दुनिया के विकसित देशों के बीच एक अलिखित क़ानून यह है कि अन्य देशों से अगर वे कुछ खरीदते हैं तो केवल कच्चा माल ही ख़रीदते हैं. लेकिन, अब जब वायरसरूपी कोविड-19 महामारी फैली, तो इन देशों ने, मजबूरीवश, टैक्नोलौजी ख़रीदना भी शुरू कर दिया है.

विकसित देशों की वर्षों से यह परंपरा रही है कि वे किसी भी विकासशील देश से तकनीक नहीं ख़रीदते थे. विकासशील देशों से वे केवल कच्चा माल ख़रीदते थे. यदि किसी टैक्नोलौजी की ज़रूरत होती थी तो वे इंतेज़ार करते थे कि कोई यूरोपीय देश वह टैक्नोलौजी विकसित कर ले. विकासशील देशों से कच्चा माल लेकर पश्चिमी देश अपनी टैक्नोलौजी की मदद से अपने उत्पाद तैयार करते थे और फिर उन्हें विकासशील देशों को निर्यात कर देते थे.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT