गरमी के मौसम में त्वचा से जुड़ी कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं. इन में सनबर्न के कारण चेहरे की रौनक खो जाती है. झुलसाती गरमी में त्वचा की नमी धीरे धीरे कम होने लगती है. इस दौरान महिलाओं को अपनी व्यस्त दिनचर्या से समय निकाल कर चेहरे की रौनक वापस पाने के लिए ब्यूटीपार्लर जाना भी मुमकिन नहीं हो पाता है. ऐसे में वे कुछ आसान उपायों से चेहरे की सुंदरता दोबारा पा सकती हैं. इन के अलावा रैस्टिलेन विटाल जैसे स्किनबूस्टर्स भी उपलब्ध हैं, जो उन के लिए कारगर हो सकते हैं. स्किनबूस्टर रैस्टिलेन विटाल चंद मिनटों में ही और बहुत आसान तरीके से चमत्कारी परिणाम देता है. सब से अच्छी बात यह है कि इस का असर काफी समय तक रहता है.

हाइड्रोफिलिक ह्यालुरोनिक ऐसिड जैल, जिस में पर्याप्त जल बचाए रखने की क्षमता होती है, से त्वचा को मिलने वाली चमक तथा कोमलता 1 साल तक बनी रहती है. त्वचा की ऊपरी परत पर इंजैक्ट करने के बाद रैस्टिलेन विटाल त्वचा को गहराई तक नमीयुक्त बनाता है और उस का पोषण करता है. ह्यालुरोनिक ऐसिड जैल को माइक्रोइंजैक्शन की सहायता से त्वचा की बाहरी परतों में पिरोया जाता है. यह त्वचा को अंदर से नमीयुक्त बनाए रखने के लिए प्राकृतिक रूप से काम करता है. इस से त्वचा निखर उठती है.

महिलाओं को त्वचा की देखभाल अपनी त्वचा के प्रकार के अनुसार करनी चाहिए.

शुष्क त्वचा के लिए…

ठंडे पानी की बौछार लें: तैलीय त्वचा पाने के लिए गरम पानी से न नहाएं, बल्कि कुछ देर तक ठंडे पानी की बौछारें लें. नहाने से पहले पूरे शरीर की बादाम के तेल से मालिश करें.

ग्लिसरीन: सोने से पहले पूरे चेहरे पर ग्लिसरीन लगाएं और उसे पूरी रात लगाए रखें.

हनी मसाज: चेहरे पर शहद का लेप लगाएं और 3-4 मिनट तक मालिश करने के बाद धो लें. त्वचा का अनिवार्य तेल वापस लाने के लिए इस प्रक्रिया को रोज अपनाएं.

जौ और खीरे का फेस मास्क: 3 चम्मच जौ या जई का पाउडर, 1 चम्मच खीरे का रस और 1 चम्मच दही को अच्छी तरह मिला लें. इस लेप को चेहरे पर लगा कर सूखने दें. उस के बाद सादे पानी से चेहरा धो लें.
तैलीय त्वचा के लिए………
क्लींजिंग: त्वचा को तेल मुक्त बनाने के लिए चेहरे को दिन में 2-3 बार क्लींजर से धोएं.

स्क्रबिंग: नाक और गालों के पास की मृत कोशिकाओं और ब्लैकहैड्स मिटाने के लिए इन हिस्सों को स्क्रब से अच्छी तरह रगड़ें.

सप्ताह में 1 बार फेस मास्क प्रयोग करें: फेस मास्क आसानी से त्वचा का अतिरिक्त तेल सोख लेता है. आप घर पर भी खुद मास्क बना सकती हैं. नीबू, सेब और अम्लीय औषधि: एक बरतन में थोड़ा पानी ले कर उस में कटे सेब को तब तक पीसें जब तक कि वह नरम न हो जाए. सेब पीसने के बाद उस में 1 चम्मच नीबू का रस और लैवेंडर या पिपरमिंट की सूखी पत्तियों का 1 चम्मच चूर्ण मिलाएं. इस मिश्रण को चेहरे पर लगा कर 15-20 मिनट छोड़ दें. फिर कुनकुने पानी से चेहरे को धो लें.

नाजुक त्वचा के लिए……..

क्लींजिंग: चेहरे को किसी ऐसे सौम्य क्लींजर से धोएं, जो आप की त्वचा को नुकसान न पहुंचाए.

मौइश्चराइज करें: नाजुक त्वचा वाले ऐंटीऔक्सीडेंट युक्त मौइश्चराइजर का इस्तेमाल करें. इस से त्वचा जलयुक्त बनी रहेगी.

सनस्क्रीन: घर से बाहर निकलने से 20 मिनट पहले जिंक औक्साइड और टाइटेनियम डाईऔक्साइड के तत्त्वों तथा एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें.

– डा. इंदु बलानी (डर्मैटोलौजिस्ट), दिल्ली

Tags:
COMMENT