वाटरप्रूफ  मेकअप की सब से खास बात यह होती है कि इसे बारिश का पानी भी नहीं बिगाड़ पाता है. शादी और पार्टी में कैमरे और लाइट के सामने गरमी लगने से भी मेकअप बहने लगता है. ऐसे में भी वाटरप्रूफ मेकअप बहुत अच्छा रहता है. रेनडांस, स्विमिंग पूल और समुद्र किनारे गरमी की छुट्टियों का मजा लेते वक्त भी वाटरप्रूफ मेकअप का कमाल दिखाई देता है.

क्या है वाटरप्रूफ मेकअप

बौबी सैलून की स्किन, हेयर और ब्यूटी ऐक्सपर्ट बौबी श्रीवास्तव का कहना है, ‘‘पसीना आने पर मेकअप घुल कर त्वचा के रोमछिद्रों में चला जाता है, जिस से मेकअप बदरंग दिखाई देने लगता है. मेकअप रोमछिद्रों के जरिए शरीर में न जाए वाटरप्रूफ मेकअप में यही किया जाता है. त्वचा के रोमछिद्रों को बंद कर के किया गया मेकअप ही वाटरप्रूफ मेकअप कहलाता है. रोमछिद्रों को 2 तरह से बंद किया जाता है. तरीका नैचुरल वाटरपू्रफ और दूसरा प्रोडक्ट वाटरप्रूफ का होता है. नैचुरल  वाटरप्रूफ तरीके में त्वचा के रोमछिद्रों को बंद करने के लिए ठंडे तौलिए का प्रयोग किया जाता है. जिस तरह भाप लेने से त्वचा के रोमछिद्र खुल जाते हैं. उसी तरह से ठंडा तौलिया रखने से रोमछिद्र बंद हो जाते हैं. इस के लिए बर्फ का प्रयोग भी किया जा सकता है. इस के बाद मेकअप करने से पसीना उसे बहा नहीं पाता है.’’

ये भी पढ़ें- क्या आपको पता हैं चंपी के ये 8 फायदे

वाटरप्रूफ मेकअप की बढ़ती मांग को देखते हुए मेकअप प्रोडक्ट्स बनाने वाली कंपनियों ने वाटरपू्रफ मेकअप प्रोडक्ट्स बनाने शुरू कर दिए. इन प्रोडक्ट्स के अंदर ही ऐसे तत्त्व डाल दिए जाते हैं जो मेकअप करने के दौरान त्वचा के रोमछिद्रों को बंद कर देते हैं. इस से मेकअप त्वचा के अंदर नहीं जा पाता और पसीना उसे

बहा नहीं पाता है. इस तरह के मेकअप प्रोडक्ट्स से मेकअप करते समय त्वचा को वाटरप्रूफ करने की जरूरत नहीं रहती है. वाटरप्रूफ प्रोडक्ट्स में क्रीम, लिपस्टिक, फेस बेस, रूज, मसकारा, काजल जैसी ढेर सारी चीजें अब बाजार में मिलने लगी हैं.

वाटरप्रूफ मेकअप प्रोडक्ट्स सिलिकौन का प्रयोग कर के बनाए जाते हैं. इस में प्रयोग होने वाला डाइनोथिकौन औयल त्वचा को चमकदार बनाता है. यह वाटरप्रूफ मेकअप को आसानी से फैलने में मदद करता है. जहां वाटरप्रूफ मेकअप के तमाम फायदे हैं वहीं कुछ खामियां भी हैं, जिन्हें जान लेना भी जरूरी है. वाटरप्रूफ मेकअप को हटाने के लिए पानी का प्रयोग ही काफी नहीं होता है वरन बेबी औयल या फिर सिलिकौन औयल का भी प्रयोग करना होता है. इस का प्रयोग त्वचा पर खराब प्रभाव डालता है. इस से त्वचा को नुकसान पहुंचता है. त्वचा पर इन्फैक्शन हो जाता है. ज्यादा प्रयोग करने से समय से पहले त्वचा पर झुर्रियां भी पड़ने लगती हैं. इसलिए वाटरप्रूफ मेकअप का प्रयोग खास अवसरों पर ही करें. रोज इस का प्रयोग न करें.

जानें ब्यूटी ऐक्सपर्ट बौबी श्रीवास्तव से कुछ खास मेकअप टिप्स:

– इस मौसम में मेकअप करते समय डार्क शेड का प्रयोग कभी न करें. फाउंडेशन भी लाइट ही लगाएं. दागधब्बों को छिपाने के लिए वाटर बेस्ड फाउंडेशन का प्रयोग करें. अगर इस से चमक ज्यादा आने लगे तो पाउडर के बजाय ब्लौटिंग पेपर का प्रयोग करें.

– अपने गालों को गुलाबी दिखाने के लिए लाइट ब्लशर का प्रयोग करें. थोड़ा सा शिमर पाउडर आंखों के आसपास लगा कर उन्हें आकर्षक बना सकती हैं. होंठों पर लिपकलर लगाने के बाद चमकाने के लिए हलका लिपग्लौस लगाएं. लैक्मे मेकअप प्रोडक्ट्स में इस तरह का सारा सामान मिलता है.

ये भी पढ़ें- कियारा आडवाणी से जानें उनकी ब्यूटी का राज

– मसकारा दिनभर टिका रहे, इस के लिए बरौनियों के टिप्स पर मसकारा लगाएं. ऐसा करने से वह फैलता नहीं है.

– शाम की पार्टी का मेकअप करते समय नैचुरल मेकअप ही करें. शाम को धूप नहीं रहती, इसलिए चेहरे पर शिमर का प्रयोग कर सकती हैं. अगर आप धूप में निकल रही हों तो एसपीएफ -15 युक्त सनक्रीम या लोशन का प्रयोग जरूर करें. इस से त्वचा पर सनबर्न का असर कम होता है.

– स्विमिंग पूल में जाने से पहले और बाद में कीटाणुनिरोधक साबुन आदि से स्नान जरूर करें.

– इस मौसम में पूरे शरीर की डीप क्लींजिंग कराएं. सप्ताह में 1 बार बौडी मसाज कराएं. सप्ताह में 1 बार स्टीमबाथ जरूर लें. स्टीम लेते समय पानी में हलका बौडी औयल मिला लें.

– बाथटब में पानी भर कर उस में मिनरल साल्ट मिलाएं. 10-15 मिनट इस में गुजारें. फिर देखें त्वचा में चमक जरूर आएगी.

– जब भी तेज धूप से लौटें ठंडे पानी में पतला सूती कपड़ा डुबो कर निचोड़ लें और फिर उसे धूप से प्रभावित जगह पर थोड़ीथोड़ी देर के लिए रखें.

– एक टब में पानी भर नमक मिला कर हाथों और पैरों को 10 मिनट तक डुबोए रखें. इस से मृत त्वचा मुलायम हो जाएगी. इसे बाद में रगड़ कर आसानी से छुड़ाया जा सकता है. इस के बाद मौइश्चराइजर लगाएं. पैरों को 2 मिनट ठंडे पानी और 2 मिनट गरम पानी में बारीबारी से डुबोएं. इसे हौट ऐंड कोल्ड ट्रीटमैंट कहते हैं. इस से रक्तसंचार बढ़ता है.

हेयर केयर का भी रखें इन टिप्स से खास ख्याल

– अगर बाल छोटे हैं तो हलका कर्ल करा सकती हैं. बाल मीडियम साइज के हों या बढ़े हुए तो उन्हें बंधा हुआ हेयरस्टाइल देने की कोशिश करें. बाल खुले रखने हों तो उस हिसाब से कटे होने चाहिए. आजकल बालों को कलर कराने का ट्रैंड भी चल रहा है. यदि कलर करवाना है तो ब्लौंड हेयर या नैचुरल ब्राउन कलर कराएं.

ये भी पढ़ें- मौनसून में स्किन के लिए क्यों जरूरी है एंटीफंगल पाउडर

– बालों में नियमित रूप से अच्छे किस्म के कंडीशनर का प्रयोग जरूर करें. इस से बाल चमकदार और मुलायम होते हैं. कंडीशनर लगाने का सब से अच्छा तरीका यह होता है कि बालों के ऊपरी हिस्सों से ले कर नीचे तक अच्छी तरह से लगाएं.

– बालों को चमकदार बनाने के लिए नैचुरल हिना का प्रयोग करें. इस से बालों को कमजोर होने से बचाया जा सकता है.

Edited by Rosy

Tags:
COMMENT