बाल अगर खूबसूरत होते हैं तो वे चेहरे की रंगत ही बदल देते हैं. लेकिन आज स्टाइल का जमाना है और इसी स्टाइल के चक्कर में कभी महिलाएं बालों को कलर करवाती हैं, कभी हाईलाइट, कभी रीबौंडिंग तो कभी हेयरस्टाइलिंग प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं. जमाने के साथ चलना अच्छी बात है, लेकिन उस के चक्कर में अति कर के अपना नुकसान करना समझदारी नहीं.

कभीकभार हर चीज ठीक होती है, लेकिन जब आप स्टाइल के चक्कर में बालों पर जरूरत से ज्यादा कैमिकल्स व हीट प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने लगती हैं या फिर बालों की केयर नहीं करतीं तो यह बालों के नैचुरल मौइस्चर को चुरा कर उन्हें बेजान बना कर डैमेज करने का काम करता है.

यही नहीं बल्कि बाल झड़ने भी लगते हैं, स्प्लिट ऐंड्स की प्रौब्लम हो जाती है व बालों में फ्रिजीनैस आ जाती है, जो आप की सुंदरता को कम करने का काम करती है.

ऐसे में जब बाल डैमेज हो गए हैं तो उन्हें खास ट्रीटमैंट की जरूरत होती है ताकि आप के बालों में फिर से नई जान आ जाए. इस संबंध में जानते हैं कौस्मैटोलौजिस्ट पूजा नागदेव से:

सीरम से बालों को दें मौइस्चर

बाल तभी डैमेज होना शुरू होते हैं जब उन का मौइस्चर खत्म हो जाता है. इस से बालों में डलनैस आने लगती है.

लेकिन अगर डैमेज बालों को सीरम से हाइड्रेट रखा जाता है, तो धीरेधीरे बाल अपने पहले वाले रूप में वापस आने लगते हैं क्योंकि ये प्रदूषण व सनलाइट के बीच प्रोटैक्टिव लेयर का काम करते हैं. लेकिन इस के लिए जरूरी है कि आप का हेयर सीरम बालों के टाइप के हिसाब से हो व उसे लगाने का तरीका बिलकुल परफैक्ट हो. तभी आप को उस का फायदा मिल पाएगा.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT