बालों से जुड़ी सब से बड़ी समस्या हेयर फौल की है. हेयर फौल के भी कई कारण हैं इसलिए हर केस में इलाज भी अलगअलग होना चाहिए, लेकिन इस पर भी कोई ध्यान नहीं देता जिस वजह से यह समस्या और ज्यादा बढ़ती जा रही है. यहां हम कुछ बातों पर चर्चा करेंगे ताकि इस बात को स्पष्ट रूप से समझा जा सके कि किस समस्या के लिए आप को किस दिशा में कदम बढ़ाना है:

केयर की कमी

जानेमाने हेयर स्टाइलिस्ट नील डेविल कहते हैं कि आज युवाओं में बालों की समस्या इसलिए ज्यादा बढ़ गई है, क्योंकि आज हर कोई अपने बालों को बहुत अच्छा व सुंदर लुक देना चाहता है. इसलिए हेयर स्टाइलिंग उत्पादों का यूज बढ़ गया है.

आज स्थिति यह है कि हम बालों को सुंदर तो दिखाना चाहते हैं लेकिन उन की केयर नहीं करना चाहते. यहां वे जोर दे कर कहते हैं कि आप बालों में अलगअलग कलर यूज करते हैं, जल्दीजल्दी बालों का कलर बदलना चाहते हैं तो साथ में इन की खूब केयर भी कीजिए.

बालों की अंदरूनी हैल्थ के लिए अपनी डाइट ठीक रखिए. बालों को हमेशा साफ रखें. धूलमिट्टी जैसी जगहों पर जा रहे हैं तो सिर को कवर कर के रखें. नियमित रूप से हैड मसाज करें. बाल उलझे हों तो जोरजोर से कंघी न लगाएं. रात को बालों को खोल कर सोएं. बालों की अंदरूनी और बाहरी दोनों तरह से केयर करें.

जब जाएं पार्लर

अकसर देखा जाता है कि जब हम पार्लर जाते हैं तो कई बार पार्लर में जो लोग बाल काटते हैं वे आप को बेवजह सलाह देने लगते हैं और बातोंबातों में आप पर यह दबाव बनाते हैं कि उन के पास जो शैंपू या अन्य ब्यूटी प्रोडक्ट्स हैं उन्हें खरीद लें. ऐसे लोगों से आप बचें. प्रोडक्ट से जुड़े सवाल उन्हीं से करें कि यह क्यों फायदेमंद है. इस में क्याक्या मिला है. जब उन्हें लगेगा कि आप ब्यूटी प्रोडक्ट्स की अच्छी जानकारी रखते हैं तो कोई आप को बहलाफुसला कर कोई भी प्रोडक्ट पकड़ाने से बचेगा.

किसी भी ब्यूटी प्रोडक्ट को केवल विज्ञापन की बातों में आ कर यूज न करें, बल्कि पहले लोगों से उस प्रोडक्ट का फीडबैक लें. इंटरनैट पर उस प्रोडक्ट के रिव्यूज पढ़े. चाहें तो किसी डाक्टर से भी सलाह ली जा सकती है.

नील डेविड बताते हैं कि जब भी आप कोई प्रोडक्ट खरीद रहे हैं या यूज कर रहे हैं तो उस में लिखे निर्देशों को जरूर पढ़े. इस से आप को प्रोडक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त होगी. उस प्रोडक्ट को किस प्रकार यूज करना है यह जानना भी बहुत जरूरी है, क्योंकि कई

बार लोग किसी प्रोडक्ट को किस प्रकार यूज करना है या उस के स्टैप्स के बारे में नहीं पढ़ते और गलत तरह से उसे यूज करते हैं. इस से बालों को बहुत नुकसान पहुंचता है.

कब न करें हेयर कलर

अगर आप की स्कैल्प पर किसी भी तरह की कोई छोटीबड़ी समस्या हो तो उस समय हेयर कलर का यूज न करें. इस से आप की स्कैल्प पर खुजली और अन्य इन्फैक्शन का खतरा बढ़ जाता है. बेहतर यही रहेगा कि आप पहले किसी डाक्टर से उस समस्या का इलाज कराएं और डाक्टर की सलाह के बाद ही हेयर कलर यूज करें.

देखादेखी से बचें

आज की लड़कियां फैशन के मामले में बहुत ज्यादा देखादेखी करती हैं. उन्हें करीना की तरह स्टाइल चाहिए, कटरीना की तरह बालों का कलर. ‘मेरी सहेली ने अपने बालों में फलां ट्रीटमैंट कराया है तो मैं भी कराऊंगी.’ इस तरह की प्रतियोगिता से खुद को दूर रखें. बेहतर यही है कि आप जो हैं वही रहें. किसी की कौपी करने के चक्कर में अपने बालों की सेहत के साथ खिलवाड़ न करें. सप्ताह में 1 दिन अपने बालों की केयर के लिए जरूर निकालें.

जब भी पार्लर जाएं तो देखें कि वहां काम करने वाले लोग पेशेवर हैं या नहीं. अनुभवी लोगों से ही ब्यूटी ट्रीटमैंट लें. इस बात का भी खयाल रखें कि पार्लर में कलर करवाते समय कहीं वे लोग कलर को आप की स्कैल्प पर तो नहीं लगा रहे हैं. कलर स्कैल्प पर नहीं लगना चाहिए. यह खतरनाक हो सकता है.

डाक्टर की सलाह जरूरी

बाल झड़ने के पीछे कई हैल्थ इशूज भी होते हैं. जैसे मौसम बदलता है तब बाल झड़ते हैं. प्रैगनैंसी के दौरान और थायराइड की समस्या हो तो भी बाल तेजी से झड़ते हैं. बीमारी के समय ज्यादा दवाएं लेने से भी बाल झड़ते हैं. इसलिए अगर किसी भी प्रकार की तकलीफ आप महसूस कर रहे हैं तो तुरंत डाक्टर के पास जाएं और सही सलाह लें.

Tags:
COMMENT