मीरा ने जब अपनी दोस्त पाखी को देखा तो वह उस की चमकती स्किन को देख दंग रह गई और फिर उस से इस खूबसूरत स्किन का राज पूछने लगी. जब पाखी ने अपनी सुंदरता का राज हल्दी बताया, तो मीरा सोचने लगी कि भला हल्दी कैसे किसी को खूबसूरत बना सकती है?

चोट लगने पर दूध में घोल कर पी जाने वाली और बतौर मसाला सब्जी में डाली जाने वाली हल्दी के गुण यहीं तक सीमित नही हैं, बल्कि हल्दी सौंदर्य को निखारने का भी काम करती है. आजकल बाजार में हल्दी के गुणों से भरपूर विभिन्न ब्यूटी प्रोडक्ट्स मौजूद हैं, जो आप की स्किन की खोई चमक को वापस लाने का भरपूर वादा करते हैं, लेकिन इन का ममॉअर्थ टरमरिक रेंज से कोई मुकाबला नहीं है, क्योंकि इन के प्रोडक्ट्स हल्दी, केसर, खूबानी तेल, गाजर के बीजों के तेल व खीरे के प्राकृतिक तत्त्वों से भरपूर हैं. इन में पैराबींस, एसएलइएस, मिनरल तेल, डाई व कृत्रिम सुगंध का इस्तेमाल बिलकुल नहीं होता है.

क्यों है सब से अलग

हल्दी आप की स्किन संबंधी समस्याओं को हल करती है और आप को फ्लालैस लुक देती है. एक तरह से यह आप की स्किन का सुपरफूड है. सदियों से स्किन को जवां व चमकदार बनाने में हल्दी का प्रयोग किया जाता रहा है और अब तो सोने में सुहागा हो गया है, क्योंकि ममॉअर्थ टरमरिक रेंज में आप की स्किन को नरिश व चमकदार बनाने के साथसाथ स्किन की रक्षा करने के लिए भी विभिन्न प्रोडक्ट्स जो मौजूद हैं. साथ ही इस के प्रोडक्ट्स डर्मेटोलौजिकली टैस्टेड, हाइपोऐलर्जिनिक, कैमिकल फ्री, स्किन पर सौम्य होने की वजह से इन्हें इस्तेमाल करना सुरक्षित है.

ये भी पढ़ें- 10 टिप्स: मेकअप करते समय रखें इन बातों का ध्यान

हल्दी का कमाल

जब तक आप ने चेहरे की स्किन के लिए ममॉअर्थ टरमरिक रेंज का इस्तेमाल नहीं किया तब तक आप ने कुछ भी प्रयोग नहीं किया.

विषैले पदार्थ और गंदगी हटाए: अपने चेहरे से गंदगी हटाने व उसे चमकदार बनाने के लिए ममॉअर्थ का उबटन फेश वाश का प्रयोग कीजिए, क्योंकि यह आप के पोर्स यानी रोमछिद्रों में अंदर तक जा कर विषैले पदार्थों और गंदगी को बाहर निकालता है.

रंगत निखारे: चेहरे के रंग को हलका करने के लिए उबटन फेस मास्क काफी बेहतर है. इतना ही नही यह मुंहासों की भी रोकथाम करता है और दागधब्बों व फाइन लाइंस को भी कम करता है.

सूर्य की तेज किरणों से बचाव: भारतीय स्किन और मौसम के लिए अल्ट्रावायलेट सनस्क्रीन को विशेष रूप से तैयार किया गया है. तेज धूप में निकलने पर यह क्रीम सूर्य से निकलने वाली तेज किरणों व प्रदूषण से आप का बचाव करती है. यह आप की स्किन को सुरक्षा ही प्रदान नहीं करता है, बल्कि उसे स्वस्थ भी बनाता है.

इन हल्दी के ब्यूटी सीक्रेट के बारे में भी जानें

हल्दी को आयुर्वेदिक औषधि भी कहा जाता है, जो सदियों से स्किन से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने में प्रयोग की जा रही है. यह प्रकृति का शानदार उपहार है जो करक्यूमिन नामक फिनोलिक यौगिक से भरपूर है.

ऐंटीइनफ्लैमेटरी व ऐंटीऔक्सिडैंट से भरपूर: हल्दी स्किन के लिए फायदेमंद है, क्योंकि यह स्किन को संक्रमित, ब्रेकआउट, लालपन, दर्द, सूजन या पिगमैंटैशन जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाती है. इस में मौजूद ऐंटीऔक्सिडैंट स्किन की कोशिकाओं को नुकसान से बचाते हैं.

स्वास्थ्यप्रद और एंटीएजिंग: हल्दी कोलाजन और फाइब्रोब्लास्ट के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है, जो स्किन को जवां रखने में मदद करते हैं. हल्दी स्किन में इलास्टिन और हाइल्यूरोनिक ऐसिड के स्तर में भी सुधार करती है, जिस से स्किन अधिक कोमल लगती है.

सूर्य की किरणों से बचाव: हल्दी में मौजूद फाइटोन्यूट्रिएंट्स सूर्य की किरणों से स्किन को होने वाले नुकसान से बचाव करता है. इस में करक्यूमिन, ऐंटीऔक्सिडैंट, ऐंटीसैप्टिक व ऐंटीइनफ्लैमेटरी गुण होते हैं और इन तमाम गुणों के कारण ही करक्यूमिन सनबर्न के कारण प्रभावित हुई स्किन को ठीक कर सकता है, साथ ही यह पिग्मैंटेशन और स्किन पर झुर्रियां होने से भी बचाता है.

ये भी पढ़ें- फेस्टिवल में ऐसा हो मेकअप जो निखारे आपका लुक

रंग हलका करे व चमक बढाए: क्या आप जानती हैं कि हल्दी को चेहरे पर लगाने से ब्लीचिंग जैसा असर दिखता है और साथ ही यह मैलानिन के उत्पादन को भी कम करती है? हल्दी के प्रयोग से आप की स्किन का रंग साफ हो जाता है और उस में चमक आ जाती है. यह बेजान स्किन में भी जान डाल देती है. यह हाइपरपिगमैंटेशन, धब्बे और खिंचाव के निशानों को हलका करती है. डीटैन ट्रीटमैंट के साथ भी इसे प्रयोग किया जा सकता है.

ऐंटीबैक्टीरियल व ऐंटीफंगल: हल्दी में बैक्टीरिया के विकास को रोकने के गुण भी होते हैं. यह मुंहासों की रोकथाम में भी मदद करती है. ऐक्जिमा, रूसी और सोरायसिस में भी राहत देती है.

Tags:
COMMENT