फेशियल चेहरे की खोई रौनक फिर से लौटा देता है. 30 वर्ष की आयु के बाद माह में एक बार फेशियल कराया जा सकता है. इस से त्वचा की ऐक्सरसाइज होती है और त्वचा बनी रहती है जवां.

वाइटनिंग फेशियल

चेहरे से धूलमिट्टी व पहले का मेकअप हटाने के लिए वाइटनिंग क्लींजर से चेहरे को अच्छी तरह साफ करें. स्क्रब में कुछ बूंदें टोनर की इस्तेमाल करें. 10 मिनट तक स्क्रबिंग करने के बाद मसाज क्रीम से 15 मिनट तक मसाज करें. फिर गाढ़ा पैक लगा कर 15 मिनट के बाद चेहरा धो दें.

खास बातें

  1. फेशियल में आए ग्लो को बरकरार रखने के लिए अपने चेहरे की नियमित देखभाल करनी भी आवश्यक है. रोजाना मौइश्चराइजर वाइटनिंग क्लींजर से चेहरा साफ करें व बौडी लोशन का प्रयोग करें.
  2. स्क्रबिंग करते समय फेशियल स्टैप्स न करें केवल सरकुलेशन मोशन में (जैसे कि साबुन लगाते हैं) चेहरे को रब करें. फेशियल में प्रोडक्ट को पैनिट्रेट करना होता है, इसीलिए मसाज की जाती है. लेकिन स्क्रब में केवल मृत त्वचा हटाई जाती है.
  3. स्क्रब में पानी मिलाने के बजाय विटामिन ई युक्त टोनर इस्तेमाल करें. ध्यान रहे, वाटर सैंसेशन वाले टोनर का ही प्रयोग करें ताकि यह त्वचा पर चुभे नहीं.
  4. यह गलत धारणा है कि ज्यादा मसाज करने से फेशियल अच्छा होता है. अत्यधिक मसाज स्किन के लिए उचित नहीं.
  5. औयली स्किन पर 10-12 मिनट की मसाज करनी चाहिए. मसाज से तैलीय त्वचा का औयल कंट्रोल होता है.

ये भी पढ़ें- ब्रशिंग से पाएं Soft Skin

क्यों कराएं वाइटनिंग फेशियल

यह फेशियल तकनीक रंग को निखारती है, यूवी रेज, पिगमैंटेशन व टैनिंग की समस्या से बचाती है. प्रदूषण से हमारी त्वचा बेजान हो जाती है. ऐसे में वाइटनिंग फेशियल से उसे फिर से तरोताजा बनाया जा सकता है.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...