सूर्य की यूवी किरणों के प्रभाव में आने से त्वचा में मैलानिन की मात्रा बढ़ जाती है जोकि त्वचा की रंगत को प्रभवित करती है. मैलानिन जब त्वचा के निचले हिस्सों में पैदा होने के बाद इस के ऊपरी हिस्सों तक पहुंचता है तो त्वचा की रंगत काली पड़ जाती है. धूप में त्वचा की पूरी नमी खत्म हो जाती है, जिस से त्वचा शुष्क और बेजान सी प्रतीत होती है.

वैसे तो बाजार में कई तरह के सुरक्षात्मक लोशन, क्रीम्स और स्प्रे मौजूद हैं पर अब आप की त्वचा बिना सनस्क्रीन लगाए भी धूप में काली नहीं होगी.

ओरल सनस्क्रीन टैबलेट या सनस्क्रीन लोशन

सूर्य की अल्ट्रावौयलेट किरणों से स्किन को बचाने के लिए ओरल सनस्क्रीन टैबलेट्स नए विकल्प के रूप में मौजूद हैं.

स्कीनोवेशन के डाइरैक्टर कल्पेश गावड़े ने भारत में यह उत्पाद लौंच किया है. हेलीओकेयर ओरल पूरी तरह से रिसर्च और टैस्ट के बाद ही मार्केट में लाया गया है.

विशेषज्ञों का कहना है कि सन प्रोटैक्शन के पुराने तरीके पर्याप्त नहीं हैं, क्योंकि अधिकांश महिलाएं बहुत कम सनस्क्रीन का प्रयोग करती हैं और शरीर के सभी उजागर हिस्सों का कवर करना या तो भूल जाती हैं या फिर उन्हें लगता है कि सिर्फ फेस को कवर करना ही काफी है.

बेहतर विकल्प

दूसरी ओर क्रीम या लोशन को अच्छी तरह से काम करने के लिए हर कुछ घंटों बाद पुन: लगाने की जरूरत पड़ती है, मगर अधिकांश महिलाओं के पास समय नहीं होता है.

सनस्क्रीन लोशन हर किसी की स्किन को सूट नहीं करता और उस से ऐलर्जी आदि की समस्या भी हो जाती है. ऐसे में सनस्क्रीन टैबलेट्स फायदेमंद हैं.

सनस्क्रीन लगाने से फेस औयली हो जाता है जिस से गरमी के मौसम में और भी ज्यादा चिपचिपाहट और गरमी महसूस होने लगती है. इसी वजह से महिलाएं इसे इस्तेमाल करने से कतराती हैं.

अगर आप ने कहीं बाहर जाने के लिए मेकअप आदि किया है तो उस के साथ सनस्क्रीन लोशन लगाना किसी मुसीबत से कम नहीं लगता है. ऐसे में टैबलेट एक अच्छा विकल्प है ताकि मेकअप भी ठीक रहे और स्किन भी सुरक्षित रहे.

टैबलेट में क्या है

ओरल सनस्क्रीन टैबलेट्स में अनार, विटामिन सी, विटामिन ई, कैरोटीनोइड जैसी चीजें होती हैं. नई गोलियों में फर्न से निकाले गए पोलीपोडियम ल्यूकोटोमोस होते हैं. साथ ही इन में ऐंटीऔक्सीडैंट भी होता है. ये सभी मिल कर धूप से बचाव तो करते ही हैं साथ ही डैमेज हो चुकी त्वचा को भी सही करने का काम करते हैं.

त्वचा की रक्षा के अलावा यह सिर व पैरों को भी कवर करता है जहां सनस्क्रीन लोशन लगाना संभव नहीं है. यह धूप में बालों को रंग उड़ने से भी रोकता है. स्वीमिंग और ऐक्सरसाइज के दौरान ओरल सनस्क्रीन टैबलेट ज्यादा फायदेमंद होता है, क्योंकि वहां लोशन को दोबारा लगाना संभव नहीं होता.

ध्यान दें

वैसे तो इस का कोई साइड इफैक्ट नहीं है, लेकिन अगर आप को कोई गंभीर बीमारी है, तो इसे लेने से पहले डाक्टर से एक बार सलाह जरूर ले लें.

ओरल सनस्क्रीन टैबलेट्स में ऐंटीऔक्सीडैंट, विटामिन सी, विटामिन डी, लाइकोडीन और अन्य कई चीजें पाई जाती हैं, जिन के कारण इसे मल्टीविटामिन हैल्थ सप्लिमैंट कह सकते हैं. लेकिन इस की मेन प्रौपटी यूवी किरणों से प्रोटैक्ट करना ही है.

-ऐप्पल स्किन क्लीनिक की डर्मैटोलौजिस्ट

(दीप्ति ढिल्लो से शिखा जैन द्वारा की गई बातचीत पर आधारित लेख)

Tags:
COMMENT