बचपन से फिल्मों और नाटकों का शौक रखने वाले कार्तिक आर्यन ग्वालियर के है. कॉलेज के ज़माने से उन्होंने पढाई के साथ-साथ अभिनय के लिए ऑडिशन देना शुरू कर दिया था. पढाई समाप्त कर वे मुंबई आयें और तीन साल तक संघर्ष करने के बाद उन्हें पहली फिल्म ‘प्यार का पंचनामा’ मिली, जिसमें उनके अभिनय की काफी तारीफ की गयी. इसके बाद से उन्हें पीछे मुड़कर देखना नहीं पड़ा. वे सोशल मीडिया पर खासा एक्टिव है और उनके फोलोवर्स भी बहुत हैं. आज उनका नाम सफल कलाकारों की सूची में गिना जाता है. हंसमुख स्वभाव के कार्तिक की फिल्म ‘लव आजकल’ रिलीज पर है. पेश है उनसे हुई बातचीत के कुछ अंश.

सवाल. आपने कई सफल फिल्में दी है, इसे करने में कितनी मेहनत की है?

ये मेरे करियर की सबसे मुश्किल फिल्म है, ऐसा किरदार मैंने कभी नहीं निभाएं है. इसमें मेरी दो भूमिका है. दोनों ही भूमिकाएं मुश्किल है. ये चुनौतीपूर्ण फिल्म है. ये मेरे पहली इंटेंस रोमांटिक फिल्म है. निर्देशक इम्तियाज अली ने मुझपर भरोसा कर ये मौका दिया है. उम्मीद है दर्शक मुझे इस भूमिका में पसंद करेंगे.

 

View this post on Instagram

 

#HaanMainGalat ❤️ . . Out tomorrow #LoveAajkal 🕺🏻💃🏻🔥

A post shared by KARTIK AARYAN (@kartikaaryan) on


सवाल. आपकी नजर में प्यार क्या है? आजकल का प्यार इमोशनल से अधिक फिजिकल हो चुका है, आपकी राय क्या है?

लव की परिभाषा मेरे लिए बताना मुश्किल है, लेकिन ये एक एहसास है, जिसे अनुभव कर सकते है. वह किसी भी फॉर्म में हो सकता है और मैं उनकी ख़ुशी के लिए कुछ भी कर सकता हूं. बिना कुछ उम्मीद किए अगर मैं कर पाऊं, तो वही मेरे लिए सच्चा प्यार है. लोग आज भी इमोशनल हैं. सही प्यार मिलना आजकल मुश्किल होता है, जिसे सभी ढूंढते हैं. इमोशन वाला प्यार कभी खत्म नहीं हो सकता.

ये भी पढ़ें- Valentine’s से पहले मोहसिन की बजाय इस शख्स के साथ रोमांस करती दिखीं शिवांगी जोशी, Video वायरल

सवाल. दोनों भूमिकाये निभाना कितना मुश्किल था?

वीर की भूमिका ऐसी है, जिसमें वह जो सोचता है उसे बिंदास कह देता है, अधिक सोचता नहीं. उसका सिद्दांत यही है और उसी दिशा में आगे बढ़ता है. जो लोगों को अजीब लग सकता है. उसे करना मेरे लिए मुश्किल था. दूसरा चरित्र रघु फ़िल्मी चरित्र है जो 90 के दशक का चरित्र है, जिसे फिल्मों का शौक है. ये भी मुश्किल था.


सवाल. सारा के साथ काम करने का अनुभव कैसा था?

सारा के साथ काम करना मजेदार था. मैंने सारा के अभिनय के कॉन्फिडेंस को देखा है और मुझे उसके साथ काम करने की इच्छा थी, वह हमें मिला. दर्शकों को भी शायद हम दोनों की जोड़ी पर्दे पर पसंद आयेगी.

सवाल. आपका नाम सारा के साथ जोड़ा जाता है, इसमें कितनी सच्चाई है?

ये बातें बहुत पुरानी हो चुकी है. हम एक अच्छे दोस्त है. जब भी हम दोनों कही जाते है, एक न्यूज़ बन जाती है. एक शो में जब सारा ने मेरी बात कही थी, तब से लोगों ने उसे एक अलग रूप दे दिया है. फिल्म के प्रमोशन का इससे कुछ लेना देना नहीं होता, अगर कहानी अच्छी हो और दर्शको को पसंद आये तो चलेगी.

सवाल. आप अपनी जर्नी से कितना संतुष्ट हैं?

जैसा मेरा करियर ग्राफ जा रहा है उससे मैं बहुत खुश हूं. मैं चाहता हूं कि ये चलता रहे. मैंने सफलता और असफलता देखकर बहुत कुछ सीखा है. उसी के अनुभव को मैं पर्दे पर दिखाने की कोशिश करता हूं, इसलिए दर्शक मुझसे अपने आपको जोड़ पाते हैं. मैं डरता हूं कि ये जुड़ाव चला न जाए. इसलिए इसे रिफ्रेश करता रहता हूं.

ये भी पढ़ें- ननद की शादी में कुछ यूं नजर आईं Monalisa, देखें फोटोज

सवाल. इंडस्ट्री में बाहर से आने वालों के लिए क्या मेसेज देना चाहते हैं?

मैं अपने संघर्ष को लेकर गर्वित हूं, मैंने शुरू से अपनी टर्म पर खुद की सोच से फिल्में की है. इसके लिए मेहनत बहुत की है. मैं इसी रास्ते पर था और इसी में मेहनत की है. सबसे बड़ी बात मेरे लिए खुद पर विश्वास का होना था. इस दौरान मैंने कई रिजेक्शन भी देखे हैं पर मैं टूटा नहीं. इसी से मैं आगे बढ़ा. धैर्य और आत्मविश्वास कभी जाना नहीं चाहिए.

Tags:
COMMENT