टिंटैंड लिपबाम अक्सर स्कूल की टीनएजर्स गर्ल्स लगाती थी, ताकि टीचर्स की नजरों से बची रहें और यंग लड़कियों की तरह होठों को रंगने का शौक भी पूरा हो जाए. पैरेंट्स भी इनको आंखें तरेर कर नहीं देखते क्योंकि इसका कलर बहुत ही लाइट होता है.  टिंटैड लिपबाम नाम से ही पता चल जाता है कि कलर का टिंट यानी रंग की नाममात्र की मात्रा.  

https://www.instagram.com/reel/C9DEa-HsgKv/?utm_source=ig_web_copy_link&igsh=MzRlODBiNWFlZA==

बेस्ट क्वालिटी के लिपबाम में वैजिटेबल औइल, वैजिटेबल बटर्स और वैजिटेबल वैक्स जैसी चीजें मिली रहती है, इस वजह से यह होठों को अच्छी तरह मौइश्चराइज करने का काम करता है और यही वजह है कि बहुत सारी महिलाएं इसी क्वालिटी के कारण इसका इस्तेमाल करती है

वर्किंग वुमन में यह काफी ट्रैंड में है क्योंकि वह रोज घर से बाहर निकलती है, बदलते मौसम का असर उनके होठों पर पड़ता है, इस कारण वह फट जाते हैं या बहुत ही ज्यादा रुखे हो जाते हैं, ऐसे में लिपकलर का इस्तेमाल करने से यह और भी बुरे नजर आते हैं और इनका रुखापन भी नहीं जाता.  इसके ठीक विपरीत टिंटैड लिपबाम में मौजूद  नैचुरल एनिमल या वैजिटेबल वैक्स की वजह से यह फटे या डैमेज्ड होठों को अच्छी तरह से रिपेयर कर देता है.  

 

टिटैंड लिपबाम के ट्रैंडी होने की एक बड़ी वजह यह भी है कि इससे चेहरे का नैचुरल टच बना रहता है, जो गर्ल्स फैशनेबल दिखना चाहती है लेकिन इसे दिखाने से बचती हैं, उनके लिए यह बेस्ट औप्शन है.  टिंटैड लिपबाम के मार्केट का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आज हर छोटीबड़ी ब्यूटी बनानेवाली कंपनी इस प्रोडक्ट को लौन्च कर चुकी है.   यही वजह है कि हर लड़की की पौकेटमनी में आसानी से आ जाती है. स्कूल गर्ल्स के बीच फेमस होने की यह वजह भी है, कम पैसे में मिलने के कारण मां इसे दिलाने में बजट नहीं देखती जबकि लिपस्टिक उन्हें मंहगी लगती है. 

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
 
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
 
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...