरयानी का नाम लिया जाए तो वह नौनवेज बिरयानी को खाना पसंद करते हैं, लेकिन जो लोग वेजीटेरियन हैं कि वह बिरयानी का मजा नहीं ले सकते. इसीलिए आज हम आपको सोया बिरयानी के बारे में बताएंगे, जिससे आपके घर वाले वेज बिरयानी खाने पर मजबूर हो जाएंगे.

हमें चाहिए

बासमती चावल – 1 1/2 कप,

सोयाबीन – 01 कप,

प्याज – 01 (कटा हुआ),

दही – 02 बड़े चम्मच,

लाल मिर्च पाउडर – 02 छोटे चम्मच,

हल्दी पाउडर – 1/2 छोटा चम्मच,

बिरयानी मसाला – 01 छोटा चम्मच,

तेल – 02 बड़े चम्मच,

अदरक-लहसुन पेस्ट – 01 छोटा चम्मच,

पुदीना पत्ता – 1/4 कप (कटी हुई),

धनिया पत्ती – 1/4 कप (कटी हुई),

लौंग – 03 नग,- तेज पत्ता_Cassia – 02,

दालचीनी – 01 टुकड़ा,

नमक – स्वादानुसार

बनाने का तरीका

– सबसे पहले सोयाबीन को गर्म पानी में 1/2 घंटा भि‍गो दें, फिर उसे एक उबाल आने तक पकाएं. इसके बाद सोयाबीन को ठंडा कर लें.

– ठंडी होने पर सोयाबीन का पानी निचोड़ लें, फिर उसमें लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर और नमक मिला दें. और उसे 15 मिनट के लिए ढक कर रख दें. अब तवा गर्म करें और उसपर सोयाबीन को भून लें.

– कड़ाई में तेल गर्म करें और उसमें दालचीनी, तेजपत्ता और लौंग डालें. एक मिनट बाद अदरक-लहसुन का पेस्ट डालें और एक मिनट तक भूनें. इसके बाद प्याज डालें और उसे सुनहरा होने तक भूनें.

– प्याज भुन जाने पर उसमें पुदीना डालें और तीस सेकेंड तक भून लें. इसके बाद कड़ाही में दही, लाल मिर्च, हल्दी और बिरयानी मसाला पाउडर डालें और अच्छी तरह से भूनें.

– इसके बाद कड़ाही में दो कप पानी डालें और उसमें एक उबाल आने दें. उबाल आने के बाद कड़ाही में चावल और धनिया डालें और मिला लें. उसके बाद कड़ाही को ढ़क दें और मध्यम आंच पर पकाएं.

– जब चावल आधा पक जाए, तो उसमें सोयाबीन डाल दें और उसे ढक कर मध्यम आंच पर 6-7 मिनट तक पकाएं. फिर गैस बंद कर दें.

Food Special: लंच में परोसें टेस्टी पंजाबी छोले

पंजाब गाना और खाना हर किसी को पसंद आता है, लेकिन क्या आप वही टेस्ट बना पाते हैं. चाहे आप भारत में कहीं भी रह रहें हों आपको पंजाबी खाना हर जगह मिल जाएगा. इसीलिए आज हम आपको पंजाबी छोले की खास रेसिपी बताएंगे, जिसे आप अपनी फैमिली को डिनर में चावल या रोटी के साथ परोस सकती हैं.

हमें चाहिए

काबुली चने (सफेद चने – 01 कटोरी,

पनीर – 100 ग्राम (क्यूब्स में कटा हुआ),

टमाटर- 3-4 (मीडियम साइज),

प्याज – 01 नग,

हरी मिर्च – 3-4 नग,

रिफाइंड तेल – 02 बड़े चम्मच,

अदरक पेस्ट – 01 छोटा चम्मच,

धनिया पाउडर– 01 छोटा चम्मच,

जीरा – 1/2 छोटा चम्मच,

लाल मिर्च पाउडर – 1/2 छोट चम्मच,

गरम मसाला – 1/2 छोटाचम्मच,

अमचूर पाउडर – 1/4 छोटा चम्मच,

खाने का सोडा़ – 1/4 छोटी चम्मच,

हरा धनिया – 02 बड़े चम्मच (बारीक कतरा हुआ),

नमक – स्वादानुसार.

बनाने का तरीका

– सबसे पहले काबुली चनों को रात भर के लिये भिगो दें. भीगने के बाद चनों को धो कर कुकर में रखें. कुकर में एक छोटा गिलास पानी, खाने का सोडा़ और नमक मिला दें.

– इसके बाद कुकर का ढक्कन बन्‍द कर दे और उसे गैस पर तेज आंच में उबालें. जब कुकर में 1 सीटी आ जाए, गैस की आंच धीमी कर दें. 5 मिनट पकने के बाद गैस ऑफ कर दें और कुकर की गैस अपने अाप निकलने दें.

– जब तक छोले ठंडे हो रहे हैं, एक पैन में 2 छोटे चम्मच तेल डाल कर गरम करें. तेल गरम होने पर उसमें पनीर के टुकड़े डाले और उन्हें हल्का सा तल लें.

– इसके बाद पैन में गरम मसाला और आधा हरा धनिया मिला दें और चलाकर इसे उतार कर अलग रख दें. अब मिक्सर में टमाटर, हरी मिर्च, अदरक को बारीक पीस लें.

– कढ़ाई में तेल गर्म करें. गरम तेल में जीरा डालें और भून लें. जीरा भुनने के बाद उसमें प्याज मिक्‍स करें और भून ले. प्याज भुन जाने के बाद कढ़ाई में अमचूर पाउडर, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और टमाटर अदरक का पेस्ट डाल कर भून लें.

– जब मसाला तेल छोड़ दे, उसमें एक कप पानी डाल कर उबाल आने तक पकायें. उबाल आने पर कढ़ाई में उबले हुए छोले डाल दें और चला दें. अगर आपको छोले की तरी ज्यादा गाढ़ी लग रही हो, तो इसमें आवश्यकतानुसार और पानी मिला दें और उसे पका लें.

– इसके बाद कढ़ाई में तले हुए पनीर के मिश्रण को कढ़ाई में डालें और चला दें. 2 मिनट तक पकने दें, फिर गैस बंद कर दें और बची हुई हरी धनिया कढ़ाई में डाल कर चला दें. अब इसे गैस से उतार गरमागरम रोटी या चावल के साथ फैमिली को परोसें.

‘Anupamaa’ के ‘Samar’ पारस कलनावत हुए शो से बाहर, जानें वजह

टीवी सीरियल ‘अनुपमा’ (Anupama) जहां फैंस के बीच अपने लेटेस्ट ट्रैक के चलते सुर्खियों में है तो वहीं हाल ही में समर के फैंस के लिए बुरी खबर सामने आई है. दरअसल, समर के रोल में नजर आने वाले एक्टर पारस कलनावत (Paras Kalnavat) को रातों रात अनुपमा के मेकर्स ने शो से बाहर कर दिया है. वहीं इसके चलते मेकर्स और एक्टर्स आमने-सामने आ गए हैं. आइए आपको बताते हैं पूरी खबर…

सामने आई वजह

बीते दिनों जहां मीडिया में खबरें थीं कि समर यानी पारस कलनावत जल्द ही झलक दिखला जा 10 में नजर आने वाले हैं तो वहीं मेकर्स ने इस पर अपना फैसला सुनाते हुए एक्टर को शो से बाहर कर दिया है. वहीं इस खबर की पुष्टि करते हुए अनुपमा के निर्माता राजन शाही ने एक इंटरव्यू में कहा है कि ‘हम एक प्रोडक्शन हाउस के रूप में कॉन्ट्रैक्ट के उल्लंघन को स्वीकार नहीं करेंगे. इसी कारण हमने एक एक्टर के रूप में उनकी सेवाओं को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया है. हम उन्हें उनके भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हैं.‘

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Rajan Shahi (@rajan.shahi.543)

एक्टर ने कही ये बात

मेकर्स के बयान पर अपना पक्ष रखते हुए एक्टर पारस कलनावत ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘मैं झलक दिखला जा 10 को लेकर काफी उत्साहित हूं. हालांकि मैंने अब तक भी झलक दिखला जा 10 का कॉन्ट्रैक्ट साइन नहीं किया है. मेकर्स को लग रहा है कि मैंने उनके कोई बात छिपाई है. जबकि ऐसा नहीं है. मैं कॉन्ट्रैक्ट साइन होने के बाद मेकर्स को जरूर बताता. लेकिन मैं समझता हूं कि शायद मुझे पहले ही मेकर्स से बात कर लेनी चाहिए थी और फिर शो के बारे में सोचना चाहिए था. वहीं समर के किरदार को लेकर एक्टर ने कहा, बीते एक साल से मेरे रोल में करने के लिए कुछ खास नहीं था. शो में नए नए किरदार आ रहे हैं, जिसके चलते एक और परिवार दिखाया जा रहा है और समर की कोई जरूरत नहीं है. हालांकि मैं पहले ही समझ आ गया था कि अब मेरा किरदार जल्द ही खत्म होने वाला है.’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by anupamaa (@anupamaa_1m)

बता दें, सीरियल में इन दिनों पाखी और अधिक के रिश्ते पर फोकस होते हुए दिख रहा है. वहीं शो के नए प्रोमो में अनुज को अनुपमा की जिंदगी से दूर होते हुए दिखाया जा रहा है, जिसके चलते फैंस काफी परेशान हैं. वहीं समर के शो से निकलने के बाद दर्शकों का क्या रिएक्शन होगा. यह बात देखने लायक होगी.

Anupama: नंदिनी को टक्कर देगी सारा, फैशन देख उड़े फैंस के होश

हाल ही में सीरियल अनुपमा (Anupama) में अनुज के परिवार (Anuj Family) की एंट्री हुई है, जिसमें उसके भैया अंकुश, भाभी बरखा और उसका भाई अधिक और बेटी सारा शामिल है. हालांकि नेगेटिव किरदारों के बीच सारा की एंट्री पौजिटिव दिखाई गई है, जिसे फैंस काफी पसंद कर रहे हैं. वहीं सारा के रोल में एक्ट्रेस अल्मा हुसैन (Alma Hussain) की काफी तारीफें हो रही हैं. इसी के चलते आज हम आपको एक्ट्रेस अल्मा हुसैन के फैशन की झलक दिखाएंगे…

मौर्डन है सारा

सारा यानी एक्ट्रेस अल्मा हुसैन सीरियल में मौर्डन लुक में नजर आती हैं. वहीं रियल लाइफ में भी वह वर्किंग गर्ल हो या वेकेशन मौर्डन लुक कैरी करती हुई नजर आती हैं. पिंक कलर के पैंट ब्लेजर में अल्मा हुसैन बेहद खूबसूरत लग रही हैं. वहीं फैंस उनके इस लुक की तारीफें करते हुए नजर आ रहे हैं.

सादगी में नजर आईं अल्मा

एक्ट्रेस अल्मा हुसैन जितनी मौर्डन हैं उतनी ही सादगी भरे लुक में नजर आती हैं. लाल कलर के अनारकली को कैरी करते हुए एक्ट्रेस को न्यूड मेकअप लुक बेहद खूबसूरत लग रहा है. वहीं एक्ट्रेस की इन फोटोज को देखकर फैंस समर की एक्स गर्लफ्रेंड नंदिनी से एक्ट्रेस की तुलना कर रहे हैं.

इंडियन लुक में लगती हैं खूबसूरत

नंदिनी की तरह एक्ट्रेस अल्मा हुसैन भी इंडियन लुक में बेहद खूबसूरत लगती हैं. लहंगा हो या सूट हर लुक में एक्ट्रेस अल्मा हुसैन का लुक स्टाइलिश लगता है और फैंस उनकी तारीफें करते हुए नजर आते हैं.

बता दें, सीरियल अनुपमा में इन दिनों समर और सारा की बौंडिंग काफी मजबूत हो रही है. जहां सारा ने अनुपमा संग काम करने का फैसला लिया है तो वहीं समर उसे डांस सिखाते हुए नजर आने वाला है. हालांकि देखना होगा कि नंदिनी की बजाय क्या सारा के साथ समर की कैमेस्ट्री फैंस को पसंद आती है या नहीं.

ये भी पढ़ें- ‘कुबूल है’ एक्ट्रेस Surbhi Jyoti पर चढ़ा लाल रंग का खुमार, शेयर की फोटोज

Summer Special: तेज धूप से Skin को बचाएं ऐसे

गरमी में खुद को सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों से बचा कर रखना जरूरी होता है. अब काम तो रुकते नहीं. घर से बाहर निकलना ही पड़ता है. ऐसे में त्वचा पर तेज धूप की वजह से रैशेज पड़ जाते हैं. धूप का प्रभाव मुख्य रूप से चेहरे, गरदन और बांहों पर पड़ता है, क्योंकि शरीर के यही हिस्से हमेशा खुले रहते हैं. इन्हें धूप के असर से बचाने के लिए आप क्या सावधानियां बरतें, आइए जानें:

  1. घर से बाहर छतरी के बिना न निकलें और अच्छे ब्रैंड के साबुन से दिन में 2 बार नहाएं.
  2. दिन में 2 बार सनब्लौक क्रीम का उपयोग करें. यह क्रीम यूवी किरणों से त्वचा की रक्षा करती है.
  3. सूती वस्त्रों का प्रयोग करें और सारे शरीर को ढक कर रखें.
  4. सनब्लौक क्रीम खरीदते समय सनप्रोटैक्शन फैक्टर यानी एसपीएफ की जांच कर लें.

कपड़ों का चुनाव

  1. कपड़े हमेशा हलके रंग के पहनें. इस से गरमी भी कम लगती है और व्यक्तित्व भी आकर्षक लगता है.
  2. इन दिनों टाइट कपड़े नहीं पहनने चाहिए. पैंट या स्कर्ट अथवा साड़ी तो डार्क कलर की हो सकती है, लेकिन ध्यान रहे कि कमर से ऊपर के कपड़े हलके रंग के होने चाहिए.
  3. काम पर जाती हैं, तो सूती कपड़ों का ही प्रयोग करें.
  4. वैसे जहां तक हो सके शिफौन, क्रैप और जौर्जेट का इस्तेमाल अधिक करें. बड़ेबड़े फूलों वाले और पोल्का परिधान भी इस मौसम में सुकून देते हैं.
  5. ग्रेसफुल दिखने के लिए कौटन के साथ शिफौन का उपयोग कर सकती हैं.
  6. एक और फैब्रिक है, लिनेन. इस का क्रिस्पीपन इसे खास बनाता है.
  7. फैब्रिक्स का बेताज बादशाह है डैनिम. इस का हर मौसम के अनुकूल होना ही इसे खास बनाता है. लेकिन इस मौसम में पहना जाने वाला डैनिम पतला होना चाहिए. मोटा डैनिम सर्दियों में पहना जाता है.

मेकअप

  1. जैलयुक्त फाउंडेशन का इस्तेमाल करें. इस से चेहरा चमकता है.
  2. गालों पर क्रीमी चीजों का इस्तेमाल करें, लेकिन यह भी ध्यान रखना आवश्यक है कि वे ग्रीसी न हों. इस मौसम में हलके गुलाबी या जामुनी रंग का इस्तेमाल सुंदरता को बढ़ाता है.
  3. इस मौसम में चांदी और मोती के बने गहने ही पहनें.

ये भी पढ़ें- Summer Special: हेयर रिमूवल के लिए अपनाएं ये 6 थेरैपी

Summer Special: पसीने की बदबू को कहें बायबाय

झुलसाती गरमी में स्किन और स्वास्थ्य संबंधी नईनई समस्याएं सिर उठाने लगती हैं. इन में बड़ी समस्या पसीना आने की होती है. सब से ज्यादा पसीना बांहों के नीचे यानी कांखों, तलवों और हथेलियों में आता है. हालांकि ज्यादातर लोगों को थोड़ा ही पसीना आता है, लेकिन कुछ को बहुत ज्यादा पसीना आता है. कुछ लोगों को गरमी के साथसाथ पसीने की ग्रंथियों के ओवर ऐक्टिव होने के चलते भी अधिक पसीना आता है जिसे हम हाइपरहाइड्रोसिस सिंड्रोम कहते हैं. बहुत ज्यादा पसीना आने की वजह से न सिर्फ शरीर में असहजता महसूस होती है, बल्कि पसीने की दुर्गंध भी बढ़ जाती है. इस से व्यक्ति का आत्मविश्वास डगमगा जाता है.

अंतर्राष्ट्रीय हाइपरहाइड्रोसिस सोसाइटी के मुताबिक हमारे पूरे शरीर में 3 से 4 मिलियिन पसीने की ग्रंथियां होती हैं. इन में से अधिकतर एन्काइन ग्रंथियां होती हैं, जो सब से ज्यादा तलवों, हथेलियों, माथे, गालों और बांहों के निचले हिस्सों यानी कांखों में होती हैं. एन्काइन ग्रंथियां साफ और दुर्गंधरहित तरल छोड़ती हैं जिस से शरीर को वाष्पीकरण प्रक्रिया से ठंडक प्रदान करने में मदद मिलती है. अन्य प्रकार की पसीने की ग्रंथियों को ऐपोन्काइन कहते हैं. ये ग्रंथियां कांखों और जननांगों के आसपास होती हैं. ये गं्रथियां गाढ़ा तरल बनाती हैं. जब यह तरल स्किन की सतह पर जमे बैक्टीरिया के साथ मिलता है तब दुर्गंध उत्पन्न होती है.

पसीने और उस की दुर्गंध पर ऐसे पाएं काबू

साफसफाई का विशेष ध्यान रखें: पसीना अपनेआप में दुर्गंध की वजह नहीं है. शरीर से दुर्गंध आने की समस्या तब होती है जब यह पसीना बैक्टीरिया के साथ मिलता है. यही वजह है कि नहाने के तुरंत बाद पसीना आने से हमारे शरीर में कभी दुर्गंध नहीं आती. दुर्गंध आनी तब शुरू होती है जब बारबार पसीना आता है और सूखता रहता है. पसीने की वजह से स्किन गीली रहती है और ऐसे में उस पर बैक्टीरिया को पनपने का अनुकूल माहौल मिलता है. अगर आप स्किन को सूखा और साफ रखें तो पसीने के दुर्गंध की समस्या से काफी हद तक बच सकती हैं.

स्ट्रौंग डियोड्रैंट और ऐंटीपर्सपिरैंट का इस्तेमाल करें: हालांकि डियोड्रैंट पसीना आने से नहीं रोक सकता है, लेकिन यह शरीर से आने वाली दुर्गंध को रोकने में मददगार हो सकता है. स्ट्रौंग पर्सपिरैंट पसीने के छिद्रों को बंद कर सकते हैं, जिस से पसीनाकम आता है. जब आप के शरीर की इंद्रियों को यह महसूस हो जाता है कि पसीने के छिद्र बंद हैं तो वे अंदर से पसीना छोड़ना बंद कर देती हैं. ये ऐंटीपर्सपिरैंट अधिकतम 24 घंटे तक कारगर रहते हैं. अगर इन का इस्तेमाल करते समय इन पर लिखे निर्देशों का पालन न किया जाए तो ये स्किन के इरिटेशन की वजह भी बन सकते हैं. ऐसे में कोई भी ऐंटीपर्सपिरैंट इस्तेमाल करने से पहले डाक्टर की सलाह जरूर लें.

लोंटोफोरेसिस: यह तकनीक आमतौर पर उन लोगों पर इस्तेमाल की जाती है, जो हलके ऐंटीपर्सपिरैंट इस्तेमाल कर चुके होते हैं, लेकिन उन्हें इस से कोई फायदा नहीं होता है. इस तकनीक से आयनोटोफोरेसिस नामक मैडिकल डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है, जिस के माध्यम से पानी वाले किसी बरतन या ट्यूब में हलके इलैक्ट्रिक करंट डाले जाते हैं और फिर प्रभावित व्यक्ति को इस में हाथ डालने के लिए कहा जाता है. यह करंट स्किन की सतह के माध्यम से भी प्रवेश करता है. इस से पैरों और हाथों में पसीना आने की समस्या बेहद कम हो जाती है. लेकिन कांखों के नीचे अधिक पसीना आने की समस्या को ठीक करने के लिए यह तरीका उपयुक्त नहीं होता है.

मैसोबोटोक्स: बांहों के नीचे बेहद ज्यादा पसीना आना न सिर्फ दुर्गंध की वजह बनता है, बल्कि आप की ड्रैस भी खराब कर सकता है. इस के इलाज हेतु कांखों में प्यूरिफाइड बोटुलिनम टौक्सिन की मामूली डोज इंजैक्शन के माध्यम से दी जाती है, जिस से पसीने की नर्व्ज अस्थायी रूप से बंद हो जाती हैं. इस का असर 4 से 6 महीने तक रहता है. माथे और चेहरे पर जरूरत से ज्यादा पसीना आने की समस्या के उपचार हेतु मैसोबोटोक्स एक बेहतरीन समाधान साबित होता है, इस में पसीना आना कम करने के लिए डाइल्युटेड बोटोक्स को इंजेक्शन के जरीए स्किन  में लगाया जाता है. खानपान पर भी रखें ध्यान: खानपान की कुछ चीजों से भी पसीना अधिक आ सकता है. उदाहरण के तौर पर गरममसाले जैसेकि कालीमिर्च ज्यादा पसीना ला सकती है. इसी तरह से अलकोहल और कैफीन का अधिक इस्तेमाल पसीने के छिद्रों को ज्यादा खोल सकता हैं. इस के साथ ही प्याज के अधिक इस्तेमाल से पसीने की दुर्गंध बढ़ सकती है. गरमी के दिनों में इन चीजों के अधिक इस्तेमाल से बचें.

 –डा. इंदू बालानी डर्मैटोलौजिस्ट, दिल्ली

ये भी पढ़ें- 8 TIPS: नेचुरल प्रौडक्ट से करें स्किन की देखभाल

Summer Special: 5 लो कैलोरी रेसिपीज

भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत का खयाल रखने के लिए स्वाद से समझौता क्यों? हम आप को बता रहे हैं कुछ ऐसी रेसिपीज जो जायकेदार भी हैं और सेहतमंद भी…

1. नारियल इडली

सामग्री

1 कटोरी बेसन,

1/4 कटोरी सूजी,

1 कटोरी नारियल कसा,

1 छोटा चम्मच ईनो,

1/2 छोटा चम्मच नमक,

1/4 छोटा चम्मच हलदी पाउडर.

सामग्री बघार के लिए

1 छोटा चम्मच तेल,

6 पत्ते मीठा नीम,

1 छोटा चम्मच राई,

4 हरीमिर्चें लंबाई में कटी,

1 छोटा चम्मच शकर,

1/2 छोटा चम्मच नीबू का रस.

विधि

बेसन में सूजी, नमक और नारियल डाल कर गाढ़ा घोल बनाएं. ईनो मिला कर इडली पात्र में रख कर इडली बनाएं. गरम तेल में बघार की सारी सामग्री डाल कर 2 बड़े चम्मच पानी डालें. जब उबाल आ जाए तो आंच बंद कर दें. तैयार इडली को एक प्लेट में रखें और ऊपर से नारियल और बघार डाल कर सर्व करें.

2. खीरा डिलाइट

सामग्री

4 खीरे, 50 ग्राम पनीर,

2 बड़े चम्मच दही,

जरूरतानुसार बारीक कटी शिमलामिर्च,

1/2 छोटा चम्मच चाटमसाला,

1/4 छोटा चम्मच कालीमिर्च पाउडर,

1 बड़ा चम्मच चुकंदर कसा,

जरूरतानुसार धनियापत्ती कटी.

विधि

खीरे को छील कर 2-2 इंच के टुकड़ों में काट लें. बीज निकाल दें. बीच से थोड़ा खोखला कर लें. एक बाउल में दही, पनीर, चाटमसाला, शिमलामिर्च, धनियापत्ती और कालीमिर्च को अच्छी तरह मिलाएं. प्रत्येक खोखले खीरे में तैयार सामग्री भरें. चुकंदर से सजा कर सर्व करें.

3. मल्टीग्रेन पीनट खमण

सामग्री

2 कटोरी मल्टीग्रेन आटा,

1 कटोरी बेसन,

1/2 कटोरी मूंगफली पिसी,

1/2 कटोरी लौकी कसी,

1 छोटा चम्मच नमक,

1 छोटा चम्मच अदरक व हरीमिर्च पेस्ट,

1/4 छोटा चम्मच हलदी पाउडर.

सामग्री बघार के लिए

1 छोटा चम्मच तेल,

2 हरीमिर्चें कटी,

1/4 छोटा चम्मच राई,

4-5 पत्ते मीठा नीम,

1 छोटा चम्मच ईनो.

विधि

आटे में बेसन, मूंगफली, लौकी, अदरक व हरीमिर्च पेस्ट और हलदी पाउडर डाल कर पानी की सहायता से गाढ़ा घोल तैयार करें. इस में ईनो डाल कर खमण पात्र में रख कर भाप में पका कर खमण बनाएं. ठंडा होने पर चौकोर टुकड़ों में काटें. गरम तेल में बघार की सारी सामग्री डालें. फिर खमण पर डाल कर सर्व करें.

4. ब्रैड स्प्राउट पोहा

सामग्री

4 ब्राउन ब्रैडस्लाइस,

1 कप अंकुरित मूंग,

1 प्याज बारीक कटा,

2 हरीमिर्चें बारीक कटी,

1 टमाटर कटा,

1/4 छोटा चम्मच हलदी पाउडर,

1/2 छोटा चम्मच लालमिर्च पाउडर,

1 छोटा चम्मच नीबू का रस,

1/4 छोटा चम्मच गरममसाला पाउडर,

1 बड़ा चम्मच भुनी मूंगफली दरदरी कुटी,

1 बड़ा चम्मच तेल,

थोड़ी सी धनियापत्ती कटी.

विधि

ब्रैडस्लाइस के किनारे काट कर अलग कर दें. स्लाइस को छोटेछोटे टुकड़ों में काट लें. गरम तेल में कटे प्याज, हरीमिर्च और टमाटर, सारे मसाले और फिर मूंग डाल दें.

5 मिनट तक ढक कर पकाएं ताकि मूंग पक जाए. अब कटे ब्रैड के टुकड़े, मूंगफली, नीबू का रस और नमक डाल कर अच्छी तरह चलाएं. धनियापत्ती से सजा कर सर्व करें.

5. बेसन पनीर सैंडविच

सामग्री

1 कटोरी बेसन,

2 कटोरी दही,

1 कटोरी पानी,

1/4 छोटा चम्मच नमक,

1/4 छोटा चम्मच हलदी पाउडर,

50 ग्राम पनीर,

1 बड़ा चम्मच खसखस भुनी,

1 बड़ा

चम्मच टोमैटो सौस,

1 छोटा चम्मच चाटमसाला.

विधि

बेसन में नमक, हलदी व दही मिलाएं. इसे एक नौनस्टिक कड़ाही में डाल कर गाढ़ा होने तक पकाएं. तैयार मिश्रण को एक थाली में फैला कर ठंडा होने दें. पनीर के पतले स्लाइस काट लें. इन के दोनों ओर चाटमसाला बुरक लें. अब तैयार बेसन के मिश्रण के भी स्लाइस काट लें और एक ओर टोमैटो सौस लगा लें. एक प्लेट में बेसन का स्लाइस रख कर पनीर का स्लाइस रखें, फिर ऊपर से दूसरा बेसन का स्लाइस रखें और दोनों ओर खसखस में लपेटें. तैयार सैंडविच चाय या कौफी के साथ सर्व करें.

ये भी पढ़ें- Summer Special: ड्राईफ्रूट बनाना स्मूदी

Summer Special: अपने आशियाने को ऐसे दें कूल लुक

समर में जहां फैशन में पेस्टल कलर्स का ट्रेंड चल रहा है, वहीं होम डेकोर की अगर बात करें तो कूल और न्यूट्रल कलर व्हाइट और ऑफ व्हाइट का चलन है. वैसे भी व्हाइट और ऑफ व्हाइट रंगों की दीवारें किसी कैनवास से कम नहीं होती.

गर्मियों में घर को कूल लुक देने के लिए सफेद दीवारों को कुछ इस अंदाज में सजाएं और गर्मी से भी निजात पाएं. लिविंग रूम में सफेद दीवार होतो तो यहां फर्नीचर भर कर उसे गंदा न करें, सिर्फ एक सोफा रखें, लिविंग रूम खुला-खुला लगेगा, दीवार में लाइट शेड में एक बड़ी-सी तस्वीर टांग सकते हैं. एक बुक शेल्फ भी रखी जा सकती है. तस्वीर में आप पारिवारिक तस्वीर का चयन भी कर सकते हैं. वहीं दूसरी ओर घर में आप किसी भी कमरे में एक दीवार को पेस्टल या न्यूट्रल कलर करवा सकते हैं.

उस पर पारिवारिक तस्वीरें लगा लें. ये तस्वीरें छुट्टियों की हो सकती हैं या मस्ती के मूड की. इन तस्वीरों को ब्रास फ्रेम करवाकर एथनिक टच दिया जा सकता है. चौकोर, त्रिकोण, अंडाकार किसी भी आकार की फ्रेमिंग करवा सकती हैं.

ये भी पढे़ं- Top 10 Holi Tips In Hindi: इन टिप्स से बनाएं अपनी होली को खास

यदि आपकी सफेद दीवारों वाले घर में सीढियां हैं तो आप इनके साथ क्रिएटिविटी कर सकते हैं. हर स्टेप को अलग-अलग रंग में रंगवा दें या फिर दो-तीन रंगों का प्रयोग करके ड्रामेटिक लुक दिया जा सकता है.

सफेद दीवारों वाले घर में रंगों के साथ खेला जा सकता है. आप चाहें तो रंग-बिरंगे परदों, चादर, कुशन आदि का इस्तेमाल कर सकती हैं. ड्राइंग रूम में लाल, पीले, नीले रंग के कुशन्स कमाल के दिखते हैं और घर को एथनिक टच भी देते हैं. इसी तरह बेडरूम में गुलाबी, पीच रंग के परदे और चादरें अच्छी लगती हैं.

गर्मी के मौसम में फ्लोरल पैटर्न सबसे ज्यादा जंचता है. इस पैटर्न को आप परदे के साथ चादरों पर भी आजमा सकती हैं. सफेद रंग के घर में लाल, पीले रंग के फूल वाले परदे और चादरें खूबसूरत दिखेंगी. ड्राइंग रूम में सेंट्रल टेबल पर फूलदान में ताजे फूल भला किसे अच्छे नहीं लगेंगे. चाहें तो साथ में कुछ हरे पत्ते भी रख दें.

बाहर की हरियाली घर में उतर आएगी. यदि आपके घर में बालकनी है या खिड़कियों के पास थोड़ी जगह बची रहती है तो छोटे गमले को सफेद रंग में करवाकर इनमें हरे पौधे लगाए जा सकते हैं. कुछ फूल सिर्फ गर्मियों में होते हैं, इन्हें भी आप इन गमलों में लगा सकती हैं.

ये भी पढ़ें- Holi Special: होली में अपने घर को सजाये ऐसे

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें