चलो भई, कपिल शर्मा भी एक से दो हो गए. उन्होंने जालंधर में अपनी दोस्त गिन्नी चतरथ से दिसंबर में शादी कर ली, फिर मुंबई में दी गई ग्रैंड रिसेप्शन पार्टी में बौलीवुड के बड़े चेहरों को देख कर कपिल शर्मा के चेहरे पर खुशी आ गई कि अभी उन के दिन नहीं गए हैं.

हो भी क्यों न, पिछले कुछ समय से बड़े बुरे दौर से गुजरा यह जिंदादिल पंजाबी मुंडा देखते ही देखते टेलीविजन पर अपनी गायकी, देशी चुटकुलों और कौमेडी से छा जो गया था. इतना ज्यादा कि इस के नाम से ‘कौमेडी नाइट्स विद कपिल’ शो शुरू कर दिया गया था. शो हिट रहा था. इतना हिट कि बौलीवुड के बड़े से बड़े सितारे इस में शिरकत करने की बाट जोहने लगे थे.

फिर तो कपिल शर्मा की तूती बोलने लगी. नाम कमाया और उस से ज्यादा पैसा. फिर फिल्में भी बनाईं खुद को हीरो ले कर, पर चली नहीं. इसी बीच अपने शो के दूसरे दिग्गज सुनील ग्रोवर से हुआ पंगा कपिल शर्मा को महंगा पड़ गया. वैसे भी इसी बीच ये खबरें भी आने लगी थीं कि कपिल अपने साथी कलाकारों के साथ बुरा बरताव करते हैं, उन पर हाथ भी उठा देते हैं, शराब पीने के बाद.

धीरेधीरे कपिल शर्मा का पतन होने लगा. चैनल से लड़ाई हो गई, साथी छूट गए और शराब की लत के चलते शरीर और मन पर भी काबू नहीं रहा. पहली नजर में लगा कि कपिल शर्मा को यह कामयाबी रास नहीं आई और धीरेधीरे वे इस चमकती दुनिया से दूर होते गए.

इतना दूर कि वे बीमार हो कर इलाज कराने विदेश चले गए. सुनने में तो यह भी आया था कि तब वे दवाओं की काफी हैवी डोज पर रहे और हर दिन कुल 23 गोलियां खाते थे.

अपनी साख को बचाने के लिए तब कपिल शर्मा ने एक नया शो भी शुरू किया था, पर फ्लॉप रहे. दुख की बात तो यह थी कि जनता का भी उन की करतूतों से मोह भंग हो गया था.

लेकिन अगर टेलीविजन पर कौमेडी की क्रांति को ले कर कभी चर्चा होगी तो उस में कपिल शर्मा का नाम सब से ऊपर आएगा कि कैसे एक आम परिवार का लड़का, जिसे ढंग से इंगलिश भी नहीं बोलनी आती, अपनी गजब की कौमिक सेंस से लोगों को हंसने के लिए मजबूर कर देता है. बेहूदगी के ऐसे माहौल में उस के प्रोग्राम को परिवार के साथ बैठ कर देखना कपिल शर्मा के लिए बड़ी उपलब्धि रही. उस के आम परिवारों से लिए गए आम किरदार लोगों की जबान पर रहने लगे. उन का निभाया गया किरदार ‘राजेश अरोड़ा’ कौमेडी का किंग हो गया.

इतना ही नहीं, कपिल शर्मा ने अपने शो से आम जनता को भी जोड़ा. अगर भरी भीड़ में किसी को चुटीली बात भी कह दी तो किसी ने बुरा नहीं माना, बल्कि खुल के एन्जाय किया.

कपिल ने लोगों को खुद पर हंसना सिखाया जिसे लोग आज भी मिस कर रहे हैं.

अब कपिल शर्मा दोबारा रंग में दिख रहे हैं और अपना शो दोबारा ले कर आ रहे हैं. फिल्म जगत में दूसरा मौका हर किसी को नहीं मिलता है. अगर कपिल शर्मा को मिला है तो हमें उस का स्वागत करना चाहिए, क्योंकि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम हंसना भूल गए हैं जिस की भरपाई कपिल शर्मा कर सकता है.

Tags:
COMMENT